जागरण हिन्दुस्तान दैनिक भास्कर नईदुनिया नवभारत टाइम्स

दिग्विजय सिंह पर उत्तर प्रदेश में धार्मिक भावनाएं भड़काने और भड़काऊ बयानबाजी का मामला दर्ज

                 

दिग्विजय सिंह के विधायक भाई लक्ष्मण सिंह ने राहुल गांधी से कहा- प्रदेश के किसानों से माफी मांगें

भोपाल.बुधवार को दिए बयान से आगे बढ़ते हुए आज पूर्व मुख्यमंत्रीदिग्विजय सिंह के भाई और कांग्रेस विधायकलक्ष्मण सिंह ने कहा कि हम राज्य में कृषि ऋण माफी के वादे को पूरा नहीं कर पाए हैं। राहुल गांधी को किसानों से माफी मांगनी चाहिए। साथ हीउन्हें स्पष्ट करना चाहिए कि कर्ज माफी में कितना समय लगेगा। इससे गुस्साए किसानों को एक अच्छा संदेश जाएगा..
                 

बुदनी के जंगल में बाघ ने किया युवक का शिकार, शव के पास मिले पगमार्क

                 

रात में मंदिरों के बाहर लगे दिग्विजय सिंह के विरोध में पोस्टर, हिंदू विरोधी बताया

                 

रोड पर रांपी लगाकर एक के बाद एक दो ट्रक और एक स्कार्पियो को पंचर कर लूट की वारदात को दिया अंजाम

सीहोर। सैकड़ाखेड़ी और बिलकिसगंज जोड़ के बीच फोरलेन पर रात के समय बदमाशों ने रापी लगाकर फिल्मी स्टाइल में एक के बाद एक करके तीन वाहनों को पंचर करके लूट की वारदात को अंजाम दिया। दो ट्रक चालकों ने कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराई है, जबकि स्कार्पियो चालक चोटिल होने के बाद अपने गाड़ी सुधरवाकर वहां से सीधे चले गए। पुलिस इसे कंजरों का कारनामा मान रही है।मंंगलवार की रात भोपाल इन्दौर बायपास पर सैकडाखेड़ी और बिलकिसगंज जोड़ के बेच रापी (नुकीली कीलों का झुंड) लगाकर ट्रक क्रमांक एमपी 04 एचई 3193 एवं ट्रक क्रमांक एमपी 04 एचई 1755 को पंचर कर दिया। ट्रक चालक रफीक शाह निवासी बैरसिया भोपाल से 10 हज़ार रुपए और चालक मुजीब पार्ले से 8 हज़ार रुपए लूट लिए। इन दोनों ट्रक चालकों के साथ बदमाशों ने मारपीट भी की। यह घटना रात करीब 3 बजे की है।ट्रकों के हॉर्न की आवाज सुनकर पेट्रोलिंग कर रही पुलिस तुरंत मौके पर पहुंची। लेकिन आसपास पानी भरा होने से अंधेरे में बदमाश भाग निकले।पुलिस ने दोनों ट्रक चालकों की रिपोर्ट पर अज्ञात आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। प्रारंभिक जांच में पुलिस को अंदेशा है कि इस वारदात में कंजर समुदा..
                 

घर में घुसकर युवती के साथ ज्यादती करने वाले को सात साल का कारावास

सीहोर। घर में घुसकर युवती के साथ ज्यादती करने वाले अारोपी को तृतीय अपर सत्र न्यायाधीश ने सात वर्ष के सश्रम कारावास और अर्थदंड की सजा सुनाई। शासन की ओर से पैरवी अपर लोक अभियोजक रेखा चौरसिया ने की।अभियोजन के अनुसार घटना दिनांक 12 दिसम्बर 2018 की शाम चार बजे गांव मगरदी निवासी 22 वर्षीय युवती अपने घर पर अकेली थी। उसके माता-पिता खेत पर गए हुए थे। तभी गांव का ही बहादुर उर्फ कल्लू पुत्र भंवर जी उर्फ भंवर लाल जबरन उसके घर में घुस गया और उसके साथ ज्यादती की।शाम को जब खेत पर से काम करके युवती के माता-पिता वापस लौटे तो युवती ने पूरा घटनाक्रम बताया। जिस पर परिजनों के साथ अहमदपुर थाने पर पहुंचकर युवती ने आरोपी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस ने आरोपी बहादुर उर्फ कल्लू के खिलाफ अलग-अलग धाराओं में मामला दर्ज कर अनुसंधान पूर्ण कर चालान न्यायालय में पेश किया, जहां तृतीय अपर सत्र न्यायाधीश अमृता सिंह ठाकुर ने तथ्यों एवं साक्ष्यों की विवेचना करते हुए आरोपी को ज्यादती का दोषी माना और सात वर्ष के सश्रम कारावास और एक हजार रुपए अर्थदंड तथा जबरन घर में घुसने के लिए तीन वर्ष का कारावास और एक हजार रुपए अर्थदं..
                 

वन अधिकार भूमि पर कब्जे के लिए ऑनलाइन देने होंगे आवेदन; वन मित्र साफ्टवेयर से होगी जांच

भोपाल.आदिम जाति कल्याण विभाग वनभूमि पर मालिकाना हक जता रहे 3.5 लाखआदिवासियोंके आवेदनों का परीक्षण शुरू कर रहा है, जिनके आवेदन पिछली सरकार खारिज कर चुकी है। इन आवेदकों को अब एमपी ऑनलाइन के माध्यम से आवेदन करना होगा। इसके लिए कियोस्क संचालकों को 50 रुपए प्रति आवेदन राज्य सरकार देगी। इन आवेदनों का परीक्षणवनमित्र सॉफ्टवेयर के माध्यम से पात्र हितग्राहियों की सूची तैयार की जाएगी..
                 

मंत्री जी आने वाले थे तो महीनों बाद खुले राहत कैंप के ताले हॉस्टल से मंगाए बिस्तर, कहीं दरी बिछाई तो कहीं कुर्सियां

ककराना से कपिल भटनागर/गोपाल मेलाना .आलीराजपुर से करीब 40 किमी दूर ग्राम ककराना सहित 26 गांव नर्मदा के बैकवाटर से डूब चुके हैं। ठेठ आदिवासी इलाका होने के कारण इन गांवों का ज्यादा जिक्र बाहर नहीं आ पाया। दो साल पहले डूब का हल्ला होने लगा, तो यहां पतरे के सहारे राहत कैंप खड़े कर दिए गए। हालांकि इस कैम्प में न खाद्य सामग्री है और न बिस्तर-बिजली। यहां तक कि लोगों को डूब क्षेत्र से निकालकर यहां तक लाया भी नहीं गया। अफसर कभी-कभार यहां आकर लौट जाते थे। लेकिन बुधवार को अचानक यहां चहल-पहल बढ़ गई। बड़ी-बड़ी गाड़ियों में अफसर और पुलिस यहां पहुंची। कारण था- नर्मदा घाटी विकास मंत्री सुरेंद्र सिंह (हनी) बघेल का दौरा। इसलिए ताबड़तोड़ व्यवस्थाएं जमाई गईं।ऐसा है राहत कैंप... दीवारों से लटक रहे जाले, दिखाने के लिए बिछाए पलंग :भास्कर की खबर के बाद पहुंचे मंत्रीअभी तक आलीराजपुर जिले के डूब क्षेत्र में कोई नेता-मंत्री नहीं पहुंचा था। भास्कर ने इस क्षेत्र के हालात उजागर किए तो बुधवार को मंत्री बघेल पहुंचे। वे पीड़ितों से मिले, तो लोगों ने आरोप लगाए कि न ठीक से मुआवजा मिला और न राहत कैंप में राहत दी जा रही है। इसके ब..
                 

बोट क्लब अब होगा पाॅलिथीन फ्री...

भाेपाल .अब बाेट क्लब पाॅलिथीन मुक्त होगा। बुधवार काे इसकी घाेषणा नगरीय प्रशासन मंत्री जयवर्धन सिंह अाैर जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने की। यहां अाने वाले पर्यटकाें काे किसी तरह की परेशानी न हाे इसे ध्यान में रखते हुए नगर निगम ने भास्कर फाउंडेशन की मदद से यहां कैरी याेअर अाेन बैग प्रोग्राम के तहत एक कियाेस्क की शुरुअात की है। कियाेस्क से पांच रुपए जमा करने पर लाेगाें काे कपड़े का बैग उपलब्ध कराया जाएगा। उपयाेग के बाद बैग लाैटाने पर यह राशि भी वापस कर दी जाएगी। यही नहीं, उक्त कियाेस्क पर पुराने कपड़े देकर लाेग निशुल्क कपड़े के बैग सिलवा सकेंगे। नगर निगम कमिश्नर बी विजय दत्ता ने कहा कि शुरुअात में बाेट क्लब पर पाॅलिथीन का उपयाेग न करने की समझाइश दी जाएगी, बाद में पेनाल्टी लगाई जाएगी।अायाेजन के दाैरान मंत्री जयवर्धन सिंह ने कहा कि पाॅलिथीन पूर्णरूप से प्रतिबंधित करने से पहले इसके विकल्प पर विचार करना चाहिए। अाइसक्रीम, पानी के पाउच अाैर दूध के पैकेट समेत अन्य तरीके से उपयाेग हाेने वाले पाॅलिथीन के विकल्प तलाशे जाएं। इसके लिए पाॅलिसी तैयार करें ताकि इसे पूरे प्रदेश में लागू किया जा सके। इधर, ..
                 

रतनपुर के अंकुर का बनाया स्मार्ट डस्टबिन इंदौर और भोपाल एयरपोर्ट में लगा कचरा भरने पर डिवाइस करता है ऑटोमेटिक अलर्ट, एप पर भी भेजता है मैसेज

रतनपुर .रतनपुर के अंकुर जायसवाल ने नागपुर निवासी मित्र पुष्कर भागवत के साथ मिलकर ऐसा डिवाइस तैयार किया है। जो भारत के मेट्रोपोलिटन सिटी के साथ-साथ बड़े बड़े माल इंस्टिट्यूट एवं एयरपोर्ट के लिए बेहद उपयोगी साबित हो रहा है।डिवाइस की खासियत है कि जब भी डस्टबिन में कचरा भरने की स्थिति आती है। तब यह डिवाइस ऑटोमेटिक मैसेज के जरिए अलर्ट करने के साथ-साथ एप पर मैसेज भेज देता है। बता दें कि दोनों दोस्तों ने इस आइडिया को 2017 में आईआईटी पटना के इन्कयूबेशन सेंटर को भेजा था। जिसे पटना आईआईटी ने हरी झंडी देते हुए इसे व्यावसायिक स्वरूप दिया था।आईआईटी पटना के मेंटर्स के मार्ग दर्शन में तैयार यह डिवाइस फिलहाल भोपाल और इंदौर एयरपोर्ट पर काम कर रहा है। इस पर आगे वे कुछ और काम करेंगे। आईआईटी ग्वालियर में भी इस डिवाइस को इंस्टॉल किया गया है। वहीं जल्द ही यह पटना एयरपोर्ट पर भी लगेगा। अंकुर ने दैनिक भास्कर को बताया कि पटना आईआईटी ने ना सिर्फ उनके डिवाइस को स्वीकार किया बल्कि आर्थिक मदद के साथ-साथ उन्हें अनेक प्रकार से मार्ग दर्शन व सुझाव भी दिए।एक कंपनी मंे जॉब करते समय नागपुर के साथी के साथ आया था आईडिया, पट..
                 

सांसद प्रज्ञा ठाकुर के फिर बिगड़े बोल, कहा- सुन लो.. मीडिया में सब बेईमान हैं

सीहोर। भाजपा सांसद प्रज्ञा ठाकुर एक बार फिर अपने बयान को लेकर एक बार फिर सुर्खियों में हैं। उनके बिगड़े बोल का एक और वीडियो सामने आया है, जिसमें वो पत्रकारों से बेईमान कहती नजर आ रही है। इससे पहले बीते महीने भोपाल में प्रदेश भाजपा कार्यालय में पूर्व वित्तमंत्री अरुण जेटली और मप्र के पूर्व सीएम बाबू लाल गौर की श्रद्धांजलि सभा में प्रज्ञा ने कहा कि इसके पीछे विपक्ष का हाथ है, वह पार्टी के नेताओं पर तांत्रिक क्रिया कर रहा है..
                 

देश का पहला राज्य होगा जिसमें ‘जल का अधिकार’ कानून बनेगा, विधानसभा के अगले सत्र में पेश होगा विधेयक

                 

ज्यादा बारिश से फसलें बर्बाद, खेत की जल निकासी के बाद लगा सकते हैं चना; उकठा रोग को देगा मात

भोपाल। इस साल मध्यप्रदेश झमाझम बारिश से तर-बतर हो गया है। बारिश के कारण आए नदी-नाले उफान की वजह से फसलें बह गई है तो अधिकांश जगहों पर अपेक्षाकृत धूप नहीं निकलने की वजह से पौधों की ग्रोथ नहीं हो पाई है। किसानों का मानना है बारिश से फसलों की ऐसी स्थिति हो गई है, जो स्प्रे या कीटनाशक छिड़काव करने के बाद भी नहीं सुधर सकती है..
                 

पिछली सरकार में धर्म के नाम पर हुए सभी घोटालों की जांच होगी : कमलनाथ

भोपाल .मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि पिछली सरकार में धर्म के नाम पर हुए घोटालों की जांच कराई जाएगी। वे घोटाले चाहे सिंहस्थ में हुए हों या नर्मदा किनारे पेड़ लगाने के नाम पर किए गए हों। सभी की जांच होगी। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार और पिछली सरकार में नीयत व नीति का ही फर्क है। हम घोषणाओं से अधिक काम करके दिखाने में भरोसा रखते हैं। कमलनाथ िमंटो हॉल में अध्यात्म विभाग द्वारा अायोजित संत समागम को संबोधित कर रहे थे।उन्होंने संतों की मांग- अाश्रम, मठ-मंदिर व गोशालाओं की भूमि को पट्टे प्रदान करने पर विचार का अाश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि जब हम उद्योगोें के लिए भूमि देते हैं तो संतों को भूमि के पट्टे क्यों नहीं दे सकते। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि आज से 35 साल पहले मैंने संसद में अध्यात्म विभाग बनाने की मांग उठाई थी। मुख्यमंत्री बने के बाद सबसे पहले मैंने अध्यात्म विभाग का गठन किया। यह चिंता का विषय है कि वर्तमान शहरी युवा इंटरनेट व मोबाइल में उलझा है। हमारा और संत समाज का कर्तव्य है कि उसे हम भारतीय संस्कृति और अध्यात्म से जोड़ें।आश्वासन... सीएम ने संतों की मांगों को जल्द से जल्द हल करने का ..
                 

बोटिंग के दौरान जिंदगी दांव पर... क्योंकि बाेट के संचालन को लेकर न कोई नियम, न कानून

भाेपाल .बड़े तालाब, छोटे तालाब समेत प्रदेश के जलाशयों में अवैध बोटिंग जारी है। लेकिन इसके लिए न कोई नियम है, न कानून... मॉनिटरिंग की भी कोई पुख्ता व्यवस्था नहीं है। तीन साल पहले जब छोटे तालाब में नाव पलटने से 5 युवकों की मौत हुई थी तब राज्य सरकार ने प्राइवेट बोट संचालन के नियम बनाने की बात कही थी। नियम न बनने से प्राइवेट अाॅपरेटर बिना लाइसेंस अाैर रजिस्ट्रेशन के ही बाेटिंग करा रहे हैं। इंडियन रजिस्टर अाॅफ शिपिंग के तहत पैसेंजर बोट के जो नियम हैं, उन्हें दरकिनार कर बोटिंग कराई जा रही है।बीते हफ्ते खटलापुरा पर नाव पलटने से 11 युवकाें की मौत के बाद निगम ने बाेट्स के रजिस्ट्रेशन की कार्रवाई शुरू की है। वहीं बिहार ने ऐसी घटनाअाें काे राेकने बंगाल के नियमों को अपनाया है। बिहार सरकार द्वारा बनाए गए माॅडल रूल्स 2011 में प्राइवेट पैसेंजर बाेट के रजिस्ट्रेशन व लाइसेंस के अधिकार डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट काे दिए हैं। इधर, खटलापुरा हादसे की मजिस्ट्रियल जांच एडीएम सतीश कुमार एस ने शुरू कर दी है। उन्होंने लोगों से 15 दिन के भीतर साक्ष्य पेश करने की अपील की है।बिहार ने कानून बनाकर हादसों पर जिम्मेदारी भी..
                 

भगवा पहनकर लोग मंदिरों के पीछे दुष्कर्म कर रहे, ऐसे लोगों को भगवान भी माफ नहीं करेगा- दिग्विजय

भोपाल. मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने मंगलवार को भोपाल में आयोजित संत समागम में विवादास्पद बयान दिया। उन्होंने कहा, ‘‘भगवा पहनकर लोग चूरण बेच रहे हैं। भगवा पहनकर लोग दुष्कर्म कर रहे हैं। मंदिरों में दुष्कर्महो रहे हैं। क्या यही हमारा धर्म है? हमारे सनातन धर्म को जिन लोगों ने बदनाम किया। भगवान उन्हें कभी माफ नहीं करेगा।’’उन्होंने कहा- देशभर में मठ-मंदिरों को राजनीतिक अड्डा बनाने का प्रयास हो रहा है। इसके खिलाफ लड़ाई लड़नी होगी। सनातन धर्म वाले स्वयं काराजनीतिक इस्तेमाल न होने दें। 'जय श्री राम' की जगह पर 'जय सिया राम' बोला जाना चाहिए।संत समागम का आयोजन राज्य सरकार के अध्यात्म विभाग की ओर से मिंटो हॉल में किया गया। कम्प्यूटर बाबा के नेतृत्व में इस समागम में करीब 1000 साधु-संत शामिल हुए।कमलनाथ बोले- हम सेवक हैंकार्यक्रम में मौजूद मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भाजपा पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि अब इनके (भाजपा) पेट में दर्द हो रहा होगा। ये प्रचार करते थे कि उन्होंने धर्म का ठेका लिया है। इनके 15 साल और हमारे लगभग 6-7 महीने ही हुए हैं। मैं ये नहीं कहता कि हमने ये किया,वो किया,क्..
                 

प्रदेश में सात लाख हेक्टेयर में फसलें बर्बाद, मूंग-उड़द और सोयाबीन को ज्यादा नुकसान

                 

शराब दुकान में बैठे मैनेजर को घायल कर 10 हजार लूटे, पूरी घटना का वीडियो आया सामने

भोपाल। कोहेफिजा इलाके एक शराब दुकान के मैनेजर पर एक बदमाश ने साथी के साथ ब्लेड से हमलाकर कर 10 हजार रुपए लूट लिए। थाना प्रभारी अमरेश बोहरे के अनुसार कोहेफिजा में शराब की दुकान है। दुकान में मैनेजर रामाधार चौरसिया सोमवार दोपहर गल्ले पर बैठे हुए थे। उसी समय तलैया का बदमाश लईक पहलवान और करोंद निवासी वाहिद दुकान पर आए और उनसे दस हजार रुपए की मांग की। रामाधार ने इनकार किया तो बदमाशों ने ब्लेड से रामाधार पर हमला कर दिया..
                 

बड़े पंडालों के लिए फायर ऑडिट और स्ट्रक्चर कैपेसिटी सर्टिफिकेट लेना जरूरी

भोपाल .दुर्गोत्सव के लिए बनने वाले बड़े-बड़े झांकी पंडालों के लिए समितियों को अब फायर ऑडिट कराना होगा और चार्टर्ड इंजीनियर से स्ट्रक्चर कैपेसिटी सर्टिफिकेट भी लेना होगा। इन पंडालों में हजारों की संख्या में आने वाले श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिए इसे जरूरी किया जा रहा है। प्रतिमा विसर्जन की व्यवस्थाओं में भी सुधार की कवायद के तहत थाना स्तर पर होने वाले झांकियों के रजिस्ट्रेशन में यह शर्तें भी शामिल कर दी गई हैं।इस रजिस्ट्रेशन के बाद ही प्रतिमा की स्थापना करने और विसर्जन करने की अनुमति दी जाएगी। डीआईजी इरशाद वली ने कहा कि इन व्यवस्थाओं को सुनिश्चित करने के लिए थर्ड पार्टी ऑडिट कराया जाएगा।समितियों से शपथपत्र-अगले साल 6 फीट से ऊंची नहीं होगी प्रतिमा :प्रतिमा स्थापना के लिए थाना स्तर पर भरवाए जा रहे रजिस्ट्रेशन फॉर्म के साथ समितियों से यह एफिडेविट भी लिया जा रहा है कि वे अगले साल 6 फीट से ऊंची प्रतिमा स्थापित नहीं करेंगे। झांकियों के साउंड सिस्टम को लेकर भी रजिस्ट्रेशन फॉर्म में कई शर्तें लगाई गईं हैं। हालांकि इन शर्तों को लेकर दुर्गोत्सव समितियों और प्रशासन के बीच टकराव की स्थिति भी बन रही..
                 

साॅफ्टवेयर अपडेट नहीं, अक्टूबर में बढ़ी दर पर ही आएगा बिजली बिल

राहुल शर्मा | भोपाल .100 यूनिट का 100 रु. बिल। फिलहाल इस लाभ के लिए प्रदेश के करीब 90 लाख विद्युत उपभोक्ताओं को अभी और इंतजार करना पड़ेगा। दरअसल, बिजली कंपनियों ने अब तक 100 यूनिट तक की खपत पर 100 रु. और इसके बाद की 50 यूनिट पर सामान्य दर के हिसाब से रीडिंग व बिलिंग का साॅफ्टवेयर अपडेट नहीं किया है।यानी उपभोक्ताओं को अक्टूबर में बढ़ी हुई नई दर के हिसाब से ही बिजली बिल जमा करना होगा। मध्यक्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के डिप्टी सीजीएम एके खत्री ने बताया कि तीनों कंपनियों के लिए साॅफ्टवेयर अपडेट का काम चल रहा है। यह कब तक होगा, कह नहीं सकता।अब आगे क्या :साॅफ्टवेयर अपडेट होने के बाद इसे स्पाॅट बिलिंग मशीनों में लोड किया जाएगा और जहां ये मशीनें नहीं हैं, वहां कंप्यूटर्स पर इसे अपडेट किया जाएगा। इस प्रक्रिया में पूरा सितंबर बीत सकता है। इसलिए इस महीने के आखिर में होने वाली बिजली रीडिंग के बाद बिल अगस्त में लागू हुईं नई दरों से हिसाब से ही दिया जाएगा।बाद में समायोजित होंगे बिल :नई दर से बिल मिलने पर उपभोक्ताओं को इसे ठीक करवाने बिजली दफ्तर जाना पड़ेगा। इसके बाद अगर बिल ज्यादा लिया गया है तो उसे सम..
                 

गांधी सागर डैम में कम हो रहा पानी खतरा जांचने आज केंद्र का दल आएगा

भोपाल/मंदसौर/इंदौर.मंदसौर में सोमवार को बारिश थम गई और गांधी सागर बांध में भी पानी कम होने लगा, लेकिन बीते तीन दिन में हुई अति बारिश से बांध को क्या नुकसान हुआ है, यह जांचने के लिए मंगलवार को केंद्र से एक विशेषज्ञ दल मप्र आएगा। दरअसल, सोमवार को दिनभर बांध में दरार पड़ने की खबरें आती रहीं। जल संसाधन विभाग के अपर मुख्य सचिव एम. गोपाल रेड्डी ने कहा कि बांध सुरक्षित है। पहली बार डैम में 2006 के बाद इतना पानी आया है, इसलिए हमने बांध की जांच के लिए केंद्र से विशेषक्ष दल भेजने का आग्रह किया था।दूसरी तरफ, मंदसौर में दो दिन जलमग्न रहे बाजारों से पानी उतर गया है। व्यापारियों ने जब दुकानें खोलीं तो उसमें रखा सामान बर्बाद मिला। मंडी में 50 किलो के शक्कर के कट्टे 20 किलो के रह गए, चाय की पत्ती ने अपना रंग छोड़ दिया। 20 हजार लोग अब भी राहत शिविरों में है। कई गांवों में अब भी पानी भरा हुआ है।अाज बंद हो सकते हैं गेट... 1318 फीट से घटकर 1314 पर पहुंचा पानी :गरोठ | सोमवार को भी गांधी सागर बांध के सभी 19 गेट खुले रहे। धीरे-धीरे बांध का वाटर लेवल कम होता जा रहा है। सोमवार शाम यह 1318 से घटकर 1314 फीट रह गय..
                 

अब प्रदेश में होगी कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग, किसानों को मिल सकेगा फसलों का वाजिब दाम

भोपाल। किसानों को उपज की बेहतर कीमतें दिलाने के लिए केंद्र सरकार के बाद अब मध्यप्रदेश सरकार ने कांट्रेक्ट फार्मिंग पर मॉडल कानून को हरी झंडी दी है। इसमें केवल खेती ही नहीं बल्कि सब्जी और औषधीय फसलों को कवर किया गया है। मध्यप्रदेश सरकार ने औषधीय फसल और सब्जियों की प्रसंस्करण इकाई लगाएगी, इसके लिए सरकार आईटीसी का सहारा लेगी..
                 

गांधी सागर बांध ओवरफ्लो, मंदसौर-नीमच के 63 गांव में पानी भरा; राज्य में भारी बारिश का अलर्ट

भोपाल/नई दिल्ली.मध्यप्रदेश के मंदसौर में बारिश 75 साल का रिकॉर्ड तोड़ चुकी है। बारिश से 200 गांवों में हालात भयावह कर दिए हैं। बीते शुक्रवार शाम से और रविवार सुबह तक यहां 9 इंच बारिश हुई, जिसके कारण 200 गांवों में कमर तक पानी घुस गया। जिला प्रशासन ने 117 गांवों को खाली करा लिया है। अब तक 20 हजार लोगों को 55 राहत कैंपों में पहुंचाया जा चुका है। वहीं, शनिवार देर रात करीब ढाई बजे गांधी सागर डैम का पानी मंदसौर और नीमच जिले के 63 गांवों में पानी घुस गया। जब लोग घरों में सोए हुए थे, तब बाढ़ से दहशत फैल गई। आननफानन में गांवों को नावों के जरिए खाली कराया गया, जो रविवार सुबह 9 बजे तक जारी रहा। गांधी सागर बांध के कारण मप्र-राजस्थान में बनी परिस्थितियों की रविवार को केंद्र सरकार ने समीक्षा की। गांधी सागर में बारिश का 16 लाख क्यूसेक पानी आ रहा है, जबकि 5 लाख क्यूसेक छोड़ा जा रहा है। इससे बाढ़ आ गई।आधा सितंबर बीतने के बाद भी देश में मानसून की विदाई के कोई संकेत नहीं मिल रहे हैं। मानसून पिछले साल 15 सितंबर तक मध्य भारत से वापस हो चुका था। लेकिन, इस साल तेज बारिश का दौर जारी है। जबकि, उत्तर में भारी नम..
                 

गर्मी में सूखे 90% हैंडपंपों को मिला जीवन

भोपाल .प्रदेश में अच्छे मानसून से नदियां उफान पर हैं, साथ ही इसने हैंडपंपों को भी तर कर दिया है। गर्मी में सूख गए हैंडपंपों में से करीब 90 फीसदी अब भरपूर पानी उगल रहे हैं। पूरी संभावना है कि अगली गर्मियों तक इनमें पानी रहेगा, जिससे ग्रामीण क्षेत्रों को जल संकट का सामना नहीं करना पड़ेगा। प्रदेश में कुल 5 लाख 45 हजार हैंडपंप हैं। इस बार गर्मी में जून तक इनमें से करीब 35 हजार हैंडपंप जलस्तर नीचे जाने की वजह से बंद हो गए थे। मानसून में अच्छी बारिश के बाद इनमें से 30 हजार से ज्यादा हैंडपंप फिर पानी देने लगे हैं। करीब चार हजार हैंडपंप अब भी बंद हैं। ये हैंडपंप मुख्य रूप से ग्वालियर अंचल और टीकमगढ़ क्षेत्र के हैं।प्रदेश में 12500 नलजल योजनाएं :ग्रामीण क्षेत्र पेयजल के लिए मुख्य रूप से हैंडपंप पर ही निर्भर हैं। प्रदेश में 5 करोड़ से ज्यादा आबादी ग्रामीण है। इनमें से 80 प्रतिशत जनता पेयजल के लिए हैंडपंपों पर निर्भर है। प्रदेश में करीब 12500 नल जल योजनाएं हैं, लेकिन ये ग्रामीण आबादी का 15 से 20 फीसदी ही कवर कर पाती हैं। ऐसे में हैंडपंप चालू होने से ग्रामीणों को पेयजल संकट नहीं रहेगा।प्रदेशभर के ग्र..
                 

एयरपोर्ट पर दृश्यता सिर्फ 300 मीटर, दो फ्लाइट डायवर्ट, दिल्ली-मुंबई की 4 फ्लाइट भी लेट गईं

भोपाल .रविवार सुबह 6 से सुबह 8 तक राजाभोज एयरपोर्ट पर दृश्यता 300 मीटर ही रह गई थी। सुबह हज यात्रियों की एक फ्लाइट भोपाल एयरपोर्ट के ऊपर मंडराती रही। कम विजिबिलिटी के कारण एयरपोर्ट अथॉरिटी ने फ्लाइट को डायवर्ट कर नागपुर एयरपोर्ट पर लैंड कराया। हालांकि बाद में उसे दोबारा भोपाल लाया गया। मुंबई से भोपाल आने वाली इंडिगो की फ्लाइट भी विजिबिलिटी कम होने कारण रन वे पर नहीं उतर सकी। इसे इंदौर डायवर्ट करना पड़ा।सुबह 6 से 8 बजे तक विजिबिलिटी रही कम .... इसलिए ये फ्लाइट देरी से गईंभोपाल से दिल्ली जाने वाली फ्लाइटफ्लाइट टेक ऑफ का समय इस समय पर जा सकीं देरी एयर इंडिया सुबह 8 बजे सुबह 9.25 बजे 1.21 घंटा इंडीगो सुबह 8.30 बजे सुबह 9.50 बजे 3.29 घंटाभोपाल से मुंबई जाने वाली फ्लाइटएयर इंडिया सुबह 8.05 बजे सुबह 9.30 बजे 1.24 घंटा इंडिगो सुबह 8.50 बजे सुबह 10.22 बजे 2.28 घंटासुबह दृश्यता करीब 300 मीटर रह गई थी। ऐसे में सुबह आने वाली हज की फ्लाइट समेत 2 फ्लाइट को डायवर्ट किया गया। यह स्थिति सुबह 6 से सुबह 8 बजे तक रही। हालांकि इसके बाद सभी फ्लाइट ऑपरेशन सामान्य हो गए। अनिल विक्रम, डायरेक्टर, भ..
                 

मदरसे में जंजीर से बांधकर रखे थे नाबालिग, रोज होती थी पिटाई, पुलिस ने संचालक को लिया हिरासत में

भोपाल। राजधानी के अशोका गार्डन इलाका स्थित निजी मदरसे में दो नाबालिगों को बैंच से बांध पीटने का मामला सामने आया है। मामले का खुलासा उसवक्त हुआ जब बैंच से बंधे छात्र घसीटते हुए सड़क पर आ गए। सड़क से गुजर रहे लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। छात्र ने मदरसे में पढ़ाने वाले हाफिज (उस्ताद) पर पीटने का आरोप लगाया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर हाफिज हिरासत में ले लिया है..
                 

अब 45 साल का व्यक्ति भी बन सकेगा मंडल अध्यक्ष

भोपाल। भाजपा में मंडल अध्यक्षों की नियुक्ति के लिए तय किए गए क्राइटेरिया में प्रदेश नेतृत्व ने बदलाव के संकेत दिए हैं। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह और संगठन महामंत्री सुहास भगत ने मंडल अध्यक्षों के निर्वाचन को लेकर हाल ही में बुलाई बैठक में कहा था कि 35 साल से अधिक का मंडल अध्यक्ष नहीं होगा। भोपाल समेत कई जिलों के नेताओं ने संगठन में इस निर्णय का विरोध किया। अब तय किया गया है कि विशेष परिस्थितियों में 40 से लेकर 45 वर्ष तक के व्यक्ति को मंडल अध्यक्ष बनाया जा सकेगा। बशर्ते वह क्षेत्र का मजबूत नेता होना चाहिए।पार्टी ने लेकिन यह निर्णय यथावत रखा है कि अब विधायकों के कहने पर नियुक्ति की बजाए संगठन के लोगों को मौका दिया जाएगा। विधायकों की राय जरूर ली जा सकती है। यह भी ध्यान रखा जाएगा कि किसी एक ही व्यक्ति अथवा परिवार के लोगों को ही पद न दिया। न ही मंडल अध्यक्ष व महामंत्री पद पर और न ही जिलाध्यक्ष अथवा जिला महामंत्री पद पर। जिले के पदाधिकारियों में भी ज्यादा से ज्यादा नए लोगों को मौका मिलेगा। इधर, सक्रिय सदस्यता के साथ ही बूथ व मंडल स्तर के चुनाव की कवायद शुरू हो गई है। जिला निर्वाचन ..
                 

दो बेटों के बावजूद मंदिर में रहने को मजबूर थी सास, जज ने समझाया तो बहू ने पैर पकड़ कर मांगी माफी

भोपाल। 75 साल की रामकुंवर बाई। मंगलवारा स्थित अहीर मोहल्ला में इनका निजी मकान है। इनके दो बेटे हैं। एक साल पहले घर में संपत्ति को लेकर विवाद हुआ तो बहू ने मारपीट की और घर से निकाल दिया। बहू और बेटे के खिलाफ मंगलवारा थाने में मारपीट और भरण पोषण को लेकर एफआईआर भी दर्ज हुई। लेकिन नतीजा कुछ नहीं आया।वकील सुरेंद्र साहू ने कुटुम्ब न्यायालय की जज भावना साधौ की अदालत में भरण पोषण का मामला पेश कर बताया कि खुद की संपत्ति होने के बाद भी रामकुंवर सब्जी मंडी स्थित राम मंदिर में रहती हैं, गुजारा करने के लिए भीख मांगती है। अदालत से रामकुंवर के बेटों को नोटिस जारी हुआ, लेकिन वे हाजिर नहीं हुए। इसके बाद जज ने मंगलवार थाना टीआई को आदेश दिया कि रामकुंवर के परिजनों को अदालत में उपस्थित करें।पुलिस ने सभी को शनिवार को अदालत में पेश किया। रामकुंवर ने रोते हुए कहा- जज साहिबा, मेरी बहू मुझसे बहुत मारपीट करती है, ये लोग मुझे मार डालेंगे। जज ने बेटों को समझाया कि जिस मां ने तुम्हें जन्म दिया तुम उसका सम्मान करना चाहिए। मां से बड़ी कोई दौलत नहीं है। जज ने बहू को समझाया और कहा कि सास से पैर पकड़कर माफी मांगो। बहू ने..
                 

दिव्यांगों के पेपर की सही से मैपिंग नहीं, इसलिए अंग्रेजी का पेपर रद्द, 29 काे दाेबारा परीक्षा

भोपाल. प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड (पीईबी) ने उच्च माध्यमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा-2018 का अंग्रेजी का पेपर रद्द कर दिया गया है। इससे करीब 15 हजार उम्मीदवाराें को अब 29 सितंबर को दोबारा परीक्षा देनी होगी। पीईबी के एग्जाम कंट्राेलर एकेएस भदाैरिया ने बताया कि यह फैसला करीब 200 दिव्यांगों के पेपर के दौरान मैपिंग में गड़बड़ी होने के चलते लिया है। पीईबी सभी उम्मीदवारों से संपर्क कर उन्हें इसकी जानकारी देगा। उनका प्रवेश-पत्र भी दोबारा जारी किया जाएगा। दिव्यांग उम्मीदवारों के लिए परीक्षा में नियमित समय के बाद पेपर हल करने के लिए अतिरिक्त समय दिया जाता है। 3 फरवरी को अंग्रेजी विषय का सेकंड राउंड में पेपर हुआ था।इसमें समय खत्म होने के बाद जब दिव्यांग उम्मीदवारों ने दोबारा लॉगइन किया तो पेपर खुलने में गड़बड़ी हुई। इससे इसकी मैपिंग सही से नहीं हो पाई। इसकी सूचना जियो मैपिंग करने वाली कंपनी ने पीईबी को 2 जुलाई को दी। पीईबी ने जांच कराने के बाद अंग्रेजी का पेपर रद्द करने का निर्णय लिया है। अावेदकों के प्रवेश पत्र www.peb.mp.gov.in की वेबसाइट पर भी अपलाेड किए जाएंगे। हालांकि हजार से कैसे संपर्क किया जाए..
                 

कलेक्टर-एसडीएम विवाद सीएम तक पहुंचा, कमिश्नर को सौंपी जांच

हाेशंगाबाद.कलेक्टर शीलेंद्र सिंह और तत्कालीन एसडीएम रवीश श्रीवास्तव (डिप्टी कलेक्टर) के बीच फाइल और रेत डंपरों को लेकर हुए विवाद और एसडीएम को पद से हटाने का मामला मुख्यमंत्री कमलनाथ तक पहुंच गया है। सरकार ने संभागायुक्त रवींद्रकुमार मिश्रा से तीन दिन में रिपोर्ट मांगी है। प्रमुख सचिव कार्मिक दीप्ति गाैड़ मुखर्जी ने संभागायुक्त को इस संबंध में पत्र भेजा है। प्रभारी मंत्री पीसी शर्मा ने भी कमिश्नर से मामले की रिपाेर्ट मांगी है। रवीश श्रीवास्तव ने अपना पक्ष भिजवा दिया है। उनका आरोप है कि रेत खनन पर कार्रवाई से रोकने के लिए कलेक्टर ने आधी रात उन्हें बंगले पर बुलाकर बंधक बना लिया था, जबकि कलेक्टर का कहना है कि एसडीएम ऑफिसर्स क्लब की फाइल नहीं दे रहे थे। इस मामले में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चाैहान और जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा (जिले के प्रभारी मंत्री) आमने-सामने आ गए हैं।सरकारी मशीनरी फेल हो गई है : विधायकएसडीएम की शिकायत में कलेक्टर पर आरोप है कि भाजपा विधायक डॉ. सीतासरन शर्मा के भतीजे वैभव की फर्म के रेत स्टॉक के बाहर खड़े डंपरों पर कार्रवाई नहीं करने दी गई है। इस पर विधायक शर्मा ने क..
                 

बारिश से राज्य में 202 लोग और 600 पशुओं की मौत; राजस्व मंत्री ने कहा- फसलों के नुकसान जांच शुरू

भोपाल/सागर. मध्य प्रदेश में बारिश का कहर जारी है। प्रदेश में अब तक 202 लोगों और 600 जानवरों की मौत हो चुकी है। इसके अलावा फसलों को भी भारी नुकसान पहुंचा है। सागर में शनिवार को जिला योजना समिति की बैठक के बाद पत्रकारों से चर्चा में गोविंद सिंह राजपूत ने कहा कि राज्य के 36 जिलों में भारी बारिश से सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है। इस सीजन में 9800 से अधिक मकान भी क्षतिग्रस्त हुए हैं।प्रदेश के 36 जिलों में सामान्य से अधिक बारिश दर्ज की गई है। बाकी जिलों में बारिश सामान्य से कम है। मंत्री ने कहा- जहां अधिक बारिश हो रही है और जहां सबसे ज्यादा जन-धन की हानि हो रही है। वहां कलेक्टर्स और पुलिस को अलर्ट किया गया है। सरकार ने राज्य में 8600 अस्थायीकैंप बनाए हैं,जिसमे खाने पीने का सामान दिया जा रहा है। जहां फसलों को नुकसान हुआ है, वहां आकलन किया जा रहा है। 60 करोड़ रुपए स्वीकृत किए गए हैं और 50 करोड़ रुपए बांटना जल्दशुरू होगा।दो दिन के बाद मिल सकती है राहतभोपाल में शुक्रवार को रात से जारी बारिश सेशनिवार को दिन में हल्की राहत मिली। सुबह 8.30 बजे तक 45 मिमी बारिश हो चुकी थी। इसके बाद दिन में भी रुक-रुककर बार..
                 

राजधानी में अत्यधिक बारिश से परेशान लोगों ने कराया मेंढक-मेंढकी का तलाक

भोपाल.यूं तो आपने इंद्रदेवता को खुश करने के लिए पूजा-अर्चना, अखंड रामायण और भंडारे कराने के साथ ही मेंढ़क-मेंढ़की का विवाह कराते देखा होगा। लेकिन इस बार मामला थोड़ा अलग है। लगातार हो रही बारिश से परेशान होकर राजधानी के लोगों ने मेंढक-मेंढकी का तलाक भी करवा दिया है। गुरुवार को धार्मिक रीति-रिवाज से मेंढक से मेंढकी का तलाक करवाकर मायके भेजा गया..
                 

रेत डंपरों पर कार्रवाई करने गए एसडीएम को कलेक्टर ने बंगले पर बुलाया, पद से हटाया; 3 घंटे बाद छोड़ा

हाेशंगाबाद.अवैध रेत परिवहन के मुद्दे पर गुरुवार देर रात होशंगाबाद कलेक्टर शीलेंद्र सिंह की एसडीएम रवीश श्रीवास्तव (डिप्टी कलेक्टर) से जमकर तू-तू-मैं-मैं हुई। रेत डंपरों पर कार्रवाई करने गए एसडीएम को नाराज कलेक्टर ने पहले अपने बंगले पर बुलाया। फिर ऑफिसर्स क्लब की फाइल नहीं देने के साथ ही भाजपा विधायक सीतासरन शर्मा के भतीजे वैभव शर्मा के रेत स्टॉक के बाहर खड़े डंपरों पर कार्रवाई को लेकर एसडीएम से सवाल पूछे। जब बहस बढ़ गई तो कलेक्टर ने एसडीएम को पद से हटा दिया। उनसे सरकारी गाड़ी वापस ले ली।एसडीएम ने जब इसकी लिखित शिकायत प्रमुख सचिव कार्मिक से की तो बात भोपाल में मंत्रालय तक पहुंच गई। दबाव बढ़ा और तीन घंटे बाद कलेक्टर ने एसडीएम को बंगले से पैदल ही जाने दिया। कलेक्टर ने पूरी रिपोर्ट संभागायुक्त को भेजी, जिस पर एसडीएम को नोटिस दे दिया गया। फिलहाल श्रीवास्तव छुट्‌टी पर चले गए हैं। उनकी जगह रात में ही आदित्य रिछारिया को नया एसडीएम बना दिया गया। बताया गया है कि घटना के वक्त एडीएम केडी त्रिपाठी, तहसीलदार शैलेंद्र सिंह बड़ाेनिया, नायब तहसीलदार ललित सोनी सहित लिपिक और ड्राइवर कलेक्टर बंगले पर मौजूद थे।..
                 

सीबीआई ने व्यापमं के अफसरों को बचाने चपरासी, गार्ड को मोहरा बनाया

भोपाल.व्यापमं महाघोटाले से जुड़े एक मामले में तीन आरोपियों को बरी करते हुए सीबीआई की विशेष कोर्ट ने शुक्रवार को तल्ख टिप्पणी की। विशेष न्यायाधीश अजय श्रीवास्तव ने 90 पेज के फैसले में सीबीआई की जांच और व्यापमं की कार्यप्रणाली पर गंभीर सवाल उठाए।कोर्ट ने कहा कि सीबीआई ने व्यापमं के बड़े अधिकारियों को बचाने चपरासी और सिक्युरिटी गार्ड जैसे छोटे कर्मचारियों को मोहरा बनाया। सीबीआई अधिकारी यदि गंभीरता से जांच करते तो वास्तविक अपराधियों को दंडित किया जा सकता था।कोर्ट ने 2013 में व्यापमं द्वारा पुलिस विभाग के लिए आयोजित की गई निम्न श्रेणी लिपिक व शीघ्र लेखक भर्ती परीक्षा के मामले में तीन आरोपियों चपरासी रीतेश कोठे, शंकर सोनी एवं िसक्युिरटी गार्ड आशीष शर्मा को बरी कर दिया, जबकि दो परीक्षार्थी तरुण उमरे और राकेश पटेल को सात साल जेल और जुर्माने की सजा सुनाई।व्यापमं ने चपरासी, गार्ड समेत पांच को आरोपी बताया थापरीक्षा के बाद स्कैनिंग के दौरान शासकीय आर्ट्स एवं कॉमर्स कॉलेज और शासकीय हमीदिया कॉलेज से मिलीं ओएमआर शीट्स में एक-एक शीट कम थीं। 15 जून को व्यापमं के कंप्यूटर शाखा प्रभारी ने एमपी नगर थाने में..
                 

भोपाल में सुबह से फिर तेज बारिश; एक-दो दिन में टूट सकता है 29 साल का रिकॉर्ड, कोलार डैम के 4 गेट खुले

अनूप दुबोलिया, भोपाल. राजधानी समेत प्रदेश के 32 जिलों में भारी बारिश का सिलसिला थमा नहीं है। शुक्रवार को लगातार सातवें दिन भी सुबह से मूसलाधार बारिश होती रही। भोपाल में सुबह 5.30 से तेजी से पानी बरसा। सुबह 8.30 बजे तक 1605 मिमी (63.18 इंच) बारिश दर्ज की गई है।भोपाल और कैचमेंट एरिया में हो रही भारी बारिश के चलते शहर के सबसे बड़े डैमकोलार के 4 गेट एक मीटर की हाइट के साथ खोल दिया गया है। इस सीजन में लगातार पांचवीं बार कोलार डैम के गेट खोले गए हैं।वहीं कलियासोत डैम के तीन गेट औरभदभदा के दो गेट खोले गए हैं। कोलार के गेट 12 घंटे से लगातार खुले हुए हैं।सीहोर जिले में भारी बारिश से नीलकंठ गांव में सैंकडों एकड सोयाबीन की फसल गल गयी है। यही हाल विदिशा, रायसेन और अन्य जिलों में भी हजारों एकड़ सोयाबीन की खड़ी फसल बर्बाद हो रहीहै।4-5 दिन तक नहीं मिलेगी राहत : मप्र में बने लो प्रेशर एरिया और झारखंड में बने साइक्लोनिक सर्कुलेशन के कारण अगले 4-5 दिन तक भोपाल समेत 15 जिलों में बारिश के राहत की कोई उम्मीद नहीं है।मौसम वैज्ञानिक उदय सरवटे का कहना है कि यदि बारिश की ये रफ्तार बनी रही तो 2006 में हुई सबसे ..
                 

मां से बोलकर गया था परवेज, गणेशजी को विदा कर थोड़ी देर में आ जाऊंगा

भोपाल. राजधानीभोपाल मेंछोटा तालाब के खटलापुरा घाट पर शुक्रवार तड़के गणेश विसर्जन के दौरान दो नाव पलटने से 11 लोगों की मौत हो गई।इनमें 12 साल का परवेज खान भी है। परवेज बचपन से ही मुहल्ले में स्थापित होने वालेगणेश उत्सव में शामिल होता था।परवेज की मौत के बाद परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। मां रोते-रोते बेहोश हो रही है।बार-बार एक ही बात कह रही है किमेरे बेटे को वापस ले आओ..
                 

2016 में भी हुआ था ऐसा हादसा, डूबने से हुई थी पांच युवकों की मौत

भोपाल। राजधानी में शुक्रवार तड़के गणपति विसर्जन के दौरान नाव पलटने से 11 लोगों की मौत हो गई, जबकि कई लोग लापता हैं। यह घटना सुबह करीब 4:30 बजे हुई जब काफी संख्या में लोग नाव पर सवार होकर खटलापुरा घाट पर गणपति को विसर्जित करने के लिए जा रहे थे। तीन साल पहले 2016 में छोटे तालाब में नाव पलटने से डूबने से पांच युवकों की मौत हो गई थी। इतनी बड़ी घटना होने के बाद भी नगर निगम और जिला प्रशासन ने कोई सबक नहीं लिया और ये हादसा हो गया। हालांकि 2016 में हुआ ये हादसा विसर्जन के दौरान नहीं हुआ था। उसवक्त भी सुरक्षा के तमाम दावे किए गए थे। लेकिन जो हुआ उसका नतीजा आज नजरआ रहा है..
                 

स्पाइस जेट की सूरत, उदयपुर और एअर इंडिया की पुणे, दिल्ली फ्लाइट लेट

भोपाल|दिल्ली, गुजरात, पुणे आदि स्थानों पर हो रही बारिश का असर गुरुवार को वहां से आने वाली स्पाइस जेट, एअर इंडिया की फ्लाइट्स पर भी पड़ा। स्पाइस जेट की (एसजी-3721)सूरत-भोपाल फ्लाइट तीन घंटे की देरी से आई। वहीं स्पाइस जेट की (एसजी-3722) उदयपुर-भोपाल फ्लाइट ढाई घंटे की देरी से आ सकी। एअर इंडिया की (एआई-482) भोपाल-दिल्ली फ्लाइट को ऑपरेशनल कारणों व बारिश के कारण 1.37 मिनट की से शाम 4 बजे रवाना किया जा सका। (एआई-481) दिल्ली-भोपाल फ्लाइट करीब 1.06 घंटे की देरी से आई थी। (एआई-482) पुणे-भोपाल फ्लाइट भी 1.25 घंटे की देरी से यहां आई थी। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today..
                 

‘रजिस्ट्रेशन’ में विलंब से बढ़ रहे हैं विवाद

डीबी स्टार भोपाल नए वाहन खरीदकर सड़क पर चलाना आमजन की परेशानी का सबब बन गया है। इसका मुख्य कारण है रजिस्ट्रेशन में देरी होना। परिवहन विभाग गाड़ी का नंबर तो एक महीने में जारी कर देता है, लेकिन रजिस्ट्रेशन कार्ड बनने में दो से तीन माह का समय लगता है। इस दौरान वाहन चालकोंं को ट्रैफिक पुलिस से राेजाना जूझना पड़ता है। कई बार तो पुलिस चालान तक बना देती है। इस बात को लेकर आए दिन विवाद होते हैं। शेष पेज 3 पर एक माह में हो रहा रजिस्ट्रेशन  हमारे पास एजेंसी से रजिस्ट्रेशन के दस्तावेज आने के बाद उनका वेरीफिकेशन किया जाता है। एक महीने के अंदर नंबर और रजिस्ट्रेशन कार्ड जारी किया जा रहा है। संजय तिवारी, आरटीओ, भोपाल concern सुधीर सिंघल अपने नए दोपहिया वाहन से बेटी आयुषी को स्कूल छोड़ने जा रहे थे, तभी कोलार रोड स्थित चूना भट्टी चौराहे पर यातायात पुलिस ने रोक कर दस्तावेज मांग लिए। सुधीर ने बीमा और ड्राइविंग लाइसेंस तो दिखा दिया, लेकिन रजिस्ट्रेशन नंबर उनके पास नहीं था। उन्होंने ट्रैफिक पुलिस के जवान से कहा कि अभी डीलर ने उन्हें कार्ड नहीं दिया है। सुधीर 15 मिनट की बहस के बाद मुश्किल से बेटी को छोड़ने ..
                 

खाली ट्रक के बेस में छिपाकर भोपाल ला रहे थे 400 किलो गांजा, दो गिरफ्तार

सेंट्रल नारकोटिक्स ब्यूरो (एनसीबी) की इंदौर यूनिट ने गुरुवार की शाम मिसरोद इलाके में मिनी ट्रक (लोडिंग 407) की सर्चिंग की तो उसमें चार सौ किलो गांजा मिला। गांजा खाली ट्रक के बेस में बाक्स बनाकर छिपाकर लाया जा रहा था। टीम ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों को शुक्रवार को भोपाल की विशेष अदालत में पेश किया जाएगा। जानकारी के मुताबिक एनसीबी को सूचना मिली थी कि ट्रक में गांजा छिपाकर लाया जा रहा है। एनसीबी के जोनल डायरेक्टर एसके सिन्हा और एनसीबी इंदौर के अधीक्षक अतुल कुमार द्विवेदी के नेतृत्व में टीम में शामिल इंस्पेक्टर अर्पण संगवान, इंस्पेक्टर राकेश, सब इंस्पेक्टर जीएस भदौरिया आदि ने गुरुवार की शाम मिसरोद इलाके में मिनी ट्रक (एमपी09-जीएफ-0530) को रोका था। ट्रक खाली था, टीम ने गाड़ी की सर्चिंग की तो उसके बेस में एक बाॅक्स में छोटे-छोटे पैकेट में गांजा छिपाकर रखा गया था। पैकेट में चार सौ किलो गांजा निकला। गांजा बालनजीर, ओडिसा से भोपाल लाया गया था। टीम ने विदिशा निवासी सुखवीर सिंह और राधे राजकुमार को गिरफ्तार किया है। उनसे पूछताछ की जा रही है कि भोपाल में गांजा कहां पहुंचाना था। ..
                 

भोपाल स्टेशन पर दो घंटे से ज्यादा गुल रही बिजली

ट्रांसपोर्ट रिपोर्टर | भोपाल भोपाल रेलवे स्टेशन पर गुरुवार शाम दो घंटे से ज्यादा देर तक बिजली सप्लाई प्रभावित रही। चांदबड़ सब स्टेशन से मेन सप्लाई में फॉल्ट आने के कारण शाम करीब सात बजे बिजली गुल हुई। हालांकि स्टेशन परिसर को तो जनरेटर सेट से रोशन कर दिया गया, लेकिन स्टॉल्स पर बिजली न होने से यात्रियों को परेशानी उठाना पड़ी। स्टाल्स संचालकों ने बताया कि चाय-कॉफी की मशीनों के लिए बिजली न मिलने के कारण दो घंटे से ज्यादा देरी तक परेशानी हुई। इस मामले में स्टेशन मैनेजर वायएस बघेल का कहना है कि बारिश के दौरान कई बार फॉल्ट आदि से बिजली गुल हो जाती है, लेकिन हमारी कोशिश यही रहती है कि उसका असर ट्रेनों के संचालन और यात्रियों के आवागमन पर नहीं न पड़ने दिया जाए। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today..
                 

डाॅक्टर की गुहार- पत्नी से बचाअो, तनाव के कारण ऑपरेशन तक नहीं कर पा रहा

अभी तक महिलाएं जिला विधिक प्राधिकरण में शिकायत करती थीं कि पति प्रताड़ित कर रहे हैं। लेकिन यहां ग्वालियर संभाग के एक सिविल सर्जन ने गुहार लगाई है कि उनकी प|ी उन्हें प्रताड़ित कर रही है। उसने उन्हें घर से निकाल दिया है। वे इतने तनाव में हैं कि मरीजों के ऑपरेशन तक नहीं कर पा रहे हैं। जहां वे पदस्थ हैं, वहां भी वह काम नहीं करने देती। आए दिन हंगामा करती है। प्राधिकरण में सिविल सर्जन पति ने बताया कि उनकी शादी को 12 साल हो गए हैं। आठ साल का एक बेटा है। एक पार्टी में एक महिला साथी के साथ उनको फोटो खिंचवाना महंगा पड़ गया। प|ी को शक है कि उसी महिला से उनका अफेयर चल रहा है। उन्होंने प|ी को समझाने की बहुत कोशिश की, लेकिन वह कोई बात सुनने को तैयार नहीं है। उन्होंने बताया कि उल्टे उसने उनके खिलाफ ग्वालियर में घरेलू हिंसा, दहेज प्रताड़ना और भोपाल में भरण-पोषण और तलाक का प्रकरण लगा दिया है। अब वे नौकरी से छुट्टी लेकर केसों की पेशियों को ही अटैंड कर रहे है। वे प|ी को तलाक नहीं देना चाहते हैं। प्राधिकरण के सचिव आशुतोष मिश्रा ने बताया कि उन्होंने दोनों के बीच मीडिएशन और काउंसलिंग कर परिवार बचाने के लिए..
                 

ड्रग टेस्टिंग का यीस्ट माॅडल प्रजेंट करेंगे स्टूडेंट्स

ट्रूबा इंस्टीट्यूट ऑफ फार्मेसी में शुक्रवार से दो दिवसीय नेशनल सेमिनार शुरू हाेने जा रहा है। यह सेमिनार नई दवाओं की खोज और स्क्रीनिंग मैथ्ड्स पर होगा। स्टूडेंट्स भी इस सेमिनार में यीस्ट मॉडल पर ड्रग टेस्टिंग का डेमॉन्सट्रेशन देने वाले हैं, जिसकी अंतिम चरण के लिए वे गुरुवार काे लैब में बिजी रहे। स्टूडेंट्स इस डेमॉन्सट्रेशन में बताएंगे कि कैसे किसी ड्रग के मेडिकल ट्रायल के पहले अब यीस्ट मॉडलिंग तकनीक से पता लगाया जा सकता है कि ड्रग का कैसा असर पड़ने वाला है। इससे जो जानवर ड्रग ट्रायल में अपनी जान गंवा देते थे, वे बच जाएंगे। वहीं स्टूडेंट्स की एक दूसरी टीम पोस्टर और पाॅवर पाॅइंट प्रेजेंटेशन की तैयारियां करती नजर आई, ताकि वे एक्सपर्ट्स के सामने रिसर्च को बेहतर ढंग से रख पाएं। नूतन काॅलेज : इंडक्शन प्रोग्राम 17 से, टीचर्स देंगे काॅलेज संबंधी जानकारी सिटी रिपोर्टर। इन दिनों नूतन कॉलेज में प्रवेश लेने वाली स्टूडेंट्स के इंडक्शन की तैयारी चल रही है। नई स्टूडेंट्स काे काॅलेज संबंधी जानकारी देने के लिए सभी शिक्षक-शिक्षिकाओं ने पाॅवर पाॅइंट प्रजेंटेशन तैयार कर लिया है। इसके माध्यम से नई योजनाएं, उ..
                 

मप्र-छग के 650 कॉलेजों में होगी ग्रूमिंग कॅरियर वर्कशॉप, छात्रों को मिलेगा कॉन्फिडेंस लेवल बढ़ाने व जॉब का मौका

जिलेट और दैनिक भास्कर एक बार फिर स्टूडेंट्स के लिए ग्रूमिंग करियर वर्कशॉप ‹सफलता अपनी मुट्‌ठी में› लेकर आए हैं। इसके तहत मध्यप्रदेश अाैर छत्तीसगढ़ के 650 कॉलेजों में यह वर्कशॉप आयोजित की जाएगी। हर कॉलेज में एक दिवसीय ट्रेनिंग और टेस्ट सेशन रखा जाएगा। हर कॉलेज से एक स्टूडेंट चुना जाएगा। 650 कॉलेज से सिलेक्ट होने वाले 650 कैंडिडेट्स में से बेस्ट दो कैंडिडेट को विनर चुना जाएगा। दोनों विनर्स को दैनिक भास्कर समूह में जॉब करने का मौका मिलेगा। साथ ही 10 स्टूडेंट्स को इंटर्नशिप का मौका मिलेगा। 23 जुलाई से श्ुरू हुए इस कार्यक्रम के तहत हाल ही में एसवी पाॅलिटेक्निक में यह वर्कशाॅप अायाेजित की गई। सफलता और आत्मविश्वास का असली आईना होता है साफ चेहरा... इस थीम के साथ वर्कशॉप आयोजित की जा रही है। वर्कशॉप में विशेषज्ञ छात्रों को अच्छा सीवी और खुद को ग्रुप डिस्कशन के लिए तैयार करने के टिप्स देंगे। ऐसे ले सकते हैं हिस्सा कोई भी कॉलेज या यूनिवर्सिटी अपने यहां ग्रूमिंग वर्कशॉप आयोजित करवाना चाहे ताे अपनी जानकारी ajays.singh@dbcorp.in ईमेल आईडी पर भेज सकते हैं। Download Dainik Bhaskar App to rea..
                 

रबींद्र नाथ टैगोर यूनिवर्सिटी में अटल इन्क्यूबेशन सेंटर शुरू

किसी एजुकेशनल इंस्टीट्यूट में पहला ऐसा सेंटर, 15 स्टार्टअप चल रहे हैं अभी यहां एकाउंट्स, गाड़ी रिपेयर, एग्जाम टिप्स जैसे स्टार्टअप नीति अायाेग के अंतर्गत देशभर में युवाअाें काे अांत्रप्रेन्याेरशिप की बेहतर मेंटरशिप देने के लिए अटल इन्क्यूबेशन सेंटर्स खाेले जा रहे हैं। गुरुवार काे शहर के दूसरे अटल इन्क्यूबेशन सेंटर ‘एअाईसी-अारएनटीयू\' का उद्घाटन राज्यपाल लालजी टंडन ने किया। एजुकेशनल इंस्टीट्यूट में खुलने वाला यह पहला अटल इन्क्यूबेशन सेंटर है, जहां भोपाल के युवाओं समेत किसी भी उम्र के लोग अपने यूनिक आइडियाज के साथ उसे आगे बढ़ाने के लिए आ सकते हैं। इस इनक्यूबेशन सेंटर के लिए बेस्ट मेंटर्स और इनवेस्टर्स को अपने साथ जोड़ा है। मेंटर्स के तौर पर टिस मुंबई से प्रो. सत्यजीत मजूमदार, डिजिटल आर्किटेक्ट के एक्सपर्ट प्रसन्ना लोहार, एपॉइंटी के सीईओ निमेष सिंह, आईएमएसआर मुंबई डॉ. राधा अय्यर, आईआईटी खड़गपुर डॉ. अर्घ्या तारफड़े और एचएनजीआईएल कोलकाता के मनोज भास्करन जुड़े हुए हैं। एक बार में 2 से 4 टीम मेम्बर्स वाले 30 इन्क्यूबिटीज को शामिल करने की कैपेसिटी इस इन्क्यूबेशन सेंटर में है। फिलहाल इस इनक्यूबेशन..
                 

सोनागिरी सी सेक्टर में लोहे का गेट लगाकर रोका आम रास्ता

डीबी स्टार भोपाल वार्ड नंबर 64 स्थित सोनागिरी सी सेक्टर में सोनागिरी सुधार समिति के पदाधिकारियों ने आम रास्ते पर गेट लगा दिया है। इस कारण सोनागिरी ए, बी और इंद्रपुरी ए, बी, सी सेक्टर के निवासियों को एक किलोमीटर लंबा चक्कर लगाकर आना-जाना पड़ रहा है। सबसे ज्यादा परेशानी रात के समय होती है, जब गेट पर ताला लगा दिया जाता है। सुरक्षा गार्ड न होने से उनकी सुनने वाला कोई नहीं है। हद तो यह है कि एंबुलेंस के लिए भी गेट नहीं खोला जाता है, जबकि किसी बीमार व्यक्ति को अस्पताल जल्द पहुंचाना होता है। सोनागिरी एवं इंद्रपुरी के लगभग ढाई हजार लोगों को गेट बंद होने की वजह से परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। रहवासी इसकी शिकायत जिला प्रशासन और नगर निगम अधिकारियों से कर चुके हैं। लेकिन उनकी कहीं कोई सुनवाई नहीं हो रही है। टीएंडसीपी ने भी माना गेट गलत लगा है  सोनागिरी सुधार समिति कोई रजिस्टर्ड संस्था नहीं है। इसके पदाधिकारी मनमाने तरीके से कार्य कर रहे हैं। इसकी शिकायत जिला प्रशासन और नगर निगम अधिकारियों से की गई थी। इसके बाद टीएंडसीपी ने जांच की और रास्ता गलत तरीके से बंद करना बताया। इसके बावजूद गेट नहीं ..
                 

सिंहस्थ : छह शिकायतों की जांच के लिए प्राथमिकी दर्ज

सिंहस्थ-2016 में हुईं गड़बड़ियाें के संबंध में ईओडब्ल्यू ने छह गंभीर शिकायतों पर अलग-अलग प्राथमिक (पीई) दर्ज की हैं। इसमें अलग-अलग विभागों द्वारा सिंहस्थ के लिए सामग्री खरीदी गई थी, जिनमें 40 करोड़ रुपए से अधिक की सामग्री सिंहस्थ खत्म होने के बाद सप्लाई करने के आरोप हैं। जो प्राथमिक दर्ज की गई हैं उनमें कार्यपालन यंत्री व एसडीओ लोक निर्माण, मुख्य महाप्रबंधक व निरीक्षक, लघु उद्योग, पीएचई, मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी, नगर निगम उज्जैन, एचपीएल इलेक्ट्रॉनिक, अजंता वायर एंड फेब्रिकेशन वर्क्स उज्जैन आरोपी हैं। जांच उज्जैन यूनिट को सौंपी गई है। कई तरह की शिकायतें ईओडब्ल्यू को शिकायतें मिली थी कि 2 हजार एलईडी लाइट्स 3.5 करोड़ में खरीदी गई, लेकिन सिंहस्थ खत्म होने के बाद भी नहीं मिली। सिंहस्थ एरिया में अस्थाई लाइनों/ बिजली ट्रांसफॉर्मर और खंभे लगाने का 17 करोड़ का ठेका दिया। फिर इन्हें खोलने के लिए 4.5 करोड़ का अलग से ठेका दिया गया। मकाेड़िया आम से खाक चौक और खाक चौक से मंगलनाथ मंदिर तक 2.9 किमी डिवाइडर बनाने, बिजली खंभे और लाइट लगाने के लिए ठेका दिया, लेकिन मंगलनाथ से सांदीपनी आश्रम तक 90..
                 

फर्जी रूल बुक ने किया डेंटल डॉक्टर्स को परेशान, अफसरों को पता ही नहीं

डीबी स्टार भोपाल/ग्वालियर चार साल से एनएचएम की डेंटिस्ट (संविदा दंत शल्य चिकित्सक) भर्ती परीक्षा का इंतजार कर रहे प्रदेशभर के बीडीएस (बैचलर ऑफ डेंटल सर्जरी) डॉक्टर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही रूल बुक से परेशान हंै। इस रूल बुक में 194 पदों की जगह केवल 42 पदों का उल्लेख है, जबकि प्रदेश के आठ हजार से अधिक बीडीएस पास आउट डॉक्टर इस परीक्षा का इंतजार कर रहे हैं। अब ये डॉक्टर नेशनल हेल्थ मिशन (एनएचएम) मुख्यालय के अफसरों को फोन कर रहे हैं, लेकिन उन्हें जानकारी नहीं मिल रही है। बोनस अंक की भी गफलत एनएचएन ने वर्ष 2014 में आठ पदों पर डेंटिस्ट की भर्ती की थी। इस भर्ती में पीजी इन हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन पास आउट छात्रों को पांच अंक बोनस के दिए गए थे, जबकि वायरल हुई रूल बुक में बोनस अंक का उल्लेख नहीं है। बीडीएस के साथ पीजी इन हॉस्पिटल मैनेजमेंट कर चुके डॉ. सूरज सिंह ने कहा है कि अफसरों को मामले की जांच करना चाहिए। रूल बुक वायरल होने से डेंटिस्ट भ्रमित हो रहें हैं। मामले की जानकारी लेेंगे  डेंटिस्ट की भर्ती परीक्षा को लेकर वायरल हो रहे विज्ञापन के मामले की जानकारी एनएचएम के अफसरों से ली जाएगी। ..
                 

अब छात्र पे-टीएम से भी कर सकेंगे फीस जमा, दो

अब छात्र पे-टीएम से भी कर सकेंगे फीस जमा, दो नए पेमेंट गेट-वे भी एजुकेशन रिपोर्टर | भोपाल आरजीपीवी और उससे संबंद्ध कॉलेजों में पढ़ रहे करीब 4 लाख स्टूडेंट्स के पास अभी तक सिर्फ दो बैंकों के माध्यम से ही परीक्षा फीस सहित अन्य फीस का भुगतान करने की सुविधा थी। जिसके चलते स्टूडेंट्स को अतिरिक्त चार्ज का भी भुगतान करना पड़ता था, लेकिन अब यूनिवर्सिटी ने गुरुवार को दो नए बैंकों एसबीआई और आईसीआईसीआई के साथ एमओयू किया है। जल्द ही ये दोनों बैंक ऑनलाइन पेमेंट गेट-वे विवि के पोर्टल से लिंक कर देंगे। खास बात यह है कि विवि प्रशासन जल्द ही पेटीएम से भी स्टूडेंट्स को फीस भुगतान की सुविधा देने जा रहा है। ऐसे में स्टूडेंट्स के पास फीस जमा करने का एक और विकल्प होगा। इसके लिए विश्वविद्यालय ने कार्रवाई शुरू कर दी है। अभी तक सिटरस और पीएनबी के माध्यम से ही छात्र फीस का भुगतान कर रहे हैं। फीस भुगतान को लेकर आने वाली समस्याओं की शिकायत छात्रों और उनके अभिभावकों द्वारा विवि प्रशासन को लगातार की जा रही थीं, इसके बाद ही विवि ने यह निर्णय लिया है। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today..
                 

दस्तावेजों के सत्यापन के लिए छात्रों के पास कल अंतिम दिन

कॉलेज लेवल काउंसलिंग (सीएलसी) में एडमिशन लेने वाले स्टूडेंट्स के पास दस्तावेजों का सत्यापन कराने के लिए शनिवार तक का समय है। बैचलर ऑफ फार्मेसी, डिप्लोमा ऑफ फार्मेसी, डिप्लोमा इंजीनियरिंग सहित विभिन्न यूजी कोर्सेस और पीजी कोर्सेस मास्टर ऑफ कम्प्यूटर एप्लीकेशन, मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में 15 अगस्त तक एडमिशन दिए गए। वहीं सत्यापन के लिए 31 अगस्त तक समय दिया गया था, लेकिन इस दौरान 2197 स्टूडेंट्स सत्यापन नहीं करा सके। इसलिए 6 सितंबर से इन्हें एक और मौका दिया गया है। इस दौरान अब तक 200 से अधिक स्टूडेंट सत्यापन करा चुके हैं। इस बार अंतिम तारीख 14 सिंतबर तय की गई है। वहीं विभाग ने स्पष्ट किया है कि स्टूडेंट्स को दस्तावेज के सत्यापन के लिए अंतिम अवसर दिया गया है। एडमिशन के बाद सत्यापन करा लेने वाले स्टूडेंट्स की लिस्ट विश्वविद्यालयों काे भेजी जानी है। ताकि उनका नामांकन हो सके। किसी भी स्थिति में अब सत्यापन तिथियों को बढ़ाया नहीं जाएगा। यूजी में 1.69 लाख व पीजी में 46951 ने लिया दाखिला भोपाल| उच्च शिक्षा विभाग के सरकारी और िनजी कॉलेज में सत्र 2019-20 के तहत एडमिशन के लिए सीएलसी का सेकंड..
                 

गोशालाओं के बाद अब ट्रामा सेंटर, ब्लड बैंक खोलेगी सरकार

प्रदेश में गोशालाओं के बाद अब सरकार सड़क हादसों में घायल होने वाली गायों और अन्य मवेशियों के लिए ट्रामा सेंटर खोलने की तैयारी में है। खास बात यह है कि अब ऐसे बड़े निजी समूहों की खोज की जा रही है जो गायों के लिए काम करने के इच्छुक हैं और गोशाला खोलना चाहते हैं। राज्य में गोशालाओं का काम चल रहा है, लेकिन इनके इलाज के लिए अब भी समुचित व्यवस्था नहीं है। गायों को समय पर इलाज मुहैया हो, इसलिए निजी समूहों के कॉर्पोरेट सोशल रिस्पॉसिब्लिटी (सीएसआर) के तहत ट्रामा सेंटर स्थापित करने पर काम चल रहा है। साथ ही किसी एक स्थान पर पशुओं के लिए खून की व्यवस्था के लिए भी प्रस्ताव है। सरकार पहले ही यह दावा कर चुकी है कि साल के अंत तक करीब दो हजार गोशाला शुरू हो जाएंगी। इलाज के अभाव में सड़क हादसों में हो जाती है मवेशियों की मौत प्रदेश में अभी नहीं है बेसहारा मवेशियों के इलाज की कोई उचित व्यवस्था चारे भूसे के लिए 130 करोड़ का बजट पशुपालन विभाग के अधिकारियों के मुताबिक प्रदेश में गायों के चारे-भूसे के लिए 130 करोड़ रुपए का बजट है। कुछ पैसा मनरेगा से भी मिला है। इसके बाद निजी संस्थाएं गोशाला खोलने के लिए आगे आ..
                 

प्रो. अग्रवाल एपीएस विवि रीवा के कुलपति नियुक्त

                 

प्रदेशाध्यक्षों से चर्चा में सोनिया ने कहा- कांग्रेस शासित राज्यों की जिम्मेदारी कि वे सुशासन का उदाहरण बनें

कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा है कि कांग्रेस शासित प्रदेशों की विशेष जिम्मेदारी बनती है कि वे देश के समक्ष सुशासन, जवाबदेह और पारदर्शी प्रशासन का उदाहरण बनें। उन्होंने महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के लिए तैयारी, पार्टी के सदस्यता अभियान और कार्यकर्ताओं के प्रशिक्षण शिविर पर फोकस करने के निर्देश भी दिए हैं। सोनिया ने गुरुवार को दिल्ली मंे पार्टी पदाधिकारियों की बैठक में यह बात कही। मुख्यमंत्री कमलनाथ व्यस्तता के चलते बैठक में शामिल नहीं हुए। उनके प्रतिनिधि के तौर पर वित्त मंत्री तरुण भनोत व प्रदेश उपाध्यक्ष चंद्रप्रभाष शेखर बैठक में पहुंचे थे। राष्ट्रीय महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया व प्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया भी बैठक में मौजूद थे। सोनिया ने मप्र, छत्तीसगढ़, राजस्थान, पंजाब और पुड्डूचेरि का उल्लेख करते हुए कहा कि इन राज्यों में पार्टी के चुनाव घोषणा पत्र को पूरा किया जाना चाहिए। भनोत ने बताया कि गांधीजी की 150वीं जयंती ठीक से मनाने के लिए सभी को निर्देश दिए गए हैं। सदस्यता अभियान में ज्यादा से ज्यादा लोगों को जोड़ने और कार्यकर्ताओं के प्रशिक्षण शिविरों की संख्या बढ़..
                 

भोपाल रेलवे स्टेशन की बॉटल क्रशिंग मशीन दिन में कई बार हो जाती है बंद

ट्रांसपोर्ट रिपोर्टर | भोपाल भोपाल रेलवे स्टेशन पर करीब डेढ़ साल पहले लगाई गई प्लास्टिक बॉटल क्रशिंग मशीन दिनभर में कई बार बंद हो जाती है। हालांकि रेल अधिकारी इससे इनकार करते हुए प्लेटफॉर्म नंबर-6 पर एक और नई मशीन लगाने की बात कर रहे हैं। इन मशीनों को सीएसआर के तहत लगाया गया था और संबंधित कंपनी ही इनका मेंटेनेंस करती है। इसके बदले में कंपनी के उत्पाद का विज्ञापन मशीन पर डिस्प्ले होता है। जहां तक मशीन में बॉटल को क्रश करने के बदले में पांच रुपए का मोबाइल रि-चार्ज देने का मामला है, उस योजना को कुछ नई मशीनें लगाने के साथ ही दो अक्टूबर से लागू किए जाने की बात पश्चिम-मध्य रेलवे की सीपीआरओ प्रियंका दीक्षित ने कही है। इधर, हबीबगंज रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर-1 पर करीब 6 माह पहले लगाई गई बॉटल क्रशिंग मशीन में बॉटल क्रश करने पर मोबाइल नंबर, पेटीएम अकाउंट की जानकारी देते ही ओटीपी के जरिए पेटीएम अकाउंट में पांच रुपए का क्रेडिट मिल जाता है। हबीबगंज में यात्रियों को मिलता है पे-टीएम क्रेडिट 50 माइक्रॉन से कम की पॉलिथीन वैन रेलवे स्टेशनों पर वेंडर अब जो भी खाने-पीने का सामान देंगे, वह 50 माइ..
                 

डाॅक्टर की गुहार- पत्नी से बचाओ, तनाव के कारण ऑपरेशन तक नहीं कर पा रहा

भोपाल.अभी तक महिलाएं जिला विधिक प्राधिकरण में शिकायत करती थीं कि पति प्रताड़ित कर रहे हैं। लेकिन यहां ग्वालियर संभाग के एक सिविल सर्जन ने गुहार लगाई है कि उनकी पत्नी उन्हें प्रताड़ित कर रही है। उसने उन्हें घर से निकाल दिया है। वे इतने तनाव में हैं कि मरीजों के ऑपरेशन तक नहीं कर पा रहे हैं। जहां वे पदस्थ हैं, वहां भी वह काम नहीं करने देती। आए दिन हंगामा करती है।प्राधिकरण में सिविल सर्जन पति ने बताया कि उनकी शादी को 12 साल हो गए हैं। आठ साल का एक बेटा है। एक पार्टी में एक महिला साथी के साथ उनको फोटो खिंचवाना महंगा पड़ गया। पत्नी को शक है कि उसी महिला से उनका अफेयर चल रहा है। उन्होंने पत्नी को समझाने की बहुत कोशिश की, लेकिन वह कोई बात सुनने को तैयार नहीं है।उन्होंने बताया कि उल्टे उसने उनके खिलाफ ग्वालियर में घरेलू हिंसा, दहेज प्रताड़ना और भोपाल में भरण-पोषण और तलाक का प्रकरण लगा दिया है। अब वे नौकरी से छुट्टी लेकर केसों की पेशियों को ही अटैंड कर रहे है। वे पत्नी को तलाक नहीं देना चाहते हैं। प्राधिकरण के सचिव आशुतोष मिश्रा ने बताया कि उन्होंने दोनों के बीच मीडिएशन और काउंसलिंग कर परिवार ब..
                 

कैबिनेट बैठक में आईएएस अफसरों का विरोध, फिर भी एडीजी के 15 अस्थाई पद मंजूर

भोपाल.आईपीएस और आईएएस अधिकारियों के बीच चल रही गरमाहट गुरुवार को कैबिनेट बैठक के दौरान भी दिखाई दी। प्रमोशन के लिए एडीजी के चार पदों के साथ एडीजी के कुल 15 पदों को अस्थाई मंजूरी देने का मामला आया तो अपर मुख्य सचिव अनुराग जैन ने कह दिया कि ‘जैसे-जैसे पद रिक्त होते हैं, प्रमोशन होता जाएगा। इतने अस्थाई पद नहीं देना चाहिए। आईएएस कैडर में मेरे ही बैच के दो अधिकारी एसीएस पद पर पदोन्नत नहीं हो पाए। मोहम्मद सुलेमान और मैं हो गए।’मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव अशोक वर्णवाल ने भी यही बात दोहराई। हालांकि इस पर मुख्यमंत्री कमलनाथ नेकहा कि वे जहां भी जाते हैं आईपीएस अधिकारी कहते हैं कि उनके प्रमोशन नहीं हो रहे। इसलिए एडीजी के पदों को मंजूरी दे दी जाए।उल्लेखनीय है कि 15 अगस्त को पुलिस कमिश्नर सिस्टम लागू करने को भी आईएएस-आईपीएस अफसर एक-दूसरे असंतुष्ट थे और दोनों के प्रतिनिधिमंडलों ने मुख्यमंत्री के सामने अपनी बात रखी थी।गुरुवार को कैबिनेट में 1987 बैच के एडीजी डाॅ. विजय कुमार का मसला आया कि डीजी स्तर का एक पद रिक्त होता तो वे भी रिटायरमेंट से पहले डीजी बन जाते। इस पर कमलनाथ ने कहा कि इसे भी तुरंत किया ज..
                 

अक्टूबर में आएगा 100 यूनिट पर 100 रुपए और 150 यूनिट पर 384 रुपए बिजली का बिल

भोपाल। उर्जा विभाग ने अब सभी घरेलू उपभोक्ताओं के लिए एक जैसा स्लैब लागू कर दिया है। इसके बाद ऐसे सभी उपभोक्ताओं को 100 यूनिट पर छूट मिलेगी, जिनकी मासिक खपत 150 यूनिट (प्रतिदिन 5 यूनिट) तक रहेगी। जिन उपभोक्ताओं की खपत सिर्फ 100 यूनिट आएगी, उन्हें केवल 100 रुपए ही देने होंगे।नई योजना के लागू होने पर यह आएगा अंतर लाभ हानि ऐसे उपभोक्ता जिनकी खपत 100 यूनिट रहेगी उन्हें अब 634 रुपए के बदले 100 रुपए ही देने होंगे। इन्हें 534 रुपए की सब्सिडी मिलेगी। खपत 150 यूनिट तक रहने पर अब 384 रुपए देने होंगे जबकि वर्तमान में 918 रुपए देने पड़ रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्र में 20 रुपए प्रति बिल की अतिरिक्त छूट मिलेगी। अब मीटर रीडर की पूछपरख बढ़ेगी। ऐसे उपभोक्ता जिनकी खपत 151 यूनिट से ज्यादा होगी वे 150 यूनिट की खपत लिखने के लिए ही बाध्य करेंगे। मीटर में अधिक रीडिंग होने पर कुछ कंपनी के कर्मचारियों से तालमेल कर गड़बड़ी के भी प्रयास करेंगे। इसलिए मीटर बदलने के आवेदन भी बढ़ेंगे। ऐसे उपभोक्ताओं को नहीं मिलेगा लाभ:ऐसे उपभोक्ता जिनकी मासिक खपत 150 यूनिट से ज्यादा होगी, उन्हें किसी भी छूट का फायदा नही..
                 

जनता से बोले शिवराज: मत भरो बिजली के बिल, वे लाइन काटेंगे, हम जोड़ देंगे

विदिशा। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि हमनें विदिशा आकर कमलनाथ सरकार के खिलाफ शंखनाद कर दिया है। सभा में मौजूद लोगों से उन्होंने कहा कि हम बढ़े हुए बिजली बिल जमा नहीं करेंगे। यदि कनेक्शन हटाए गए तो मैं खुद विदिशा आकर बिजली के तार जोड़ूंगा। उनका कहना था कि जीना है तो मरना सीखो, अपने हक के लिए लड़ना सीखो..
                 

‘उपाय’ एप से उपभोक्ता खुद कैलकुलेट कर सकेंगे बिजली बिल

भाेपाल| उपभोक्ताओं द्वारा अपने मीटर की रीडिंग स्वयं करने के उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने उपाय एप में एक नया फीचर डेवलप किया है। भोपाल सर्कल के उपभोक्ताओं के उपयोग के लिए पायलट प्रोजेक्ट के तहत यह सुविधा उपलब्ध कराई गई है। कंपनी के सूचना प्रौद्योगिकी सेक्शन द्वारा इसे तैयार किया गया है। इस सुविधा के उपयोग हेतु उपभोक्ता को हर माह में दी गई समयावधि में अपने मीटर की रीडिंग की फोटो खींचकर, मीटर रीडिंग के पैरामीटर्स के साथ उपाय एप में अपलोड करना होगा। अपलोड करने के बाद उपभोक्ता द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर बिजली कंपनी द्वारा डाटा बिलिंग सिस्टम में फीड कर बिलिंग की जाएगी। इस तरह एप के जरिए उपभोक्ता को पता चल जाएगा कि बिल कितना है। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today..
                 

बजट लेकर भी पीआईयू ने नहीं बनाए स्कूल भवन

डीबी स्टार भोपाल/ग्वालियर स्कूल शिक्षा विभाग ने वर्ष 2011-12 से लेकर 2018 के बीच में राज्य योजना और राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान (रमसा) के तहत कुल 4256 स्कूलों की बिल्डिंग तैयार करने के प्रोजेक्ट पीआईयू को सौंपे थे। इनमें से लगभग एक हजार स्कूलों के नए भवन तैयार किए जाने थे। प्रत्येक बिल्डिंग के लिए औसतन एक करोड़ रुपए का बजट भी निर्धारित किया गया था और पीआईयू को 80 प्रतिशत बजट भी उपलब्ध करा दिया गया था। इसके बाद पीआईयू ने काम शुरू किया, तो पता चला कि कुल कार्यों में से सिर्फ 2890 काम ही पूरे हो पाए। इनमें से 217 प्रोजेक्ट ऐसे हैं, जो शुरू ही नहीं हो सके हैं। इसके अलावा 27 जगहों पर काम शुरू हुआ, लेकिन बाद में अलग-अलग कारणों के चलते बंद हो गया। इसके अलावा 1122 प्रोजेक्ट ऐसे भी हैं, जो अपनी तय समय-सीमा से देरी से चल रहे हैं। मिडिल के लिए एक और हायर सेकंडरी के लिए 1.75 करोड़ रुपए स्कूल शिक्षा विभाग को पीआईयू के अफसरों ने जो एस्टीमेट दिया था, उसके मुताबिक मिडिल स्कूलों के अपग्रेडेशन में लगभग एक करोड़ रुपए का खर्चा बताया गया था। वहीं कई स्थानों पर हायर सेकंडरी स्कूल के लिए 1.75 करोड़ रुपए ..
                 

भोपाल में सोना 200 रु. गिरा

भोपाल/इंदौर/नई दिल्ली| सोने-चांदी की ऊंची कीमतों के कारण सराफा बाजार में त्योहारी मांग बहुत ही कम है। इस कारण बुधवार को भोपाल में बुधवार को सोने के भाव में 200 रुपए की गिरावट रही, जबकि चांदी के भाव स्थिर रहे। 23 कैरेट सोने का भाव 37100 रुपए और 22 कैरेट का भाव 36500 रुपए प्रति दस ग्राम रहा। चांदी पाट 47000 रुपए और टंच 46500 रुपए प्रति किलोग्राम रही। इंदौर सराफा बाजार में नकद में सोना 99.50 टंच 37000 एवं चांदी 46125 रुपए बिक गई। रतलाम में चांदी चौरसा 46000 चांदी टंच 46100 सिक्का 640 सोना स्टैंडर्ड 37100 सोना रवा 36900 जेवराती 36300 रुपए। वहीं दिल्ली सराफा में सोना 372 रुपए सस्ता हुआ। इसकी कीमत प्रति 10 ग्राम 38,975 रुपए रही। सोने की तर्ज पर चांदी 1,150 रुपए सस्ती हुई। यह प्रति किलोग्राम 48,590 रुपए के भाव पर बिकी। साथ ही, अंतरराष्ट्रीय बाजार में न्यूयॉर्क में सोने कीमत बढ़त के साथ 1,490 डॉलर प्रति आउंस और चांदी भी बढ़त के साथ 18.10 डॉलर प्रति आउंस के आसपास चल रही थी। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Bhopal News - mp news gold..
                 

नौकरी न लगने से मकान बिका और सगाई टूटी

बालाघाट निवासी रमेश सिंह ने पंचायतराज में डाटा एंट्री ऑपरेटर के लिए निजी संस्थान की नौकरी छोड़कर तैयारी की। परीक्षा परिणाम आया तो उनकी सगाई पन्ना निवासी युवती से हुई। लेकिन दो माह बाद भी ज्वॉइनिंग नहीं मिली तो लड़की वालों ने एक महीने का समय दिया। उन्होंने ज्वाॅइनिंग न होने पर सगाई तोड़ दी। सागर निवासी दीप्ती गौड़ के माता-पिता ने बेटी की पढ़ाई के लिए मकान गिरवी रखकर कर्ज लिया। दो साल से वह एग्जाम की तैयारी कर रही थी। अंत में पंचायतराज में डाटा एंट्री ऑपरेटर पद की परीक्षा में उसे सफलता मिली। इस दौरान कर्ज न चुका पाने के कारण उन्हें मकान छोड़ना पड़ा। उन्हें उम्मीद थी कि बेटी को ज्वाॅइनिंग मिल जाएगी तो सब ठीक हो जाएगा। लेकिन ऐसा नहीं हुआ, अब परिवार मुसीबत में है। विदिशा निवासी श्याम धाकड़ ने डाटा एंट्री ऑपरेटर पद के लिए चयन परीक्षा दी। श्याम के पिता राम भरोसे किसान हैं, उन्होंने जमीन बेचकर श्याम को पढ़ाया है। घर में आय का अन्य स्रोत नहीं है। पूरा परिवार एक साल से श्याम की नियुक्ति की बाट जोह रहा है। परिवार का कहना है कि श्याम की ज्वॉइनिंग के बाद ही उसकी शादी हो सकेगी। लड़की वालों का कहना है कि बिन..
                 

प्लान में न होने के बाद भी ली स्टेडियम के सामने की जमीन

टीटी नगर स्टेडियम के मुख्य द्वार को लेकर स्मार्ट सिटी कंपनी और खेल विभाग के बीच के विवाद को सुलझाने के लिए संभागायुक्त कल्पना श्रीवास्तव ने बुधवार को बैठक बुलाई। उन्होंने स्मार्ट सिटी कंपनी के चीफ इंजीनियर ओपी भारद्वाज से पूछा कि जब मई में तय हो गया था कि स्टेडियम के मुख्य द्वार के सामने बनी सड़क की जगह नहीं ली जाएगी, फिर बिना अनुमति के प्लान कैसे बदल गया। इसकी अनुमति किसने और कब दी, भारद्वाज इसका जवाब नहीं दे पाए। उन्होंने कहा कि हाट बाजार के लिए सड़क की जगह जरूरत पड़ेगी। इस पर संभागायुक्त ने पूछा कि कहां पर क्या काम होना है, इसकी डिटेल बताएं। चीफ इंजीनियर इसकी जानकारी भी नहीं दे पाए। इस पर संभागायुक्त ने कहा कि यहां पर बच्चे खेलने के लिए आते हैं, इसके लिए यहां पर सुरक्षा के इंतजाम किए जाएं। उन्होंने हिदायत दी कि वो प्लान बदलकर रिपोर्ट कलेक्टर को पेश करें। टीटी हाट बाजार में कितनी दुकानें लगती हैं कलेक्टर तरुण पिथोड़े ने पूछा कि टीटी हाट बाजार में कितनी दुकानें लगती हैं और यहां कितनी शिफ्ट की जाएंगी। इस पर भारद्वाज ने जवाब दिया कि 70 ठेले लगते हैं। कलेक्टर ने कहा कि आपको जानकारी नहीं है।..
                 

जिनालय में वासुपूज्य स्वामी के मोक्ष कल्याणक पर चढ़ाएंगे निर्वाण लाड़ू

चौक जैन धर्मशाला में पर्यूषण पर्व की पूर्व बेला में अनुष्ठान के बाद भक्ति नृत्य किया। भोपाल| दस दिवसीय पर्यूषण पर्व का समापन गुरुवार को शहर के विभिन्न जिनालयों में विशेष पूजा-अर्चना व श्रीजी की शोभायात्रा के साथ होगा। चौक दिगंबर जैन धर्मशाला से मुनिश्री प्रसाद सागर, मुनिश्री शैल सागर व मुनिश्री निकलंक सागर के सान्निध्य में दोपहर एक बजे शोभायात्रा निकलेगी। इसी तरह अशोका गार्डन जिनालय से सुबह 10 बजे अाचार्यश्री अार्जव सागर के सान्निध्य में शोभायात्रा का अायोजन किया जाएगा। साकेत नगर जिनालय में वासुपूज्य स्वामी के मोक्ष कल्याणक पर निर्वाण लाडू चढ़ाए जाएंगे। दोपहर 3 बजे भगवान महावीर स्वामी का कलशाभिषेक होगा। शंकराचार्य नगर जैन मंदिर में मुनिश्री पुराण सागर महाराज के प्रवचन होंगे। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Bhopal News - mp news nirvana ladoo to offer vasupujya swamy39s salvation welfare..
                 

रेलवे में नौकरी दिलाने के नाम पर महिला ने बेरोजगारों से ऐंठ लिए एक करोड़ रुपए

रेलवे में ए ग्रेड पद पर क्लर्क की नौकरी दिलाने के नाम पर मिनाल रेसीडेंसी निवासी एक महिला ने दमोह, ग्वालियर, भोपाल और जबलपुर के 500 से ज्यादा बेरोजगारों से एक करोड़ रुपए ऐंठ लिए। वह खुद ही नियुक्ति पत्र जारी कर भारतीय रेल की सील लगा देती थी। इस जालसाजी का खुलासा तब हुआ, जब तय समय के बाद भी बेरोजगारों के घर नियुक्ति पत्र नहीं पहुंचा। दमोह पुलिस ने महिला को गिरफ्तार कर लिया है। उसने अब तक दमोह के 12 बेरोजगारों से रकम ऐंठना कबूल किया है। उसके पकड़े जाने की सूचना पर भोपाल और ग्वालियर के बेरोजगार भी दमोह पहुंच रहे हैं। उसने दमोह के एक परिवार के सात सदस्यों से नियुक्ति दिलाने के नाम पर रकम ऐंठ ली। दमाेह के कोतवाली टीआई एचआर पांडे ने बताया कि मिनाल रेसीडेंसी के गेट नंबर 2 के पास रहने वाली ममता रैकवार का भोपाल मेमोरियल हॉस्पिटल में आना-जाना था। इसी अस्पताल में दमोह निवासी राजेश चौरसिया अपनी प|ी राधा का इलाज कराने गए थे। इस बीच ममता से उनकी मुलाकात हो गई तो ममता ने उन्हें रेलवे में नौकरी दिलाने का झांसा दिया। जिस पर राजेश ने 4 लाख 20 हजार की राशि ममता को दे दी और ए ग्रेड क्लर्क की नौकरी के लिए आव..
                 

शाहजहांनी पार्क का हाल देखने पहुंचे पीसीबी के सदस्य सचिव और वेटलैंड अथॉरिटी प्रमुख

भोपाल | नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) के आदेश पर राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के मेंबर सचिव अच्युत आनंद मिश्रा और स्टेट वेटलैंड अथॉरिटी की प्रमुख डॉ. विनीता विपट ने बुधवार को यादगारे शाहजहांनी पार्क का निरीक्षण किया। दोनों को एनजीटी ने पार्क से जुड़े केस में कोर्ट कमिश्नर नियुक्त किया है। निरीक्षण के दौरान नगर निगम की उद्यान शाखा, झील प्रकोष्ठ समेत अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद थे। उन्हाेंने बताया कि पार्क में निर्माणाधीन सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट (एसटीपी) का निर्माण रोक दिया गया है। कचरा ट्रांसफर स्टेशन की शिफ्टिंग पर अब कोई निर्णय नहीं लिया जा सका है। एनजीटी ने 29 अगस्त को इस केस में सुनवाई करते हुए दोनों को पार्क का निरीक्षण कर वस्तुस्थिति का पता लगाने और उसके आधार पर 29 सितंबर तक रिपोर्ट देने का आदेश दिया था। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today..
                 

राहुल गांधी को नहीं करनी थी 10 दिन में कर्जमाफी की घोषणा : लक्ष्मण सिंह

                 

50 रुपए किलो पहुंचे प्याज के दाम, अभी और बढ़ेंगे

भोपाल। मंडी में आवक कम होने से बाजार में अच्छे प्याज के दाम 50 रुपए किलो तक पहुंच गए हैं। जबकि खराब क्वालिटी की प्याज भी 30 रुपए प्रति किलो तक ग्राहकों को मिल रही है। बाजार में प्याज के दाम बढ़ने का कारण किसानों के पास प्याज का स्टाक खत्म होना है। दीवाली तक यही स्थिति रहेगी। अगर नया प्याज बाजार में नहीं आया तो दाम 60 से 80 रुपए किलो तक भी पहुंच सकते हैं..
                 

बिल्डर्स एसाेसिएशन से बाेले सीएम- मुझे सारी गड़बड़ी पता है, एक-दाे दिन में निर्णय हाे जाएगा

भोपाल .होशंगाबाद में रेत परिवहन पर कलेक्टर शीलेंद्र सिंह और एसडीएम रवीश श्रीवास्तव के विवाद से मुख्यमंत्री कमलनाथ खासे नाराज हैं। बुधवार काे कलेक्टर शीलेंद्र सिंह की पैरवी करने के लिए होशंगाबाद बिल्डर्स एसोसिएशन के पदाधिकारी मुख्यमंत्री से मिले। उनके मुताबिक मुख्यमंत्री ने दो टूक कह दिया कि मुझे सारी गड़बड़ी पता है। एक दो दिन इंतजार कीजिए, निर्णय हो जाएगा। एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने सीएम से कहा कि एसडीएम रवीश श्रीवास्तव काे तत्काल पद से हटा देना चाहिए। एसोसिएशन के मुताबिक इस पर सीएम ने कहा कि जल्द कार्रवाई की जाएगी।सीएस के लाैटने पर फैसला :कमिश्नर रवींद्र कुमार मिश्रा की जांच रिपोर्ट मुख्य सचिव एसआर मोहंती और सामान्य प्रशासन विभाग की प्रमुख सचिव दीप्ति गौड़ मुखर्जी के पास पहुंच चुकी है। जांच में अफसरों की गलती सामने आई है। सीएस के दिल्ली से लौटने पर कार्रवाई पर फैसला होगा।मंत्री बोले- कार्रवाई जरूर होगी :पर्यावरण मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने कहा, ई-पोर्टल बंद होना था। किन जिलों ने इसका उल्लंघन किया है, इसकी 3 दिन में रिपोर्ट मांगी है, ताकि प्रकरण दर्ज कराया जाए। वहीं खनिज मंत्री प्रदीप जाय..
                 

नगरीय निकाय के 70 हजार कर्मियाें को भी मिलेगा समयमान-वेतनमान

भोपाल | प्रदेश के नगरीय निकायों के करीब 70 हजार कर्मचारियाें काे भी अन्य शासकीय कर्मियाें की तरह समयमान-वेतनमान मिलेगा। नगरीय विकास एवं आवास मंत्री जयवर्धन सिंह ने बुधवार को बताया कि इस संबंध में आदेश जारी कर दिया गया है।नगरीय निकाय के कर्मचारी लंबे समय से मांग कर रहे थे। वित्त विभाग के वर्ष 2008, 2014 और 2015 में जारी आदेशाें के अनुसार अधिकारियों-कर्मचारियों को समयमान-वेतनमान स्वीकृत करने के लिए नगरीय निकायों को ही अधिकृत किया गया है यानी इसे लागू करें या नहीं। यह निकाय ही तय करेंगे और इसका खर्च उठाएंगे। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today 70 thousand workers of urban body will also get time-scale pay..
                 

शिवराज का षड्यंत्र बेनकाब, सरकार ने सही समय में गांधी सागर से छोड़ा पानी : पीसी शर्मा

भोपाल. जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर आरोप लगाते हुए बुधवार कोकहा कि गांधी सागर बांध से सही समय पर पानी छोड़ा गया है, लेकिन श्री चौहान बांध से पानी छोड़े जाने को लेकर झूठ बोलकर षड्यंत्र कर रहे हैं, जो बेनकाब हो चुका है।कांग्रेस की प्रदेशमीडिया विभाग की अध्यक्ष शोभा ओझा और उपाध्यक्ष अभय दुबे के साथ संयुक्त पत्रकार वार्ता में पीसी शर्मा नेकहा कि गांधी सागर बांध से सही समय पर पानी छोड़ा गया है, इसमें कांग्रेस सरकार की ओर से कोई लापरवाही नहीं बरती गयी है। शिवराजसिंह चौहान कांग्रेस सरकार की छवि को धूमिल करने के उद्देश्य से झूठा षड्यंत्र कर रहे हैं।शर्मा ने कहा कि सेंट्रल वाॅटर कमीशन का एक दल गांधी सागर बांध की बीते दिनों की परिस्थितियों का जायजा लेने के लिए बांध स्थल पहुंचा। इस दल ने बांध पर निर्मित परिस्थितियों के दृष्टिगत प्रदेश सरकार के जल संसाधन विभाग की तारीफकरते हुए इस बात को अभिप्रमाणित किया कि सरकार ने गांधी सागर बांध पर बने बाढ़ के हालात को बेहतर तरीके से संभाला। पीसी शर्मा ने कहा केंद्रीयदल ने प्रथम दृष्टया मप्र जल संसाधन विभाग के निर्णय को सही..
                 

इस ऐड के जरिए 60 साल के सांस्कृतिक बदलाव को दिखाना चाहते थे: ऐड गुरु पीयूष पांडेय

भोपाल.'हाय रे शर्माइन का सोफा'... यह ऐडइन दिनों दिलो-दिमाग पर छाया है और देखने वालों को चाहे-अनचाहे उन चीजों की याद दिला ही दे रहा है, जो उनके घरों में पीढ़ियों से हैं। पुरानी चीजेंं, उनसे जुड़ी यादें और कहानियां। शहर के कुछ ऐसे ही परिवारों से हमने जाना कि ऐसी कौन सी चीजें उनके पास हैं जिनकी उम्र 100 साल से ज्यादा है और इनसे क्या यादें जुड़ी हैं। इस ऐड के जनकपीयूष पाण्डेय और प्रसून पाण्डेय ने भास्करसे खासबातचीत में बताई कहानी...उस सोफे की कहानी जो ऐड की प्रेरणा बनीइस ऐड काे तैयार किया है ओगिल्वी इंडिया के चीफ क्रिएटिव ऑफिसर वर्ल्ड पीयूष पाण्डेय, उनके भाई काॅरकाॅइस फिल्म के डायरेक्टर प्रसून पाण्डेय और पिडिलाइट ने। पीयूष कहते हैं- आइडिया प्रसून काे आया था। हम इस ऐड में 60 सालों के कल्चरल चेंज को दिखाना चाहते थे, कैसे इन 60 सालों में किसी ने समय को बदलते हुए देखा है। हम अक्सर लोक धुनों पर काम करते हैं और शायद यही वजह है कि यह धुनें जु़बान पर चढ़ जाती हैं।आइडिया कैसे आया, इसकी कहानी प्रसून ने सुनाई- फेविकोल के 60 साल पर हम एक कहानी शूट करने जा रहे थे, तो किसी ने कहा इसमें '60 साल' जैसा कुछ आना..
                 

स्कूलों में शुरू होंगी स्पेशल क्लास, तीन तकनीक पर पढ़ाई, बोर्ड परीक्षार्थियों के लिए शुरू की गई सुविधा

                 

हादसा...चलती स्कूल वैन में लगी आग, तीन फीट तक उठीं लपटें

भोपाल। नरसिंहगढ़ तिराहा पर चलती स्कूल वैन में आग लगने से दहशत फैल गई। गनीमत रही कि हादसे के वक्त वैन में बच्चे नहीं थे और वक्त रहते ड्राइवर ने बाहर निकलकर अपनी जान बचाई।गांधीनगर थाना प्रभारी तरुण भाटी ने बताया कि हादसा मंगलवार शाम करीब सवा पांच बजे हुआ। जब तक पुलिस पहुंची, तब तक फायर ब्रिगेड की टीम ने आग पर काबू पा लिया। आग की लपटें करीब तीन फीट ऊपर तक उठ रही थीं। रात दस बजे तक वैन संचालक ने आगजनी की शिकायत नहीं की थी। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक हादसे के वक्त वैन में सिर्फ ड्राइवर था, जो बच्चों को छोड़कर लौट रहा था।आग से वैन का नंबर और स्कूल का नाम भी जल गया है, इससे फिलहाल पता नहीं चला है कि इसका मालिक कौन है? अंदाजा है कि आग शॉर्ट सर्किट के कारण लगी होगी। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today mp news bhopal moving school van catches fire..
                 

संदिग्ध स्थितियों में झुलसी मिली मैनिट छात्रा की मौत, मजिस्ट्रेट से बोली- खुद लगाई थी आग

भोपाल .रातीबड़ थाने से चार किमी आगे सेमरी जोड़ के पास संदिग्ध परिस्थितियों में आग से झुलसी मैनिट की एमटेक छात्रा लक्षिका मेहरा ने आठ दिन चले इलाज के बाद दम तोड़ दिया। मजिस्ट्रेट को दिए बयान में उसने खुद पेट्रोल डालकर आग लगाने की बात कही है। पिता ने उसे कुछ दिनों से तनाव में रहने और एक जूनियर से विवाद होने का आरोप लगाया है। छात्रा के शरीर का पिछला हिस्सा ही आग से झुलसा है, जहां खुद पेट्रोल उड़ेलना थोड़ा मुश्किल है।अब सवाल ये है कि छात्रा घर से करीब 25 किमी दूर गई क्यों और यदि उसे किसी ने जलाया है तो उसने अपने बयान में किसी का नाम क्यों नहीं लिया? थाना प्रभारी जेपी त्रिपाठी के मुताबिक मजिस्ट्रेट द्वारा लिए गए मृत्युपूर्व बयान में लक्षिका ने खुद ही पेट्रोल डालकर आग लगाने की बात कही है। ये स्पॉट थाने से 4 किमी आगे सेमरी जोड़ पर है। जब वह झुलसने लगी तो बचने के लिए उसने पानी से भरे खेत में छलांग लगा दी।अब रातीबड़ पुलिस तलाशेगी इन 4 सवालों के जवाब1- लक्षिका ने यदि खुद आग लगाई तो केवल पीठ और कमर का हिस्सा ही क्यों झुलसा?2- कॉलेज से करीब 13 किमी दूर क्या वह अकेले गई थी?3- छात्रा ने झुलसने के बाद सुनील..