जागरण हिन्दुस्तान दैनिक भास्कर नईदुनिया नवभारत टाइम्स

संवेदनशील इलाका झंडा चाैक पहुंचे डीजीपी, पुलिसकर्मियों को गाइड लाइन फॉलो करने के निर्देश दिए

टाटपट्‌टी बाखल में मेडिकल टीम पर पथराव के बाद शुक्रवार को डीजीपी विवेक जौहरी ने झंडा चाैक, रानीपुरा समेत कई संवेदनशील क्षेत्रोंका दौरा किया। इस दौरान उन्होंने संक्रमित इलाकों में ड्यूटी करने वाले पुलिस जवानों को खुद का ख्याल रखने को कहा। उन्होंनेसमय-समय पर सैनिटाइज करने की सलाह भी दी। वहीं, जूनी थाना क्षेत्र में कुछ पुलिसकर्मियों को क्वारैंटाइन किए जाने को लेकर कहा- पुलिसवाले कोई जनता से अलग नहीं हैं, जो मेडिकल प्रोटोकॉल आम जनता के लिए है, वही पुलिसवालों के लिए भी है। टीआई रिकवर कर रहे हैं।जल्द ही आपको थाने में नजर आएंगे।डीजीपी ने कहा-इंदौर में बहुत ही कठिन लड़ाई जारी है। मैंने जूनी इंदौर, रानीपुरा और टाटपट्‌टी बाखल का निरीक्षण किया है। अभी और क्षेत्रों का भी दौरा कर रहा हूं। पुलिस, मेडिकल स्टाफ सभी ने काफी मेहनत से काम किया है। लोग लॉकडाउन के नियमों का पालन करें। थोड़ा सा समय और बचा है यदि हमने इस समय को निकल लिया तो उतना ही हम बच पाएंगे। जिस एरिए में नहीं फैला है वे लॉकडाउन का पालन करें और जहां फैल गया है वे आइसोलेशन का पालन करें। ऐसा कर हम इस लड़ाई को आराम से जीत सकते हैं। टा..
                 

उज्जैन में मृतक महिला का पति भी कोरोना संक्रमित, परिवार के 6 पॉजिटिव, शहर में कुल 7 केस; 3 संदिग्धों ने भी दम तोड़ा

शहर मेंशुक्रवार को कोरोना का 7वां पॉजिटिव मरीज मिला।यह मृतक महिला का पति है। इनके परिवार के छह लोग कोरोना पॉजिटिव हैं। वहीं, एक अन्यव्यवसायी की मौत हो चुकी है। दूसरी ओर,शुक्रवार को हीतीन अलग-अलग क्षेत्र में रहने वाले मरीजों ने दम तोड़ दिया। तीनों ही मृतकों का काेरोना संदिग्ध मानकर इलाज किया जा रहा था। प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग को इनकी रिपोर्ट आने का इंतजार है। जानकारी अनुसा शास्त्री नगर निवासी 40 वर्षीय व्यक्ति, बहादुरगंज स्थित भाटगली निवासी पूर्व छात्र नेता और भाटगली निवासी 40 वर्षीय व्यक्ति की मौत हो गई। हालांकि अभी तीनोंमें ही कोरोना संक्रमण की पुष्टि नहीं हुई है। शास्त्री नगर के युवक की मौत के बाद उसकी पत्नी को आइसोलेट किया गया है। वहीं परिवार के अन्य 10 लोगों के भी सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं।99 सैंपल में से 77 की रिपोर्ट निगेटिवस्वास्थ्य विभाग की टीम ने गुरुवार को 8 मरीजों की स्क्रीनिंग और उनके सैंपल लिए हैं, जिन्हें जांच के लिए भोपाल भेजा है। अब तक जांच के लिए 99 सैंपल लिए, जिनमें से 77 की रिपोर्ट निगेटिव आई है। वहीं, 7मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गईहै। अभी जिन लोगों की रिपोर..
                 

कर्फ्यू में भी सामान बेच रहे तीन दुकानदार और ग्राहकों पर केस, पुलिस ने गिरफ्तार किया

इंदौर.कर्फ्यू में भी सामान बेच रहे तीन दुकानदार और उनके ग्राहकों के खिलाफ पुलिस ने केस दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया। संयोगितागंज पुलिस ने छावनी क्षेत्र के उषागंज में सामान बेच रहे प्रियंका किराना स्टोर्स के दुकानदार प्रतीक माहेश्वरी, उसके नौकर अनिल पटेल और ग्राहक दीपक वर्मा के खिलाफ केस दर्ज किया है। ये लोग गुरुवार सुबह पौने 11 बजे दुकान में मौजूद थे।पुलिस ने बताया किइसी तरह आरएनटी मार्ग स्थित केशरीमल मांगीलाल किराना स्टोर्स पर दुकानदार समर्थ खंडेलवाल और ग्राहक कान्हा उर्फ जय वर्मा निवासी शंकरबाग के खिलाफ केस दर्ज किया। इसी तरह आरएनटी मार्ग स्थित लक्ष्मीनारायण दूध वाले के पास दुकान खोलकर दूध बेच रहे ऋषभ के खिलाफ भी कार्रवाई की। परदेशीपुरा में भी बिना पास के पिकअप गाड़ी लेकर घूम रहे ड्राइवर विशाल पचौरी निवासी अकोदिया (शाजापुर) को पकड़ा है। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today पूरा लॉकडाउन के बाद भी लोग कानून व्यवस्था का पालन नहीं कर रहे हैं।..
                 

कोरोनावायरस के नए मरीज मिलने पर 11 इलाके कैंटोनमेंट एरिया घोषित, कुल 37 क्षेत्र प्रतिबंधित हो चुके

कोरोनावायरस के नए पॉजिटिव मरीज सामने आने पर प्रशासन द्वारा इन मरीजों के 11 घरों को एपिसेंटर घोषित किया है। इन घरों से व्यवहारिक दूरी के क्षेत्र को कैंटोनमेंट एरिया भी घोषित किया गया है। अब इंदौर में कैंटोनमेंट क्षेत्रों की कुल संख्या 37 हो गई है। इन क्षेत्रों के सभी घरों का सर्वे निर्धारित प्रपत्र में प्रशासन की टीम द्वारा अनिवार्य रूप से किया जाएगा। इसके लिए अलग-अलग टीमों का गठन किया गया है। पहले प्रशासन द्वारा पॉजिटिव मरीजों के घरों से तीन किमी के क्षेत्र को कैंटोनमेंट घोषित किया जाता था लेकिन अब तीन किमी के स्थान पर व्यवहारिक दूरी तक का उल्लेख किया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि इंदौर में कोरोनावायरस के मरीजों की संख्या बढ़कर 89 हो गई है।प्रशासन के अनुसार कैंटोनमेंट क्षेत्र में आवागमन पूर्ण रूप से प्रतिबंधित रहेगा। यहां रहने वाले सभी लोगों की जांच की जाएगी एवं कोरोना वायरस के संभावित लक्षण जैसे बुखार, खासी, गले में दर्द एवं सांस लेने में तकलीफ आदि नजर आने पर होम क्वारैंटाइनकर जांच की जाएगी। जांच का परिणाम आने तक जिनको होम क्वारैंटाइनकिया गया है उनका प्रतिदिन फॉलोअप लिया जाएगा। नगर निगम द..
                 

राऊ के दो बच्चों ने पेश की मिसाल, जन्मदिन पर अपने गल्ले में जमा किए दस हजार रुपए गरीबों को भोजन के लिए दिए

इंदौर.कोरोना के कहर से पूरा शहर जूझ रहा है, जहां कई लोग भोजन के लिए परेशान हैं। वहीं, राऊ के दो मासूमों ने अपने जन्मदिन पर अनूठी पहल की है। दोनों ने अपना जन्मदिन सेलिब्रेट करने के बजाय गांव की ही एक नर-नारायणी संस्था व पुलिस को 10 हजार रुपए की आर्थिक मदद दी है। खास बात यह है कि ये रुपए दोनों ने अपने पॉकेट मनी से जोड़े थे। उनकी इस पहल की चर्चा अब पूरे राऊ में चल रही है।राऊ टीआई दिनेश वर्मा के अनुसार उन्हे व भाजपा नेता शिव डिंगू को गांव के किसान विनोद सूले के घर से फोन आया था। उन्होंने एक महत्वपूर्ण काम के लिए बुलाया था। जब वे सूले के घर पहुंचे तो वहां उनकी 16 साल की बेटी मेहती ने उनका अभिवादन किया। आते ही मेहती बोली कि अंकल आज मेरा जन्मदिन है। 10वीं में पढ़ने वाली मेहती ने अपने पास रखे 5100 रुपए टीआई के हाथ में रख दिए। बोली कि ये मैंने अपनी पॉकेट मनी सेजोड़े थे। उसने रुपए तो किसी और काम के लिए जोड़े थे, लेकिन आज देश के लोगों कोइसकी जरूरत ज्यादा है। हर क्लास में 95 प्रतिशत से ज्यादा लाने वाली मेहती की इस पहल को देखकर उसके माता-पिता, टीआई और भाजपा नेता भी अचरज में पड़ गए। मेहती ने कहा कि उ..
                 

टाट-पट्‌टी बाखल में डाॅक्टरों पर हमला करने वाले 6 और गिरफ्तार, इलाके में जुलूस भी निकाला

इंदौर.टाट-पट्‌टी बाखल में संक्रमितों की स्क्रीनिंग करने पहुंची डाॅक्टरों की टीम पर पथराव कर जानलेवा हमला करने वाले 6 आरोपी को छत्रीपुरा पुलिस ने और गिरफ्तार किया है। इसे मिलाकर कुल 13आरोपी अब तक पकड़े जा चुके हैं। वहीं, अब भी पुलिस कई आरोपियों की तलाश में जुटी है। देर रात पुलिस की एक टीम ने टाट पट्‌टी बाखल में जाकर वीडियो के आधार पर पथराव करने वाले आरोपियों को चिन्हित किया और उनका इलाके में जुलूस भी निकाला।सीएसपी डी के तिवारी ने बताया कि गुरुवार को हुई गिरफ्तारी के अलावा 6 और आरोपियों को हमारी टीम ने पकड़ा है। इनमें आरोपी मोहम्मद नावेद (20) पिता मोहम्मद रईस, मोहम्मद साजिद (32)पिता आबिद, मोहम्मद युसूफ (35) पिता अब्दुल करीम,मो. सावेज (23) पिता राईस, मो. अनास (21) पिता मो. शाकिर और नफीस (29) पिता अब्दुल रजाक सभी निवासी टाट पट्‌टी बाखल को गिरफ्तार किया है।पहले पकड़ाए सात में से चार पर रासुका की कार्रवाईकोरोना संक्रमितों की जांच करने के लिए बुधवार को टाटपट्‌टी बाखल में पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम पर हमला करने के मामले में पुलिस ने7 लोगों को पहले हीगिरफ्तार कर लिया था। इनम..
                 

इंदौर में अब तक 1500 लोगों को क्वारेंटाइन किया गया, शनिवार से आंगनवाड़ी और आशा कार्यकर्ताओं की विशेष टीम भी करेगी सर्वे

कोरोनावयरस से बचाव के लिए शहर में अब तक 1500 लोगों को क्वारेंटाइन किया गया है। शनिवार से आंगनवाड़ी और आशा कार्यकर्ताओं की विशेष टीम भी कोरोना प्रभावित क्षेत्रों में सर्वे के लिए उतरेगी। कोरोना पॉजिटिव मरीजों के प्राथमिक संपर्क जिसमें परिजन शामिल है के अलावा सेकंडरी कांटेक्ट का भी सर्वे किया जा रहा है।सीएमएचओ डॉक्टर प्रवीण जड़िया के अनुसार गुरुवार रात इंदौर मेडिकल कॉलेज की रिपोर्ट में 7 मरीज पॉजिटिव थे वहीं भोपाल के गांधी मेडिकल कॉलेज से प्राप्त रिपोर्ट में भी 7 मरीजों में कोरोनावायरस की पुष्टि हुई थी। इस प्रकार इंदौर में पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़कर 89 हो गई है।डॉक्टर जड़िया ने बताया कि अब तक इंदौर में कुल 1500 लोगों को क्वारेंटाइन किया जा चुका है। गुुरुवार को 350 लोगों का सर्वे मेडिकल टीम द्वारा किया गया जिसमें से 85 लोगों को होम क्वारेंटाइन किया गया और 15 लोगों को आइसोलेशन के लिए क्वारेंटाइन सेंटर भेजा गया।शनिवार से आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं और आशा कार्यकर्ताओं की विशेष टीम भी कोरोना प्रभावित क्षेत्रों में सर्वे के लिए उतरेगी। लगभग 200 कार्यकर्ताओं को इस टीम में शामिल किया गया है। यह टीम व..
                 

भाेजन बांटने में पक्षपात, विराेध किया ताे रहवासी काे पीटा, पार्षद पति सहित तीन पर केस दर्ज

माधव नगर थाना क्षेत्र के किशनपुरा में पार्षद पति एवं पूर्व पार्षद जितेंद्र उर्फ नाना तिलकर ने अपने भाइयों के साथ मिलकर एक रहवासी व उसके परिवार से मारपीट कर दी। रहवासी का गुनाह इतना था कि उसने पक्षपात पूर्ण भोजन बांटने का विरोध किया था। इसे लेकर कलेक्टर से शिकायत की थी। इसी बात से नाराज होकर तिलकर ने गुरुवार को दो अन्य साथियों के साथ भोजन वितरण के दौरान रहवासी को पीटकर घायल कर दिया। पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।टीआई राकेश मोदी ने बताया किशनपुरा के रहने वाले कुलदीप पिता श्यामलाल की शिकायत पर जितेंद्र उर्फ नाना तिलकर उसके भाई योगेंद्र तिलकर एवं एक अन्य के खिलाफ मारपीट का केस दर्ज किया है। कुलदीप एवं उसके परिवार की एक महिला को भी चोट लगी है, उनकी एमएलसी कराई है। कुलदीप का कहना है कि तिलकर की पत्नी मीना तिलकर पार्षद हैं। इसी कारण लॉकडाउन के दौरान प्रशासन ने वार्ड के गरीब लोगों के बीच उन्हें भोजन वितरण की जिम्मेदारी सौंपी है। दो-तीन दिनों से पार्षद पति एवं उसके साथी अपने दोस्तों एवं अपनी पार्टी के लोगों को ही भोजन उपलब्ध करा रहे हैं। इसी बात का विरोध किया था तो उन्होंने लात-घूंसे ..
                 

डॉक्टरों पर हमला किया तो अब खैर नहीं, टाटपट्टी बाखल में पुलिस का फ्लैग मार्च

टाटपट्‌टी बाखल में गुरुवार को आईजी विवेक शर्मा दौरा करने पहुंचे। इस दौरान एसपी पश्चिम महेशचंद जैन भी मौजूद थे। आईजी शर्मा ने लोगों से अपील की कि डॉक्टर्स आप लोगों के स्वास्थ्य की चिंता में चेकअप के लिए आ रहे हैं। ऐसे में उन पर हमला करना ठीक नहीं। इसके बाद शाम को भारी फोर्स के साथ पुलिस की आठ गाड़ियों के काफिले ने फ्लैग मार्च निकाला।ड्रोन से रख रहे नजरगुरुवार को डीआईजी हरिनारायणाचारी मिश्र के निर्देश पर टाटपट्‌टी बाखल की तंग गलियों को पूरी तरह से सील करवा दिया गया। पुलिस ने ड्रोन से पूरे इलाके में नजर रखी। कुछ लोगों को लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर धारा 188 की कार्रवाई के लिए चिह्नित किया है। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today आईजी शर्मा ने लोगों से अपील की कि डॉक्टर्स आप लोगों के स्वास्थ्य की चिंता में चेकअप के लिए आ रहे हैं।..
                 

चार दिन तक टीबी अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में रहे उद्योगपति बोले- न खाने की व्यवस्था न साबुन, सैनिटाइजर

शहर के उद्योगपति नरेश वसाइनी पिछले दिनों केरल गए थे। कोरोना संक्रमण की आशंका के चलते उन्होंने 24 मार्च को एमआर टीबी हॉस्पिटल पहुंचकर जांच करवाई। डॉक्टरों ने उन्हें 27 मार्च तक भर्ती रखा। भास्कर से उन्होंने आपबीती साझा की और संभागायुक्त के साथ कलेक्टर से अपील की कि इस व्यवस्था को सुधारा जाए ताकि आइसोलेशन वार्ड में रह रहे लोगों के साथ अमानवीय व्यवहार न हो।नरेश वसाइनी ने बताया ‘मेरे साथ इटारसी के रहने वाले गुरतेज सिंह भाटिया भी थे। वे भी जांच करवाने आए थे। सैंपल लेने के बाद डॉक्टरों ने कहा कि दो दिन में रिपोर्ट आ जाएगी तब तक आपको भर्ती रहना होगा। इसके बाद हमें एक ही वाहन से गुजराती कॉलेज के सामने स्थित लाल अस्पताल ले जाया गया। वहां चौथी मंजिल पर हम तीन दिन भर्ती रहे। 26 मार्च की शाम को हमें कहा गया कि आपकी रिपोर्ट निगेटिव आई है और सामान लेकर नीचे आ जाएं।हम पांच पेशेंट नीचे उतरे। मैंने नर्स से कहा कि मैं गाड़ी बुलवा लेता हूं तो हमें कहा गया कि शहर में कर्फ्यू है। आपकोहमारी गाड़ी से छोड़ेंगे। इसके बाद फिर एक गाड़ी से हमें रात 9 बजे सेंट्रल कोतवाली थाने के सामने स्थित एमटीएच अस्पताल की चौथ..
                 

डॉक्टरों पर हमला करने वाले 4 पर रासुका, जेल भेजा; कुल 7 अरेस्ट, वकीलों ने पैरवी से मना किया

कोरोना संक्रमितों की जांच करने के लिए बुधवार को टाटपट्‌टी बाखल में पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम पर हमला करने के मामले में पुलिस ने 7 लोगों को गिरफ्तार किया है। इनमें से 4 आरोपियों पर रासुका लगाकर रीवा सेंट्रल जेल भेज दिया गया है। इधर, इंदौर अभिभाषक संघ ने आरोपियों की पैरवी करने से मना दिया है। इसी बीच, गुरुवार रात आई रिपोर्ट में 14 नए पॉजिटिव मिले हैं। स्कीम नं. 71 के दो घरों में तीन मरीज सामने आए।संक्रमण के कारण दो और लोगों की मौत हो गई। खजराना क्षेत्र निवासी 65 वर्षीय महिला ने सुबह दम तोड़ दिया। वहीं, मोती तबेला निवासी 54 वर्षीय पुरुष की भी मौत हो गई, जिनकी जांच रिपोर्ट बुधवार रात को ही आई थी। इसे मिलाकर अब तक आठ मरीजों की मौत संक्रमण से हो चुकी है। इनमें से पांच इंदौर, दो उज्जैन और एक मरीज खरगोन जिले से हैं। एमजीएम मेडिकल कॉलेज प्रशासन के अनुसार महिला ने सुबह 9.20 बजे एमआर टीबी अस्पताल में दम तोड़ा। 26 मार्च को उनकी रिपोर्ट में संक्रमण की पुष्टिहुई थी।मोती तबेला निवासी मरीज को 29 मार्च को संदिग्ध मानकर भर्ती किया गया था। एमवायएच के चेस्ट वार्ड में भर्ती इस मरीज की भी किसी प्रकार..
                 

इंदौर में मेडिकल टीम पर पथराव से मुख्यमंत्री नाराज, बोले- मानवाधिकार सिर्फ मानवों के लिए होते हैं, दोषियों को बख्शेंगे नहीं

कोरोना जांच के लिए गए स्वास्थ्य कर्मचारियों से बुधवार को अभद्रता औरपथराव की घटना परगुरुवार काे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने नाराजगी जताई। उन्होंनेकहा कि दोषियों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा। मानवता को बचाने के लिए आपके काम में बाधा डालने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा- ‘ये सिर्फ एक ट्वीट नहीं है। ये कड़ी चेतावनी है.... मानवाधिकार सिर्फ मानवों के लिए होते हैं। वहीं, इंदौरकलेक्टर ने कहा-ऐसी घटना को अंजाम देने वालोंपर ऐसी कार्रवाई की जा रही है कि आगे से कोई ऐसा करने से पहले सोचेगा।मुख्यमंत्री ने तीन ट्वीट कर चेतावनी दी... कोविड -19 के खिलाफ युद्ध लड़ने वाले मेरे सभी डॉक्टर्स, नर्सेज़, पैरामेडिकल स्टाफ, एएनएम, आशा कार्यकर्ता, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता और नगरीय निकाय कर्मचारी, आप कोरोना के खिलाफ अपनी लड़ाई जारी रखें, आपकी संपूर्ण सुरक्षा की जिम्मेदारी मेरी है। मैं आपकी कर्तव्यनिष्ठा को प्रणाम करता हूं। इंदौर में हुई दुर्भाग्यपूर्ण घटना में शामिल अराजकतत्वों को किसी भी कीमत पर नहीं छोड़ा जाएगा। पीड़ित मानवता को बचाने के आपके कार्य में कोई भी बाधा डालेगा तो उसके खिल..
                 

तब्लीगी मरकज के 25 जमातियों को इंदौर में खोजा, 15 दिन के लिए किया क्वारेंटाइन

तब्लीगी मकरज के 25 जमातियों को इंदौर में खोजा गया है। ग्रीन पार्क और रानी पैलेस में मिले इन जमातियों में 5 दंपत्ति असम के व 15 व्यक्ति दिल्ली और अन्य स्थानों के है। इन्हें 15 दिन के लिए क्वारेंटाइन किया गया है।मप्र के कई शहरों में जमात के लोगों के होने की खबर के बाद मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में इनकी खोजबीन की जा रही थी। बुधवार रात चंदन नगर क्षेत्र की ग्रीन पार्क और रानी पैलेस की मस्जिदों से 25 महिलाओं और पुरुषों को प्रशासन ने ताराकुंज गार्डन में क्वारेंटाइन के लिए भेज दिया है। इन्हें 15 दिनों के लिए अलग-अलग कमरों में रखा गया है।जानकारी के अनुसार जमातियों की तलाश कर रही पुलिस की टीम को बुधवार रात सूचना मिली थी कि ग्रीन पार्क कॉलोनी स्थित उमर फारूक मस्जिद में असम में रहने वाले तबलीगी जमात के 5 दंपत्ति और रानी पैलेस स्थित मदरसा मस्जीत हनीफिया में दिल्ली से आए 15 जमातियों के रहने की सूचना मिली थी। पूछताछ में उन्होंने बातया कि वे 25 फरवरी से इंदौर में है। डॉक्टरों की टीम द्वारा सभी का चेकअप किया गया। किसी को भी स्वास्थ्य संबधी कोई परेशानी सामने नहीं आई है लेकिन एहतियात के तौर पर उन्हें स्कीम ..
                 

टाटपट्टी बाखल में स्वास्थ्य विभाग की टीम पर पथराव करने वाले मुख्य आरोपी समेत 4 गिरफ्तार

बुधवार को कोरोना संक्रमितों की जांच करने टाटपट्टी बाखल पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम पर पथराव करने वाले मुख्य आरोपी समेत 4को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने वीडियो फुटेज के आधार पर 10 लोगों के खिलाफ शासकीय कार्य में बाधा समेत अन्य धाराओं में केस दर्ज किया। डीआईजी हरिनारायणाचारी मिश्र ने बतायाकि दोषियों की पहचान वीडियो फुटेज के आधार पर की गई है।छत्रीपुरा टीआई के अनुसार, घटना बुधवार दोपहर सवा बजे टाटपट्टी बाखल में हुई थी। सिलावटपुरा में एक कोरोना पॉजिटिव की मौत के बाद यहां स्वास्थ्य विभाग की टीम लगातार स्क्रीनिंग कर रही है। संदिग्धों की जांच की जा रही है। इसी दौरान यहां लोगों ने पथराव कर दिया था। वहीं, स्वास्थ्य विभाग की एक महिलाकर्मी ने पुलिस को बताया कि बुधवार को एक पॉजिटिव के कॉन्टेक्ट की हिस्ट्री मिली थी। वे उसे देखने के लिए वहां गए थे। टीम ने जैसे ही उसके बारे में पूछना शुरू किया तो सामने से आए कुछ उपद्रवियों ने पत्थर फेंकना शुरू कर दिया। टीम कुछ समझ पाती इसके पहले ही चेहरे पर रुमाल बांधकर कई लोग आ गए और चिल्लाते हुए पत्थर मारने लगे। इससे बचने के लिए महिलाएं और पुरुष स्वास्थ्यकर..
                 

होस्टल में छात्रों का राशन खत्म, पानी भी नहीं मिल रहा, दूसरों की मदद से चला रहे हैं काम

देवी अहिल्या यूनिवर्सिटी का बॉयज होस्टल। अलग-अलग कमरों में रह रहे 13 छात्र। कोरोना को लेकर सतर्कता का ध्यान, इसलिए एक साथ नहीं जुटते। खाना खुद बना रहे तीन-तीन के ग्रुप में। खाना बनाते वक्त भी तीनों में पर्याप्त दूरी। एक रोटी बेलता, दूसरा सब्जी काटता तो तीसरा रोटी सिंकाई करता, बघार लगाता। ऐसे ही दूसरे होस्टल में भी 17 छात्र रह रहे। सबके लिए अलग रूम। खाना मेस में ही बन रहा। इस बीच इनका दर्द ये है कि अपने घर नहीं जा पा रहे, लेकिन मकसद एक ही है कि कोरोना को हराना है।जवाहरलाल नेहरू बॉयज होस्टल के छात्र सुयेश माथुर, मनीष कुमार मेहता और दिग्विजय सिंह बताते हैं बीती रात राशन खत्म हो गया था। बाहर निकल नहीं सकते, इसलिए रात में ही चीफ वार्डन डॉ. जीएल प्रजापति को समस्या बताई। उन्होंने पांच किलो आटा और चावल दिए। मंगलवार सुबह बाजार से अनाज भी दिलाया, क्योंकि हमारे पैसे खत्म हो चुके। रोहित बोरकर और श्याम वीर का कहना है कोरोना खत्म करने के लिए हमें प्रशासन के नियमों का पालन करना चाहिए।घर नहीं जा सकते... इसलिए खुद ही तैयार कर रहे हैं भोजनयूनिवर्सिटी के ज्यादातर होस्टल खाली हो चुके हैं। इन दो होस्टल में..
                 

पूरा देश स्वास्थ्य कर्मियों का स्वागत कर रहा और इंदौर में उन्हीं से ऐसा बर्ताव... इंदौर में हेल्थ टीम को घेरकर मारा

प्रदेश में बुधवार को कोरोना के 12 और पॉजिटिव मरीज मिले। इससे यहां संक्रमित मरीजों का आंकड़ा बढ़कर 75 हो गया है। संक्रमण की इस विकराल स्थिति के बावजूद कुछ इलाकों में लोग स्वास्थ्य टीम और पुलिस के साथ सहयोग नहीं कर रहे। बुधवार दोपहर करीब सवा बजे यहां टाटपट्‌टी बाखल इलाके में जांच करने पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम पर रहवासियों ने पथराव कर दिया। बैरिकेड्स तोड़ दिए। स्वास्थ्य कर्मी जिसमें डॉक्टर और नर्स शामिल थे, जैसे-तैसे जान बचाकर भागे। कुछ देर बाद पुलिस पहुंची। कुछ सख्ती भी दिखाई, समझाइश दी, तब जाकर उपद्रवी माने और बवाल थमा। पुलिस ने कुछ लोगों पर केस भी दर्ज किया है।एएसपी राजेश व्यास के अनुसार सिलावटपुरा में एक कोरोना पॉजिटिव की मौत के बाद यहां स्वास्थ्य विभाग की टीम तीन दिन से लगातार स्क्रीनिंग कर रही है। बुधवार सुबह भी टीम को यहां एक पॉजिटिव की कॉन्टैक्ट हिस्ट्री मिली, जिसे जांचने टीम पहुंची थी। इसी दौरान रहवासियों में से कुछ लोगों ने पत्थर फेंकने शुरू कर दिए। जांच टीम जान बचाकर वहां से भागी। उधर, इंदौर में इलाज करा रहे खरगोन के धरगांव के एक बुजुर्ग होटल व्यावसायी की 29 मार्च को मौत..
                 

रेलवे 80 कोच में बनाएगा आइसोलेशन वार्ड विवि ने अपना हॉस्टल देने का प्रस्ताव रखा

कोरोना के मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए इससे लड़ने के लिए प्रमुख संस्थान आगे आ गए हैं। रेलवे इंदौर अौर महू में 80 कोच तैयार कर रहा है, इनमें आइसोलेशन वार्ड बनाया जा सकेगा। इसके अलावा रेलवे तीन मंजिला छात्रावास को भी तैयार करवा रहा है, जिनके 33 कमरों में आइसोलेशन वार्ड बनाया जा सकेगा। जल्द ही इसे प्रशासन को दिया जाएगा। रेलवे स्लीपर और अन्य कोचेस में आइसोलेशन वार्ड बना रहा है।सीनियर पीआरओ जितेंद्र कुमार जयंत के अनुसार इंदौर में 50 और महू में 30 कोचेस को आइसोलेशन वार्ड के लिए तैयार किया जाएगा। उन्होंने कहा, एक कोच में दो लोगों को रखा जाए, रेलवे की तैयारी ऐसी है। हालांकि मेडिकल टीम जैसा निर्णय लेगी, वैसा रेलवे तैयारी करके दे देगा। उन्होंने कहा इसके अलावा रेलवे का छात्रावास भी जल्द जिला प्रशासन को रेलवे सौपेंगा, उसमें 33 कमरे है जिनका उपयोग आइसोलेशन वार्ड के लिए किया जा सकेगा।आईईटी कैंपस हॉस्टल में सेंटर बनेदेवी अहिल्या यूनिवर्सिटी ने अपने आईईटी कैंपस में करीब 10 करोड़ की लागत से बने नए हॉस्टल काे आइसोलेशन सेंटर बनाने का प्रस्ताव प्रशासन को दिया है। यूनिवर्सिटी के मीडिया प्रभारी डाॅ. चं..
                 

टॉप पट्टी बाखल में चेकअप करने गई स्वास्थ्य विभाग की टीम पर पथराव, बैरिकेडिंग को भी तोड़ दिया गया

देश के हॉटस्पॉट में शामिल हो चुके इंदौर में लोग अपनी गलती से सबक सीखने को तैयार ही नहीं हैं। 2दिन पहले रानीपुरा क्षेत्र में मेडिकल टीम के ऊपर थूकने के बाद बुधवार को तो रहवासियों ने पथराव ही कर दिया। टीम दोपहर में टाटपट्टी बाखल में कुछ महिलाओं को चेकअप के लिए ले जाने पहुंची थी। इसी बात का रहवासियों ने विरोध किया और पुलिस के बैरिकेड को तोड़कर टीम पर पथराव कर दिया। इसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने मामले को शांत करवाया।पुलिस ने बताया कि टीम एक बुजुर्ग महिला को मेडिकल चेकअप के लिए लेकर जाने वाली थी। इसी को लेकर यहां पर बड़ी संख्या में लोग जमा हो गए और विवाद करने लगे। समझाने के बाद भी ये नहीं माने और पुलिस बैरिकेडिंग को तोड़ दिया। इन लोगों ने पथराव भी किया। सूचना के बाद बड़ीसंख्या में पुलिस बल मौके पर पहुंचा। इनका कहना था कि क्षेत्र से किसी को लेकर जाना हो तो पहले हमें जानकारी दी जाए। पुलिस ने लोगों को समझाइश दी कि आप ऐसा ना करें। जो भी किया जा रहा है आपकी सुरक्षा के लिए किया जा रहा है। बताया जा रहा है कि कई ऐसे इलाके हैं, जहां पर बाहर से आए कई लोग रुके हुए हैं और उनके कोरोना संक्रमित होने की आ..
                 

कोरोना प्रभावित क्षेत्र रानीपुरा में एसडीएम बोले- घबराने की नहीं लेकिन चिंता की बात, आप मेडिकल टीम का सहयोग करें और अपनी जांच कराएं

शहर में कोरोनावायरस का प्रभाव लगातार बढ़ता जा रहा है। इस बीमारी के 69 मरीज सामने आ चुके है। इंदौर में 26 क्षेत्रों को कंटोनमेंट क्षेत्र घोषित किया जा चुका है। बुधवार को कोरोना प्रभावित रानीपुरा क्षेत्र में स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन की टीम पुलिस को साथ लेकर पहुंची। कंटोनमेंट घोषित किए गए इस क्षेत्र में कोरोनावायरस के 17 पॉजिटिव मरीज मिले है। यहां रहने वाले सभी लोगों की जांच की जाना है।बुधवार सुबह रानीपुरा के झंडाचौक पहुंचने के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने गलियों में प्रवेश कर लोगों की जांच करने का कार्य प्रारंभ किया। इससे पहले एसडीएम शाश्वत शर्मा ने माइक संभाला और लाउड स्पीकर से रानीपुरा, हाथीपाला, झंडा चौक, दौलत गंज के लोगों को आगह किया। एसडीएम ने कहा कि घबराने की बात नहीं है लेकिन चिंता करने की बात है, इस क्षेत्र के 17 लोग पॉजिटिव निकले है। अच्छी बात है कि जांच करने से यह पता लग गया कि कौन-कौन पॉजिटिव है। मंगलवार को आपके क्षेत्र से 138 लोगों के सैंपल जांच के लिए भेजे थे। हमारे डॉक्टरों की टीम आपके पास आ रही है। किसी को भी बुखार, सर्दी-खांसी, सिर दर्द, गले में दर्द आदि की शिकायत हो तो..
                 

निजामुद्दीन की मरकज में मध्य प्रदेश से गए थे 107 लोग, इनमें भोपाल के 36 दिल्ली में क्वारैंटाइन

इंदौर देश के 16 कोरोना हॉट स्पॉट में शामिल हो गया है। सोमवार को भोपाल एम्स भेजे 40 सैंपल में से 17 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इंदौर अब संक्रमित मरीजों की संख्या 50 हो गई है। कोरोना संक्रमण की चपेट में आए पांच लोग यहां अपनी जान गंवा चुके हैं। संभागायुक्त आकाश त्रिपाठी के मुताबिक, अभी आंकड़े और बढ़ेंगे, क्योंकि अब वह सैंपल जांच में आ रहे हैं, जो कोरोना संक्रमित मरीजों के संपर्क में थे। जिन 17 मरीजों की रिपोर्ट आई है, वे पहले ही असरावद खुर्द में क्वारेंटाइन हैं। कलेक्टर मनीष सिंह ने कहा कि हो सकता है कि शहर में मरीजों का आंकड़ा 100 से 200 तक जाए, लेकिन हम मानसिक तौर पर तैयार हैं। इंदौर में 525 से ज्यादा लोगों को क्वारेंटाइन किया गया है।इधर, नई दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में मजहबी जलसे में मप्र से भी 107 लोग गए थे। उनमें भोपाल 36 लोग शामिल थे। उन्हें दिल्ली में ही क्वारेंटाइन किया गया है। इसके अलावा 5 से 14 मार्च के बीच धर्म के प्रचार के लिए भोपाल आए 63 विदेशियों समेत अलग-अलग राज्यों से आए 189 लोगों के सैंपल लिए गए हैं। इनमें से 65 को हज हाऊस के अलावा निजाम उद्दीन कॉलोनी, ऐशबाग और बाग फरहत ..
                 

क्वारेंटाइन के लिए हमारे पास 700 मैरिज गार्डन, होटल, लॉज, फॉर्म हाउस; अभी 10% का ही उपयोग

क्वारेंटाइन और तीन कंटेनमेंट एरिया से चार रिपोर्टग्राउंड रिपाेर्ट - 1-क्वारेंटाइन एरिया से-मैं विश्वनाथ सिंह। खतरों के बीच अपना पत्रकारिता धर्म निभा रहा हूं। क्योंकि मेरे परिवार के साथ भास्कर के लाखों पाठकों को भी आज मेरी सबसे ज्यादा जरूरत है।शहर के जिन क्षेत्रों से पॉजिटिव केस सामने आ रहे हैं, प्रशासन वहां आस-पड़ोस में रहने वाले लोगों को क्वारेंटाइन कर रहा है, ताकि बीमारी और ज्यादा न फैले। इसके लिए प्रशासन ने फिलहाल 15 मैरिज गार्डन और होटल लिए हैं, जिनमें 1600 से ज्यादा बेड हैं। अब तक 625 से ज्यादा लोगों को क्वारेंटाइन किया जा चुका है। क्वारेंटाइन के लिए प्रशासन के पास 700 से ज्यादा मैरिज गार्डन, होटल, धर्मशालाएं और फॉर्म हाउस का विकल्प भी खुला है। जरूरत पड़ी तो इनका भी इस्तेमाल किया जा सकता है। फिलहाल 10% का ही उपयोग किया जा रहा है। इंदौर होटल्स एसोसिएशन के अध्यक्ष सुमित सूरी के मुताबिक शहर में 300 से ज्यादा छोटे-बड़े होटल, 250 से ज्यादा मैरिज गार्डन, 100 से ज्यादा धर्मशालाएं और 50 से ज्यादा फॉर्म हाउस मौजूद हैं।625 लोगों को यहां किया क्वारेंटाइनमृदंग में 40, होटल प्रेसीडेंट में 110, मथ..
                 

संक्रमण के डर ने कैसे बदल दी ग्रामीणों की जिंदगी, पांच गांवों का हाल बताती दो रिपोर्ट

ग्राउंड रिपाेर्ट -1: चार गांवों से-मैं राहुल दुबे। खतरों के बीच पत्रकारिता धर्म निभा रहा हूं। क्योंकि मेरे परिवार के साथ भास्कर के लाखों पाठकों कोभी आज मेरी सबसे ज्यादा जरूरत है।कोरोना से निपटने के लिए नगर निगम शहर में सैनिटाइजर छिड़क रहा है। वहीं, पुलिस-प्रशासन को लोगों को घरों में रखने के लिए सख्ती करना पड़ रही है, जबकि शहर सीमा में शामिल गांवों में स्थिति उलट है। गांव वालों ने छिड़काव के लिए ना तो कंट्रोल रूम को कॉल किया न पुलिस को समझाइश देनेआना पड़ा। अपना गांव-अपना अनुशासन बनाकर ग्रामीणों ने खुद ही बचाव के इंतजाम कर लिए। सबसे पहले बाहरी लोगों का प्रवेश रोका। फिर देसी सैनिटाइजर बनाकर छिड़काव किया। पलायन करने वालों को भोजन के पैकेट बांट रहे हैं।कैलोद करताल : 350 घरों में देसी सैनिटाइजर से छिड़कावदोपहर में कैलोद करताल पहुंचा तो ग्रामीण अनिल पटेल और विकास ने रोक लिया। अड़ गए कि गांव में किसी को नहीं जाने देंगे। मैंने रिपोर्टिंग का बताया तो सबसे पहले देसी सैनिटाइजर से हाथ धुलवाए। सैनिटाइजर नीम की पत्तियों और एलोवेरा को पानी में उबालकर बनाया। गांव में गए तो देखा कि संजय शर्मा और रमेश ट्..
                 

ग्रामीण क्षेत्रों में स्थिति बिगड़ी, राशन के लिए 7 दिन इंतजार तो कहीं लोगों को पेट भरने के लाले

प्रशासन का ध्यान शहरों पर है, लेकिन गांवों में भी लॉकडाउन से लोग बेहाल हैं। छोटी दुकानें बंद हैं। होम डिलीवरी सुविधा भी नहीं है। ग्रामीणों को राशन के लिए बाहर जाना पड़ रहा है। कई जगह पुलिस उन्हें बाहर भी नहीं जाने दे रही।गुना : 30 किमी दूर से सामान लाने को मजबूर भील बहुल महुआखेड़ा के लोग(बफाती शाह) बमोरीजिला मुख्यालय से 75 किमी दूर स्थित भील बहुल गांव महुआखेड़ा में 63 परिवार रहते हैं। आमतौर पर यह लोग किराने का सामान गांव से 3 किमी दूर स्थित दुकान से लेते रहे हैं। कोरोना संकट के बाद से दुकानदार ने कीमतें इतनी बढ़ा दीं कि अब वे 30 किमी दूर फतेहगढ़ जाकर सामान ला रहे हैं। गांव के भीमसिंह ने बताया कि एक-दो दिन में गांव का कोई एक शख्स फतेहगढ़ जाकर तीन-चार घरों का सामान ले आता है। 6-7 दिन से गांव के लोगों ने सब्जी तो देखी ही नहीं है। कुछ लोगों ने खेत में प्याज बोई है तो उससे और चटनी से काम चला लेते हैं। कई घरों में तो सूखी रोटी खाकर गुजारा हो रहा है। ग्वारखेड़ा गांव की सहरिया बस्ती में कोई मदद नहीं पहुंच रही है। एक टपरे में रह रही मीरा सहरिया (75) ने बताया कि उसने दो दिन से खाना नहीं खाया। सरपंच ने ..
                 

लोगों ने दूध का स्टॉक किया, बोले- पता नहीं, कल क्या हो; पुलिस ने बेवजह घूमने वालों के वाहनों की हवा निकाली

इंदौर. कोरोनावायरस काइंदौर में तेजी से संक्रमण फैलने सेशहर अबस्टेज-3 में आ चुकाहै। यानी वायरस के कम्युनिटी ट्रांसमिशन का खतरा है। इसी वजह से इंदौर में 1 अप्रैल तक देश का सबसे सख्त लॉकडाउन लागू किया गया है। मंगलवार कोदूसरे दिन भी पेट्रोल पंप, किराना दुकानें, सब्जी-मंडियां पूरी तरह बंद रहीं। दूध के लिए लोगों परेशान होते देखे गए। जिसे दूध मिला, उसने खपत से ज्यादा स्टॉक कर लिया। पूछने पर कहा- रिस्क नहीं ले सकते, क्या पता,कल क्या हो। वहीं, बेवजह चौराहों पर घूमने वालों की गाड़ियों की पुलिस ने हवा निकालकर सजा दी। लॉकडाउन में होम डिलीवरी भी बंद रखने के आदेश दिए गए हैं। शहर में पुलिस, प्रशासन, हेल्थ वर्कर्स, मेडिकल स्टोर्स और मीडिया को छोड़कर किसी को भी बाहर निकलने की इजाजत नहीं है।इंदौर के लिए राहत की बात यह है कि मनोरमा राजे अस्पताल में भर्ती 24 पॉजिटिव में से 18 मरीजों की हालत में लगातार सुधार हो रहा है।इतनी सख्ती के बाद भी लोग निकलने से बाज नहीं आ रहे। एरोड्रम क्षेत्र में कार की हवा निकालता पुलिसकर्मी।ज्यादा दूध लेने की लोगों ने बताई वजहदेवास नाका क्षेत्र में रहने वाले अशोक सिंह के हाथ में सा..
                 

हेलो! मैं शिवराज बोल रहा हूं... पीड़ित मानवता की सेवा के लिए धन्यवाद, आपके जज्बे को प्रणाम; सीएम ने इंदौर के डॉक्टर्स से बात की

भोपाल.मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार कोइंदौर में आम जनता को कोरोना से बचाने के लिए डॉक्टर्स,समाजसेवी,राजस्व,नगर निगम के अधिकारी-कर्मचारी, पुलिस- प्रशासन, स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के कार्यों की प्रशंसा की औरबधाई दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना को हम सब मिलकर पराजित कर देंगे। मानवता के विरुद्ध कोरोना द्वारा छेड़े गए युद्ध में हमारी विजय होगी।मुख्यमंत्री ने कहा कि आप निरंतर पीड़ित मानवता की सेवा में कार्य कर रहे हैं। आपके इस जज्बे को प्रणाम करता हूं। इस महामारी से निपटने में आप जुटे रहें, मैं भी आपके साथ हूं। आप लोगों से इंदौर आने पर मिलूंगा भी। मुख्यमंत्री ने आज मंत्रालय में बैठकर न सिर्फ इंदौर की कोरोना के स्टेट्स की जानकारी ली, बल्कि विभिन्न वर्गों से फोन से बात करते हुए उन्हें कहा कि आप लोग घरों में रहे, लॉकडाउन का पालन करें। आइसोलेशन पर निरंतर ध्यान दें। इंदौर की जनता अपने दृढ़संकल्प से जीत हासिल करेगी।मुख्यमंत्री ने इंदौर केकमिश्नर आकाश त्रिपाठी, कलेक्टर मनीष सिंह, डीआईजीहरिनारायणचारी मिश्र से भी बात की। मुख्यमंत्री ने प्रमुख रूप से उपचार कार्य, सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखने,..
                 

कोरोना पीड़ितों का उपचार कर रहे डॉक्टरों और कर्मचारियों के लिए बनवाए जा रहे 5 हजार एंटी वायरस सूट

इंदौर. कोरोनावायरस से पीड़ित लोगों का उपचार कर रहे डॉक्टर्स औरअस्पताल के अन्य कर्मचारियों की सुरक्षा के लिए औद्योगिक केन्द्र विकास निगम (एकेवीएन) द्वारा 5 हजार एंटी वायरस सूट तैयार करवाए जा रहे हैं। एकेवीएन पीथमपुर स्थित कई कंपनियों से यह सूट तैयार करवा रहा है।एकेवीएन एमडी कुमार पुरुषोत्तम के अनुसार, कोरोनावायरस के मरीजों और संदिग्ध लोगों के उपचार में कई डॉक्टर, नर्स औरअन्य स्टाफ दिन-रात लगे हुए हैं। इन लोगों को संक्रमित होने का सबसे अधिक खतरा है। अब तक यह स्टाफ मास्क और सैनिटाइजर से ही काम चला रहा है। ऐसे में इन डॉक्टरों औरअन्य कर्मचारियों की सुरक्षा के लिए 5 हजार एंटी वायरस सूट तैयार करवाए जा रहे हैं। यह सूट पीथमपुर स्थित कंपनियों से बनवाए जा रहे हैं। कंपनियां यह सूट तैयार कर एकेवीएन को देंगी और एकेवीएन इन सूट का वितरण करेगा।इन एंटी वायरस सूट का उपयोग सिर्फ एक बार ही किया जा सकेगा। इसे पहनने के बाद सिर से लेकर पैर तक पूरा शरीर ढंक जाता है,जिससे वायरस का खतरा नहीं रहता है।एआईएमपी ने भी मुंबई से मंगवाए सूटएसोसिएशन ऑफ इंडस्ट्रीज मप्र (एआईएमपी) द्वारा भी मुंबई की कंपनियों से 200 एंटी वायर..
                 

पहला केस मिलने के 5 दिन में ही इंदौर देश का 8वां सबसे संक्रमित शहर बना, 14 राज्यों में मरीजों की संख्या यहां से कम

इंदौर (संजय गुप्ता ).कोरोना संक्रमण से देश में 27 राज्य प्रभावित हैं।इसमें मध्य प्रदेश दसवें नंबर पर है। लेकिन, शहरों की बात करें तो 24 मार्च तक कोरोना मुक्त रहा इंदौर बीतेपांच दिनों में देश के सबसे संक्रमित शहरों की सूची में आठवें नंबर पर आ गया है। केरल में देश का पहला मरीज 30 जनवरी को सामने आया था। महाराष्ट्र औरदूसरी जगहों पर मार्च के पहले और दूसरे हफ्ते में मरीजों का आना शुरू हुआ। इंदौर में मरीज बढ़ने की रफ्तार जो रविवार तक 380% थी, वह अब 540% हो गई है।इंदौर में संक्रमितों की संख्या बढ़ने की वजह लॉकडाउन का पालन न करने को माना जा रहा है। जनता कर्फ्यू वाले दिन ही शाम के समय शहर के सैकड़ों नागरिकों की भीड़ ऐतिहासिक राजबाड़ा पर जमा हो गई थी।केरल, महाराष्ट्र, दिल्ली से लेकर अन्य सभी प्रमुख संक्रमित जगहों पर मरीजों की जांच में सामने आया कि वे विदेश से आने पर या विदेशी व्यक्ति से संपर्क में आने से संक्रमित हुए। इन जगहों पर संक्रमण केप्राथमिक स्रोत की जानकारी मिल गई। लेकिन, इंदौर में अभी तक किसी भी संक्रमित के विदेश जाने या उनके संपर्क में आने की हिस्ट्री सामने नहीं आई है। यह बीमारी के कम्य..
                 

सबसे सख्त लॉकडाउन पर कहा- लोग समस्या की गंभीरता समझने को तैयार ही नहीं, आखिर जिंदगी का सवाल है

इंदौर के 6 इलाकों से आरती दुबे की रिपोर्ट. देश का सबसे सख्त लॉकडाउन शुरू हुए आधा घंटा बीत चुका है। रात के साढ़े बारह बजे हैं। वॉट्सएप पर लगातार मैसेज गिर रहे हैं। वैसे तो यह सिलसिला रोज का है, मगर आज फैमिली एंड फ्रेंड्स ग्रुप में खासी हलचल है। चर्चा का विषय है लॉकडाउन। यह उस शहर में हो रहा है, जो साफ-सफाई में नंबर वन है। वैसे तो लॉकडाउन की चर्चा 22 मार्च को जनता कर्फ्यू के दिन से ही चल रही थी, लेकिन आज मामला कुछ अलग है क्योंकि इंदौर तीन दिन पूरी तरह बंद रहेगा। देश में सबसे सख्त लॉकडाउन का साक्षी बनेगा। इसे लेकर हर कोई अपने-अपने मन की बात अपने तर्क के साथ सही साबित करने में लगा है। हां, एक कॉमन बात है, जो सभी की जुबान पर है... और वो यह कि जिसका डर था वही हुआ, अब बैठे रहो तीन दिन बिना चाय के।एरोड्रम क्षेत्र: ‘यहां लोग अभी भी सुबह-शाम वॉक के लिए इकट्ठा हो रहे हैं’एरोड्रम रोड स्थित श्री ओमविहार कॉलोनी के निवासी जयेश मिश्रा बताते हैं कि 22 मार्च से देशभर में लॉकडाउन है। इसके बावजूद कई लोग अभी भी सुबह-शामवॉक के लिए न सिर्फ गार्डन आ रहे हैं बल्कि इकट्ठा हो रहे हैं। सोशल डिस्टेंसिं..
                 

इंदौर में चौथी मौत; आठ नए पॉजीटिव, मुंबई में सलमान के भतीजे की मौत, रिपोर्ट आना बाकी थी

इंदौर.कोरोना के संक्रमण से इंदौर में हालात दिन-ब-दिन बिगड़ते जा रहे हैं। सोमवार को यहां चौथी मौत हो गई, वहीं आठ लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। सोमवार तड़के 41 साल के मोहम्मद साजिद नेे दम तोड़ दिया। 26 मार्च को उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। संक्रमण से अब तक जान गंवा चुके 4 लोगों में से दो उज्जैन जिले के हैं। तीन दिन पहले उज्जैन के संतोष वर्मा की मौत हुई थी, उनकी रिपोर्ट सोमवार को पॉजिटिव आई है। छह दिन पहले यहीं की 65 साल की राबिया बी की भी कोरोना से मौत हुई थी।उधर, मुंबई में अभिनेता सलमान खान के 38 साल के भतीजे अब्दुल्लाह खान उर्फ अबा का सोमवार रात इंतकाल हो गया। वह इंदौर के खान कम्पाउंड में रहते थे। अब्दुल्लाह को रविवार को मुंबई के लीलावती अस्पताल में भर्ती किया था। सांस लेने में परेशानी होने पर शाम को वेंटिलेटर पर रखा था। उनकी कोरोना जांच रिपोर्ट आना बाकी है।संक्रमण के नए मरीजों में इंदौर के सात और एक उज्जैन का है। तीन एक ही परिवार के हैं। इन आठ में से तीन की कांटेक्ट हिस्ट्री मिली है। अन्य की ट्रैवल हिस्ट्री नहीं मिली है। प्रदेश में पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा अब 47 हो गया है, जिनमें इंदौर..
                 

1 अप्रैल तक सब बंद: दूध खरीदने के लिए प्रशासन ने दो घंटे की मोहलत दी तो डेयरियों पर भीड़ उमड़ी, सोशल डिस्टेंसिंग भूले लोग

इंदौर. कोरोनावायरस से बचने के लिए देशभर में जारी 21 दिन के लॉकडाउन के बावजूद इंदौर में आम लोग लापरवाही करते रहे। नतीजा यह हुआ कि शहर में संक्रमितों की संख्या 24 हो गई। शहर में अब कोरोना की स्टेज-3 आ चुकी है यानी वायरस के कम्युनिटी ट्रांसमिशन का खतरा है। इसी वजह से इंदौर में 1 अप्रैल तक देश का सबसे सख्त लॉकडाउन लागू किया गया है। सोमवार सुबह जब इसकी शुरुआत हुई तो किराने की दुकानें बंद रहीं। होम डिलीवरी भी नहीं हुई। स्वयंसेवी संस्थाओं को चौराहों पर जाकर खाना बांटने से रोक दिया गया। शहर में पुलिस, प्रशासन, हेल्थ वर्कर्स, मेडिकल स्टोर्स और मीडिया को छोड़कर किसी को भी बाहर निकलने की इजाजत नहीं है। कई इलाकों में दूध भी नहीं बंटा। बाद में प्रशासन ने थोड़ी राहत देते हुए कहा कि सुबह 6 से 9 बजे और शाम से 5 से 7 बजे तक दुकानों से दूध मिलेगा। इसके बाद सोमवार शाम को 5 बजे दूध के लिए आपाधापी मच गई। डेयरियों पर भीड़ जमा हो गई और लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पाठ भूल गए।लॉकडाउन का उल्लंघन किया तो कार्रवाई: कलेक्टरदोदिन पहले इंदौर केकलेक्टर बनेमनीष सिंह ने साफकर दिया है कि लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों पर कानू..
                 

पता तो हमारा ही है लेकिन यहां कोई कोरोना पॉजिटिव नहीं… कलेक्टर कार्यालय ने जो पता जारी किया वहां रहता है कोई अन्य परिवार

इंदौर.प्रदेश में कोरोनावायरस का सबसे अधिक असर इंदौर में देखा जा रहा है। सोमवारतक 27मरीजों में इस वायरस की पुष्टि हो चुकी है। इससे बचाव के लिए जहां पॉजिटिव मरीज मिले हैं उनके घरों को एपिसेंटर घोषित करते हुए आसपास केक्षेत्र को कंटेनमेंट एरिया घोषित किया गया है। लेकिन एक मामला ऐसा सामने आया है जिसमें प्रशासन द्वारा कोरोना पाजिटिव मरीज का जो पता जारी किया गया है उस पते पर कोई अन्य परिवार रहता है। अखबारों और सोशल मीडिया में पता छपने के बाद वहां रहने वाले परिवार के लोगों को शुभचिंतकों के फोन आने लगे। सबकोस्थिति स्पष्ट करते-करते यह परिवार परेशान हो गया।मामला कोरानावायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित रानीपुरा क्षेत्र का है। यहां कोरोना पॉजिटिव मरीज पाए जाने के बाद26 मार्च को कलेक्टर कार्यालय ने एक आदेश जारी कर पॉजिटिव मरीजों के घरों को एपिसेंटर घोषित करते हुए क्षेत्र को कंटेनमेंट एरिया घोषित किया था। कलेक्टर कार्यालय केआदेश क्रमांक 9937 में दूसरे नंबर पर कोरोनावायरस पॉजिटिव के पते के रूप में 12/1 रानीपुरा दर्ज है। इस पते पर प्रतीक कुरील और उनके परिवार के 4सदस्य रहते हैं। परिवार के सभी सदस्यों के आधा..
                 

शहर में कोरोना से ज्यादा पुलिस का डर, सायरन सुनते ही घर में घुस जाते हैं लोग; टोटल लॉकडाउन से टेंशन बढ़ी, लोग बोले- पता नहीं था, दूध भी बंद कर देंगे

इंदौर. इंदौर में कोराेना के 32 मरीज भर्ती हैं। इनमें 27 इंदौर और 5 उज्जैन से हैं। शहर को हाईरिस्क कैटेगरी में रखा गया है। कोरोना की चेन तोड़ने के लिए प्रशासन ने पूरा जोर लगाना शुरू कर दिया। रानीपुरा, खजराना, चंदन नगर समेत 6 इलाके पूरी तरह से सील हैं। जो जहां है, वहीं रहेगा। सबसे ज्यादा इन्हीं इलाकों में संक्रमित मिले। सोमवार को टोटल लॉकडाउन से पेट्रोल, दूध, सब्जी, किराना, दवा समेत सभी जरूरी सामानों की दुकानों पर ताला लग गए। पुलिस सड़कों पर दिखने वाले लोगों की डंडों से पिटाई कर रही है। हालात यह हैं कि मोहल्लों में पुलिस का सायरन सुनते ही बाहर झांक रहे लोग अंदर घुस जाते हैं। सुबह से दूध को लेकर लोगों को परेशानी हुई। यहां लोगों का कहना था कि हमें पता नहीं था कि दूध भी मिलना बंद हो जाएगा। इलाके में एक महिला 2 साल की बच्ची को लेकर दूध के लिए भटकती देखी गई। शहर के हालातों को जानने के लिए दैनिक भास्कर के 8 रिपोर्टर अलग-अलग जगहों पर पहुंचे। इन्होंने शहर में प्रशासन की सख्ती और लोगों की समस्याओं को जाना।संगम नगर, अर्चना नगर, रामबली नगर से विश्वनाथ सिंह की रिपोर्टसंगम नगर, अर्चना नगर, रामबली नगर क..
                 

पलायन, बाजार और अस्पताल से जुड़ी 4 रिपाेर्ट: सिर छुपाने की जगह तो दूर भोजन तक नहीं, ढाई सौ ग्राम दूध में निकाले तीन दिन

इंदौर. कोरोना वायरस के खौफ ने हर वर्ग को डरा कर रख दिया है। शनिवार को दिल्ली से लगी यूपी की बाॅर्डर पर जिस तरह हजारों लोग अपने घर जाने के लिए इकट्ठा हो गए थे, उसी तरह इंदौर में भी काम कर लोग अपने घर जाने के लिए पैदल ही निकल गए हैं। हालांकि इनकी संख्या दिल्ली जितनी नहीं है, लेकिन शहर की हर सड़क पर पैदल जाते लोग दिख जाएंगे। रविवार को भास्कर ने ऐसे ही लोगों से रुककर बात की तो सबने अपनी अलग कहानी बताई। सब का कहना है घर जाना। कीमत कुछ भी हो। 14 तक लॉकडाउन है। काम, मजदूरी मिलना नहीं है। हम भी इतने दिन में पैदल चलकर घर चले जाएंगे।रिपाेर्ट -1:सड़कों से-मैं राहुल दुबे। जानता हूं कि खतरों के बीच अपना पत्रकारिता धर्म निभा रहा हूं। इसलिए, क्योंकि मेरे परिवार के साथ-साथ भास्कर के लाखों पाठकों के परिवार को भी आज मेरी सबसे ज्यादा जरूरत है।हम रोज खड़े रहते हैं, कोई मदद करने नहीं आ रहाखजराना चौराहा के सर्विस रोड 15-20 मजदूर। सिर छुपाने की जगह तो दूर खाना तक नहीं है। रानी भार्गव एक महीने की बच्ची को कंबल में लपेटे हुए मुझे एक हाथ से रुकने का इशारा करती दौड़ती हुई आई। बोली-साहब हम आठ दिन से यहां फंसे हैं।..
                 

कर्फ्यू में चोरी; ऑटोरिक्शा से आए तीन बदमाश, पेट्रोल पंप से ले गए 93 हजार

इंदौर.कर्फ्यू के दौरान नेमावर रोड स्थित एक पेट्रोल पंप पर चोरी हो गई। ऑटो से आए तीन बदमाशों ने कैबिन तोड़कर वारदात को अंजाम दिया। उनका हुलिया सीसीटीवी कैमरे में कैद हो चुका है।भंवरकुआं थाने में न्यू सुनिधि पेट्रोलियम नायता मुंडला रोड पर पालदा के प्रबंधक विनोद तिवारी ने चोरी की रिपोर्ट दर्ज कराई है।विनोद ने बताया कि 27 मार्च की रात 11 बजे बाद चोरी हुई है। कर्फ्यू में सेल कम होने से उन्होंने गार्ड को घर में सोने के लिए कह दिया था। यहां पंप पर दो कर्मचारी अलग-अलग कमरों में सो रहे थे, तभी ऑटो से तीन युवक आए। उन्होंने मास्क भी नहीं पहना था। वे सीधे कैश काउंटर वाले कैबिन में पहुंचे। वहां तोड़फोड़ कर गल्ले में रखी 93 हजार रुपए की सिल्लक चुरा ली। बदमाशों का हुलिया सीसीटीवी कैमरों में कैद हो चुका है। पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today नेमावर रोड स्थित पेट्रोल पंप पर चोरी करते बदमाश।..
                 

5 दिन से परिवार से अलग ये पुलिसकर्मी, वहीं दूसरी ओर हम अपने ही घर में सुरक्षित रहने के लिए नहीं मान रहे

इंदौर.कोरोना से इंदौर शहर के लोगों को बचाने के लिए हमारे कर्मवीर 16 घंटे तक सड़कों पर खड़े होकर ड्यूटी कर रहे हैं। कई पांच दिन से घर ही नहीं गए। जो सोने के लिए घर जाते हैं, उन्होंने खुद को अलग कर लिया है। बच्चों को छूते तक नहीं है। बाहर से ही खुद को सेनेटाइज करने के बाद अलग कमरे में रहते हैं, ताकि परिवार को कोई खतरा न हो।स्टाफ का ध्यान रखने के लिए एक बजर लगा दिया है, जो हर घंटे बजता है। उसके बाद पूरा स्टाफ हाथ धोता है। इन कर्मवीरों की दिनचर्या जानकर हम यह बताना चाहते हैं कि वे लोग कितनी कड़ी मेहनत कर रहे हैं और दूसरी तरफ कई शहरवासी लॉकडाउन को मान ही नहीं रहे है।यहीं पर परिवार लेकिन 5 दिन से नहीं देखाराऊ टीआई दिनेश वर्मा का कहना है परिवार निपानिया में हैं और मैं राऊ के एक फ्लैट में रहता हूं। पांच दिन से उन्हें देखा नहीं। संयोगितागंज टीआई बोले परिवार को दूर से देखूं ये हो नहीं सकता है। इसलिए पास में ही एक अलग फ्लैट लिया है। गांधी नगर, जूनी इदौंर प्रभारी, सदर बाजार, राजेंद्र नगर कोतवाली टीआई भी घर से दूर हैं। सदर बाजार और सराफा टीआई थाने में ही कमरे में रहते हैं। एमजी रोड टीआई राजीव चतुर्..
                 

भगवान भरोसे मंजिलों का सफर, अकेले गुजरात से घर लौटे 60 हजार लोग, हजारों अभी भी राह में अटके

भोपाल (भास्कर टीम). कोरोना महामारी में उपजे घर वापसी संकट ने हालात और बिगाड़ दिए हैं। रोजी-रोटी छिन जाने के बाद घर लौटे करीब सवा लाख मजदूरों और ग्रामीणों को किन हालातों का सामना करना पड़ा, भास्कर ने प्रदेश के सीमावर्ती 9 जिलों भिंड, मुरैना, नीमच, बुरहानपुर, झाबुआ, मंदसौर, बैतूल, छिंदवाड़ा, बड़वानी में ग्राउंड रिपोर्ट कर इसकी हकीकत जानी। किसी को मंगलसूत्र बेचकर राशन खरीदना पड़ रहा है तो कोई अपने गांव के बॉर्डर पर अटका है। कोई दो दिन भूखा रहकर गांव पहुंचा तो किसी ने 400 किलोमीटर पैदल चलकर अपनों के बीच पहुंचकर राहत की सांस ली। अकेले गुजरात से ही करीब 60 हजार लोग लौटे हैं। गुजरात, राजस्थान, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, उत्तरप्रदेश से सटी मप्र की सीमाओं पर लोगों के रुकने और समुचित जांच करने की व्यवस्था की जा रही है।दो दिन भूखे रहे, रास्ते में सिर्फ दुत्कार ही मिली(झाबुआ सेेदीपेश नागर)मुरैना जिले के अजीत यादव पत्नी और दो बच्चों के साथ 4 साल से अहमदाबाद में हैं। वे बताते हैं कि लॉकडाउन के बाद हमारे पास दो दिन से ज्यादा रुकने, खाने-पीने का इंतजाम नहीं था। इसलिए 27 मार्च को एक ट्रक में बैठकर दाहोद तक आए। ट..
                 

आईसोलेशन सेंटर के लिए दो होटलों को किया चिन्हित, कोरोना पॉजिटिव मरीजों के संपर्क में आए संदिग्धों को रखा जाएगा

इंदौर. कोरोना संक्रमण की हाई रिस्क पर पहुंच गए इंदौर शहर में आईसोलेशन सेंटर बनाने के लिए प्रशासन द्वारा दो निजी होटलों को चिन्हित किया गया है। इन होटलों में कोरोनावायरस के पॉजिटिव पाए गए मरीजों के संपर्क में आए लोगों को रखा जाएगा।रविवार को प्रशासन के अधिकारियों ने इस संबंध में बताया कि बायपास स्थित दो होटल्स करोना वायरस के सस्पेक्टेड पाए जाने वालों के लिए आइसोलेशन सेंटर के रूप में चिन्हित किए गए हैं।इसमें पहला होटल टीसीएल है जहां 117 रूम है। वहीं दूसरा होटल प्रोसिडेंट हैं जिसमें 48 कमरें उपलब्ध है। इस प्रकार कोरोनावायरस के संदिग्ध मरीजों को रखने के लिए 165 रूम उपलब्ध रहेंगे।गौरतलब है किे इंदौर में कोरोना वायरस से पीड़ित मरीजों की संख्या 24 हो गई है। इन मरीजों के परिजनों, दोस्तों एवं अन्य वह सभी व्यक्ति जिनका संपर्क इन मरीजों से प्रत्यक्ष रूप से हुआ है उन्हें आईसोलेट किया जा रहा है। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today बायपास स्थित होटल टीसीएल जिसे कोरोना वायरस के आईसोलेशन सेंटर के रूप में चिन्हित किया गया है।..
                 

इंदौर अब हाई रिस्क सिटी में, कोरोना के 5 नए केस, अब 24 पॉजिटिव

इंदौर. शहर में कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा रोजाना तेजी से बढ़ रहा है। शनिवार देर रात एमजीएम मेडिकल कॉलेज ने 5 और मरीजों में संक्रमण की पुष्टि की। इसके साथ ही शहर में पॉजिटिव मरीजों की संख्या 24 हो गई है। शनिवार को लिए गए 98 सैंपल सहित अब तक कुल 297 मरीजों के सैंपल लिए जा चुके हैं। 175 मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव आ चुकी है। यह बेहद गंभीर स्थिति है। क्योंकि औसत रोजाना पांच नए मरीज सामने आ रहे हैं। अभी तक दो मरीजों की मौत हो चुकी है। औसत रोजाना 49 मरीजों के सैंपल की जांच हो रही है।इधर, लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों पर रविवार से और सख्ती बरती जाएगी। कलेक्टर मनीष सिंह ने भास्कर से चर्चा में स्पष्ट कर दिया कि बेवजह सड़कों पर घूमने वाले अब सीधे जेल जाएंगे। लोगों की जिंदगी बेहद अहम है। कोरोना की गंभीरता को जो नहीं समझेगा, उस पर किसी तरह की नरमी का सवाल ही नहीं उठता। दूध-सब्जी के नाम पर भी लोग बेवजह बाहर घूमते मिलेंगे तो कार्रवाई होगी। पुलिस गलियों में भी सर्चिंग करेगी। कर्फ्यू के नियमों का सख्ती से पालन सभी को करना होगा।शनिवार रात जिन मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, उनमें चार पुरुष और एक महिला..
                 

सरकार ने बदली टीम; मनीष इंदाैर कलेक्टर, जनता कर्फ्यू में लापरवाही पर डीआईजी मिश्रा काे हटाया

भोपाल.काेराेना संक्रमिताें की संख्या लगातार बढ़ने से इंदाैर हाई रिस्क पर आ गया है। यहां अनियंत्रित स्थिति देखते हुए राज्य सरकार ने शनिवार काे 2009 बैच के आईएएस अधिकारी मनीष सिंह काे इंदाैर कलेक्टर बना दिया। मनीष काे एक दिन पहले सरकार ने इंदाैर के लिए बने हाई स्पेशल ग्रुप में रखा था। वे इंदाैर में एडीएम, आईडीए औरनगर निगम कमिश्नर रह चुके हैं। वहीं जनता कर्फ्यू में लाेगाें की भीड़ जुटने का खामिया इंदाैर डीईइजी रुचि वर्धन मिश्रा काे भुगतना पड़ा। उन्हें हटाकर हरिनारायण चारी काे नया डीआईजी बनाया गया है।मौजूदा इंदौर कलेक्टर लोकेश जाटव चूंकि सचिव स्तर पर प्रमोट हो गए हैं, लिहाजा उनका हटना तय था। लेकिन कहा जा रहा है कि इंदौर में कोरोना की मौजूदा परिस्थितियों के लिए कर्फ्यू लगाने में देरी करने काे उनके हटने की बड़ी वजह माना जा रहा है, क्याेंकि तब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चाैहान ने वीडियाे काॅन्फ्रेंसिंग में भी इस पर सवाल खड़े किए थे। मनीष और चारी की कार्यशैली से शिवराज परिचित हैं, इसलिए इनसे तुरंत चार्ज लेने के लिए कहा गया है। दो साल पहले फरवरी 2019 में डीआईजी चारी को हटाकर रुचि वर्धन मिश्र को इं..
                 

सिटी बस ऑफिस के कंट्रोल रूम से 24 घंटे मदद, इलाज से लेकर दवाइयां, किराना और सब्जी की होम डिलीवरी

इंदौर.शहर में कोरोना संक्रमण फैलने के बाद कर्फ्यू लगने की स्थिति में प्रशासनिक अमला सिटी बस ऑफिस में स्थित इंटीग्रेटेड कंट्रोल एंड कमांड सेंटर से ऑपरेट कर रहे हैं। यहां बैठे 80 ऑपरेटर्स 24 घंटे तीन प्रकार की हेल्पलाइन को हैंडल कर रहें हैं। यहां इमरजेंसी के लिए कॉल करने वालों के साथ टेली मेडिसिन और डॉक्टर से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मशवरा लेने की भी सुविधा शुरू हो गई है। इससे लोग घर बैठे ही वीडियो कॉल कर तबीयत खराब होने पर डॉक्टरी सलाह ले सकते हैं। इसके साथ ही वे कॉल कर दवाइयां भी घर बैठे ले पा रहे हैं।कॉल अटेंड करने के लिए तीन शिफ्टों में ऑपरेटर कर रहे कामस्मार्ट सिटी के सीईओ संदीप सोनी ने बताया कि प्रतिदिन कंट्रोल रूम के नंबर 0731-25673333 पर 90-100 कॉल आ रहे हैं। उन्हें अटैंड करने के लिए तीन शिफ्ट में ऑपरेटर काम कर रहे हैं। इन नंबरों पर कॉल करने वाले लोग वे हैं जो खुद किसी भी परेशानी में फंसने के बाद मदद के लिए कॉल लगा रहे हैं। इनमें कुछ कॉल तो संदिग्ध कोरोना पॉजिटिव मरीजों की जानकारी देने के लिए आ रहे हैं तो कुछ अपने क्षेत्र में लोगों द्वारा बरती जा रही लापरवाही की जानकारी दे रह..
                 

91 लाख हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन मेडिसिन बनाकर केंद्र को दी

शिवेंद्र दुबे. रतलाम.कोरोना वायरस पीड़ितों के इलाज में इप्का लैबोरेटरीज की हाईड्रोक्सीक्लोरोक्वीन सल्फेट मेडिसिन काफी असरकारी साबित हो रही है। इसका फाइनल बेस रॉ मटेरियल रतलाम प्लांट में तैयार हो रहा है और दवाएं सिक्किम प्लांट में बन रही हैं। कंपनी अब तक 91 लाख टेबलेट बनाकर सरकार को दे चुकी है। इनमें से 75 लाख केंद्र सरकार और 16 लाख मप्र सरकार को सप्लाई की है। देश के 27 राज्यों में फैल चुके कोरोना वायरस के पीड़ितों के इलाज के लिए डॉक्टर खासतौर पर इसके साथ दूसरी दवाइयों का डोज बनाकर उपचार कर रहे हैं। खास बात यह है कि संक्रमण के खतरनाक स्टेज में पहुंच चुका अमेरिका भी अब मेडिसिन मंगाने को तैयार हो गया है। फिलहाल कंपनी ने उन्हें मना कर दिया है, वह देश में मेडिसिन की आपूर्ति करेगी।आपदा में 4 हजार कर्मचारी 24 घंटे काम कर रहेइप्का लैबोरेटरीज के वाइस प्रेसीडेंट दिनेश सियाल ने बताया सरकार की मांग पर कंपनी अभी प्राथमिकता के आधार पर यही टेबलेट बना रही है। इसके लिए रतलाम, इंदौर, महाड़ और सिक्किम प्लांट में चार हजार कर्मचारी 24 घंटे काम कर रहे हैं। आवश्यक केमिकल का लगभग डेढ़ माह का स्टॉक है। Downl..
                 

कलेक्टर गाइडलाइन की तारीख में बदलाव, 30 अप्रैल तक कर सकेंगे जरूरी भुगतान; 10वीं, 12वीं कक्षा को छोड़ अन्य कक्षाओं में जनरल प्रमोशन के आदेश

भोपाल.संपत्ति कर, वृत्ति कर, किसान क्रेडिट कार्ड भुगतान और स्कूल-कॉलेजों की फीस 30 अप्रैल तक भर सकेंगे। कलेक्टर गाइड लाइन की तिथि अब 30 अप्रैल की गई है।गाइडलाइन के मुताबिक, 10वीं, 12वीं कक्षा कोछोड़ अन्य कक्षाओं में जनरल प्रमोशन के आदेश जारी किए गए हैं। बोर्ड की परीक्षाएं आगे बढ़ा दी गई हैं। सिनेमाघर, शराब, भांग की दुकानें 14 अप्रैल तक बंद रहेगी। रेलवे 21 मार्च से 14 अप्रैल तक के रिजर्व टिकट का पैसा रिफंड करेगा। डीमार्ट, रिलायंस सहित अन्य सुपर सामान घर पहुंचाएंगे। जिला प्रशासन में आवेदन करने पर ऑनलाइन पास मिल सकेंगे।ट्रैक्टर हार्वेस्टर, क्रेशर आदि के संचालन पर कोई रोक नहीं रहेगी।तीन माह की वृद्धावस्था पेंशन की राशि हितग्राहियों को एक साथ दी जाएगी। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today फाइल फोटो..
                 

बिजली सुधार रहे लाइनमैन को करंट का झटका लगा, खंभे से गिरकर मौत

इंदौर.बाणगंगा क्षेत्र में एक खंभेपर चढ़कर बिजली सुधार रहे लाइनमेन को करंट लग गया। झटका लगते ही वह खंभेसे गिरा और मौत हो गई।बाणगंगा पुलिस के अनुसार, भागीरथपुरा में रहने वाले 50 वर्षीय लाइनमेन सुरेश लश्करी की करंट लगने शुक्रवार देर रात मौत हो गई। पता चला है कि वहदुर्गा नगर इलाके में शुक्रवार को बिजली सुधारने के लिए खंभेपर चढ़ा था,तभी अचानक लाइन चालू हो गई और उसेतेजी से झटका लगा। बिजली विभाग और पुलिस इसमें जांच कर रहे हैं कि आखिर किसकी लापरवाही से यह हादसा हुआ है। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today प्रतीकात्मक फोटो।..
                 

घर के बाहर आराम फरमाते दिखे तो पुलिस ले जाएगी थाने, रातभर गश्त पर रहेंगे सिपाही

इंदौर. बोरियत होने या अन्य कोई बहाना बनाकर घरों के बाहर कुर्सियां लगाकर बैठने वाले लोगों की अब खैर नही होगी। यदि लोग अपने घरों के बाहर भी बैठे मिले तो पुलिस की वैन उन्हें उठाकर ले जाएगी। फिर वहां थाने में बैठाकर आराम करने की सलाह दे दी जाएगी।लॉकडाउन और कर्फ्यू होने के बाद भी घरों के बाहर मोहल्ले और गलियों में टहलने वाले लोगों को अब पुलिस पकड़कर सीधे थाने ले जाएगी। वहां पर उनके खिलाफ धारा 151 या 188 के उल्लंघन के तहत कार्रवाई की जाएगी। यह पुलिस का फैसला है, क्योंकि अफसर भीलोगों को घरों में बैठने की अपील कर चुकेहैं। अक्सर देखने में आता है कि पुलिस की गाड़ियां निकलते ही लोग फिर से सड़कों पर उतर आते हैं। कोई आराम फरमाना चाहता है तो कोई टहलने का बहाना बनाता है। इसको देखते हुए सभी पुलिसकर्मियों को साफ-साफ कह दिया गया है कि वे अपने साथ थाने की एक वैन भी लेकर चलें। कर्फ्यू टाइम में जहां भी लोग घरों के बाहर टहलते या आराम फरमाते दिखें तो उन्हें पकड़ लें।धार्मिक स्थलों पर पुलिस की नजरइसके अलावा पुलिस अब सभी धार्मिक स्थलों पर भी नजर रख रही है। क्योंकि अब मस्जिदों में भी तीन-चार लोगों से ज्यादा नही..
                 

इंदौर के कोरोना पॉजिटिव डॉक्टर बोले- डरे नहीं, यह फ्लू जैसा ही है, पॉजिटिव आ भी गए तो उबर जाएंगे

इंदौर (संजय गुप्ता).कोरोनावायरस के तीन दिन में कई संक्रमित सामने आने और दो मौतों के बाद लोग डरे हुए हैं। भास्कर ने अस्पताल में भर्तीकोरोना से संक्रमितएक डॉक्टरसे बात की। उन्होंने कोरोना से पीड़ित होने की कहानी और इससे लड़ने के लिए क्या करना है, इसे साझा किया...निजी अस्पताल में भर्ती डॉक्टरने बताया, "मैं जिस प्रोफेशन में हूं, उसमें मरीजों से संपर्क निरंतर चलता है। पिछले हफ्ते मुझे बुखार आया और गले में खराश हुई तो शक हुआ। चेकअप करवाया। इसी बीच मुझे आशंका थी, इसलिए मैंने खुद को घर में आइसोलेट कर लिया। दोनों बच्चे और पत्नी अलग कमरे में और मैं अलग कमरे में। मैंने चीजें भी अलग यूज करना शुरू कर दिया। पहली रिपोर्ट में कुछ साफ नहीं हुआ, फिर सीटी स्कैन में कोरोना के लक्षण दिखे। सैंपल जांच से इसकी पुष्टि हुई। पांच दिन पहले मुझे अस्पताल में भर्ती किया,अब खुद को ठीक महसूस कर रहा हूं, लेकिन एक बात जो मैंने समझी है, वह यह है कि इस वायरस को हराने का एक ही तरीका है कि घर पर रहें और सरकार के निर्देशों का सख्ती से पालन करें।इंदौर में ये कम्युनिटी संक्रमण की तीसरी स्टेज परउन्होंने बताया, '' मैं..
                 

कर्फ्यू के बीच मंडी में बढ़ी सब्जी की आवक, टमाटर 25 रुपए किलो तो गोभी 10 से 15 रुपए नग बिका

इंदौर. कोराेनावायरस के बढ़ते प्रकोप के चलते देशभर में 21 दिन का लॉकडाउनहै। इंदौर में प्रशासन ने कर्फ्यू लगा दिया है। शनिवार को चौथे दिनमाल की आवक कम होने से लोगों को सब्जी समेत अन्य आवश्यक सामाग्री को लेने में थोड़ी परेशानी का सामना करना पड़ा। चोइथराम सब्जी मंडी में शनिवार को सब्जियों की भरपूर आवक रही। जिस कारण सभी सब्जियां लोगों को वाजिब दामों में मिलीं।शनिवार सुबह मंडी में निमाड़ की तरफ से करीब 15 गाड़ी सब्जियों की आवक हुई। इससे सब्जियों के दाम कम हो गए। मंडी में टमाटर 25 रुपए किलो, भिंडी 20 रुपए किलो, गिलकी 15 रुपए, मैंथी-पालक 10 से 12 रुपए किलो, पत्ता और फूल गोभी 10 से 15 रुपए नग के बीच बेचा गया। कर्फ्यू के चलते मंडी सुबह साढ़े 4 बजे से शुरू हुई और 9 बजे तक खुली रही। इस दौरान बार-बार प्रशासन द्वारा अनाउंसमेंट किया गया कि आप लोग सब्जियां खरीदकर जल्दी से घर के लिए निकले।मंडी प्रशासन द्वारा भी यहां सोशल डिस्टेंसिंग के लिए बार-बार अनाउंसमेंट किया गया। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today मंडी में सब्जी खरीदने पहुंचे लोग।..
                 

कोरोना की दहशत से लोगों का मनोबल न टूटे इसलिए मरीज ने साझा किया अनुभव, बोला- मैं डरा नहीं, 97% मरीज ठीक हो जाते हैं

संजय गुप्ता. इंदौर.कोरोना वायरस के तीन दिन में कई संक्रमित सामने आने और दो मौतों के बाद लोग थोड़े डरे हुए हैं। भास्कर ने कोरोना से संक्रमित अस्पताल में भर्ती एक मरीज से बात की। उन्होंने कोरोना से पीड़ित होने की कहानी और इससे लड़ने के लिए क्या करना है, इसे साझा किया...ऐसे लड़े... शंका होते ही आइसोलेट हुए, इससे परिवार संक्रमित नहीं हुआ, खुद भी अब ठीकमैं जिस प्रोफेशन में हूं, उसमें मरीजों से संपर्क निरंतर चलता है। पिछले हफ्ते मुझे बुखार आया और गले में खराश हुई तो शक हुआ। चेकअप करवाया। इसी बीच मुझे आशंका थी, इसलिए मैंने खुद को घर में आइसोलेट कर लिया। दोनों बच्चे और पत्नी अलग कमरे में और मैं अलग कमरे में। मैंने चीजें भी अलग यूज करना शुरू कर दीं। पहली रिपोर्ट में कुछ क्लीयर नहीं हुआ, फिर सीटी स्कैन करवाया तो कोरोना के लक्षण दिखे। सैंपल जांच से इसकी पुष्टि हुई। पांच दिन पहले मुझे एडमिट किया, अब खुद को ठीक फील कर रहा हूं, लेकिन एक बात जो मैंने समझी है वह यह है कि इस वायरस को हराने का एक ही तरीका है कि घर पर रहें और सरकार के निर्देशों का सख्ती से पालन करें। ऐसा इसलिए कि मैं न विदेश गया, न ही किसी ऐ..
                 

3 किमी तो दूर, 100 मीटर के दायरे में भी आने-जाने पर रोक नहीं, जिस घर में पॉजिटिव केस, वहीं पड़ोसी घर का दरवाजा खुला था

इंदौर. कोरोना पॉजिटिव केस मिलने वाले रानीपुरा, निपानिया, खातीवाला टैंक, चंदननगर और खजराना को तीन किलोमीटर के हिस्से में पुलिस-प्रशासन ने पूरी तरह सील करने का दावा किया है। पर हकीकत में इन क्षेत्रों में कोरोना के संक्रमण रोकने के प्रयास गंभीर स्थिति में हैं।कॉलोनी के मुख्य गेट पर पुलिस ही नहीं जवान जानते ही नहीं ये कंटेनमेंट एरिया हैखजराना से दिनेश जोशी... प्रशासन ने खजराना रोड स्थित जिस दाऊदी नगर को कंटेनमेंट एरिया घोषित किया, वहां सब कुछ नियमित दिनों की तरह नजर आया। लगा ही नहीं कि एक दिन पहले यहां एक घर से कोरोना संक्रमित मरीज मिली है। कॉलोनी में घुसते ही लोग घरों के बाहर बैठे नजर आए। जिस घर से कोरोना का मरीज मिला, उसके ठीक पास वाले घर का भी दरवाजा खुला था। न तो कॉलोनी के मुख्य गेट पर पुलिस नजर आई और न निगम की टीम। हां, औपचारिकता पूरी करने स्वास्थ्य विभाग की टीम जरूर पहुंची थी। लोगों को घरों में रहने की हिदायत और घर तक जरूरी सामान पहुंचाने का आश्वासन देकर रवाना हो गई। कुछ मीटर दूर चौराहे पर खड़ी पुलिस लोगों से आने-जाने का कारण जरूर पूछकर दस्तावेज भी चेक करती है, लेकिन एरिया को कंटेनमें..
                 

आईआईएम ने आगे बढ़ाई पांच सालाना कोर्स की प्रवेश परीक्षा, कोर्स पूरा करने दो सप्ताह लगेंगी ऑनलाइन कक्षाएं

इंदौर.आईआईएम इंदौर ने पांच सालाना कोर्स इंटीग्रेटेड प्रोग्राम इन मैनेजमेंट (आईपीएम) के लिए होने वाली प्रवेश परीक्षा अनिश्चित काल के लिए आगे बढ़ा दी है। कोरोना की वजह से आईआईएम को अपने कई कार्यक्रमों में बदलाव करना पड़ रहा है। आईपीएम एप्टीट्यूड टेस्ट भी उन्हीं में से एक है। पहले यह 30 अप्रैल को होने वाला था।रजिस्ट्रेशन की तारीख भी आगे बढ़ाई गई हैं। आईपीएम की प्रवेश परीक्षा के लिए अब छात्र 20 अप्रैल तक रजिस्ट्रेशन कर सकेंगे। आईआईएम इंदौर का आईपीएम कोर्स देश का एकमात्र कोर्स है जो बारहवीं के बाद छात्रों को आईआईएम में प्रवेश का मौका देता है।कोर्स पूरा करने प्रोफेसर ले रहे ऑनलाइन क्लासआईआईएम के प्रोफेसर ऑनलाइन पढ़ाई करवा रहे हैं। कोरोना की वजह से संस्थान के सभी छात्रों को घर भेज दिया गया है। इससे आईपीएम की पढ़ाई प्रभावित हो रही थी। आईआईएम के अनुसार पीजीपी के छात्रों का सत्र पूरा हो चुका, लेकिन आईपीएम के छात्रों का कोर्स वर्क शेष था, इसलिए ऑनलाइन क्लास लगाई जा रही है। दो हफ्तों तक देश के अलग-अलग शहरों में बैठे छात्र अपने घरों पर ही पढ़ाई करेंगे। कोर्स पूरा हो जाएगा। Download Dainik Bhaskar A..
                 

ऑर्डर करें, निगम आपके घर भेजेगा दवा; इस नंबर पर डॉक्टरी परामर्श

इंदौर.बाजार में भीड़ कम करने के उद्देश्य से सब्जी, किराने के बाद अब शनिवार से लोगों तक घर बैठे ही दवाइयां पहुंचाई जाएंगी। निगमायुक्त आशीष सिंह ने बताया सब्जी-किराने के बाद सबसे ज्यादा भीड़ दवा दुकानों पर उमड़ रही है। इसे देखते हुए व्यवस्था की जा रही है कि लोगों को घर पर ही दवाइयां मिले।कुछ विक्रेता हैं जो पहले से घर पहुंच सेवा उपलब्ध करवा रहे हैं। उनका पूरा सिस्टम भी डेवलप किया हुआ है। निगम कंट्रोल रूम पर कुछ फार्मासिस्ट बैठेंगे।लोग जो भी दवा ऑर्डर करेंगे वह उनके घर पहुंचाई जाएंगी और वहीं पेमेंट हो जाएगा। हालांकि निगम ने इसके लिए अभी कोई नंबर जारी नहीं है।माेबाइल नंबर 7489244895 पर ले सकते हैं परामर्शउधर, प्रशासन ने टेली मेडिसिन सुविधा शुरू की है। इसके तहत माेबाइल नंबर 7489244895 पर वाट्स एप मैसेज, वॉइस या वीडियो कॉल द्वारा डाॅक्टराें से परामर्श लिया जा सकता है। अभी सामान्य सर्दी-खांसी होने पर भी लोगों को कोरोना का डर सता रहा है। एेसे में टेलीमेडिसिन सुविधा द्वारा सर्दी, खांसी, जुकाम आदि के लक्षण देखकर परामर्श दिया जा सकेगा। जरूरत हाेने पर मेडिकल मोबाइल यूनिट संबंधित व्यक्ति के घर जाकर भी..
                 

कर्फ्यू के दौरान आमजन की सहायता के लिए रैपिड रिस्पांस टीम का गठन, जारी किए महत्वपूर्ण नंबर

इंदौर. कोरोनावायरस से बचाव के लिए लगाए गए कर्फ्यू के दौरान आमजन की सहायात के लिए जिला प्रशासनद्वारा रैपिड रिस्पांस टीम का गठन किया गया है। साथ ही हेल्पलाइन नंबर, फोन नंबर, मोबाइल नंबर जारी किए गए हैं। जिससे संपर्ककर कोई भी व्यक्ति अपनी समस्याओं का समाधान करा सकता है।आवश्यक एवं चिकित्सीय वस्तुओं के परिवहन के लिए आरटीओ से करें संपर्कआवश्यक वस्तुओं एवं चिकित्सीय वस्तुओं के परिवहन हेतु वाहनों को दी जाने वाली विशेष अनुज्ञा हेतु आरटीओ इंदौर जितेन्द्र सिंह रघुवंशी (मोबाइल नंबर 7354757062), एआरटीओ अर्चना मिश्रा (मोबाइल नंबर 9425304091) तथा एआरटीओ हृदेश यादव (मोबाइल नंबर 8435093232) से संपर्क किया जा सकता है।सैनिटाइजेशन के लिये रेपिड रिस्पांस टीम से करें संपर्ककिसी क्षेत्र में सैनिटाइजेशन कराए जाने की तत्काल आवश्यकता होने पर नगर निगम के अधिकारी एसके उपाध्याय (माेबाइल नंबर 7440443323/8839811588) से संपर्क किया जा सकता है। सैनिटाइजेशन से संबंधित नगर निगम से समन्वय करने हेतु महिला एवं बाल विकास विभाग के सहायक संचालक विष्णु प्रताप राठौर (मोबाइल नंबर 9826072001) को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है।भ..
                 

कोरोना महामारी से लड़ने के लिए एयरपोर्ट अथॉरिटी ने दिया 25 लाख रुपए का योगदान

इंदौर. कोरोना महामारी से मुकाबला करने के लिए कई संस्थाओं द्वारा प्रशासन को आर्थिेक मदद दी जा रही है। शुक्रवार को एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया इंदौर द्वारा 25 लाख रुपए की सहायता राशि प्रशासन को सौंपी गई। इंदौर एयरपोर्ट की डायरेक्टर आर्यमा सान्याल ने उक्त राशि का चेक इंदौर संभाग के आयुक्त आकाश त्रिपाठी को सौंपा।इसके अलावा देवी अहिल्या विवि टीचर्स एसोसिएशन (देवता) द्वारा एक दिन का वेतन मुख्यमंत्री राहत कोष में देने की घोषणा की गई है। विवि के तृतीय व चतुर्थ श्रेणी स्ववित्त कर्मचारियों ने भी एक दिन का वेतन देने की सहमति दी है।आइसोलेशन वार्ड के लिए पूर्व मंत्री रामेश्वर पटेल बायपास स्थित 10 एकड़ में बने विद्यासागर कॉलेज कैंपस को देने को तैयार हैं। वहीं विधायक संजय शुक्ला ने विधानसभा क्षेत्र क्रमांक 1 के सभी वार्डों में एक-एक वार्ड प्रतिनिधि की नियुक्ति की है। इन लोगों के मोबाइल नंबर भी जारी किए। किसी भी व्यक्ति को कोई मेडिकल इमरजेंसी, जरूरत है तो वे लोगों की समस्या का समाधान करेंगे। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today संभागायुक्त को स..
                 

अस्थमा की बीमारी से पीड़ित 70  साल की वृद्धा ने लगाई फांसी

इंदौर. अस्थमा की बीमारी से पीड़ित 70 साल की एक वृद्धा ने घर में उस वक्त फांसी लगाकर जान दे दी, जब घर में कोई नहीं था। परिजन भी उसकी आत्महत्या से परेशान है।सिमरोल पुलिस के अनुसार गांधी चौक में रहने वाली 70 वर्षीय कृष्णा बाई थंदेले ने गुरुवार को फांसी लगा ली। वह बड़े बेटे नवीन के साथ रहती थी। नवीन किसी काम से रतलाम गया था, लेकिन लाॅकडाउन के दौरान वहां फंस गया था। पास में वृद्धा का छोटा बेटा भी रहता है। गुरुवार शाम को जब वृद्धा घर के बाहर नहीं निकली तो पडोसियों और छोटे बेटे ने दरवाजा धकाया। अंदर वह फंदे पर टंगी थी। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today प्रातीकात्मक फोटो।..
                 

महिदपुर टीआई की धमकी - लोग मान जाएं, नहीं तो मैं एक शूटर हूं, 7 सेकंड में टपका दूंगा, आप मुझे याद रखोगे, एसपी ने किया लाइन अटैच

इंदाैर. कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकाेप काे देखते हुए देशभर में 21 दिन का लाॅकडाउन है। इंदाैर-उज्जैन सहित प्रदेश के कई जिलों में कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद कर्फ्यू लगा दिया गया। इसी बीच महिदपुर टीआई के सोशल मीडिया पर किए गए पोस्ट से हंगामा मच गया है। टीआई ने लोगों को खुली धमकी दी है कि लोग मान जाएं, अपने घरों में रहें, नहीं तो मैं एक शूटर हूं...7 सेकेंड में टपका दूंगा और आप मुझे याद रखोगे। पोस्ट वायरल होने के बाद उज्जैन एसपी ने टीआई को लाइन अटैच कर दिया है। एसपी सचिन अतुलकर के अनुसार महिदपुर टीआई संजय वर्मा के खिलाफ सोशल मीडिया पर धमकी भरी पोस्ट डालने की सूचना मिली थी। पाेस्ट देखने के बाद टीआई पर तत्काल कार्रवाई करते हुए लाइन अटैच किया गया है।टीआई ने कोरोना प्रकोप को देखते हुए एक वाट्सएप ग्रुप पर घरों से बाहर निकल रहे लोगों को लेकर धमकी भरे कुछ पोस्ट किए। उन्होंने लिखा - कल से समयावधि में आप डिस्टेंस नहीं रखेंगे तो हम इलाज करेंगे, ये वादा है। आपको इस देश की जनता को प्यार करते हैं, इसलिए आपको बचाने की कोशिश कर रहे हैं। आप लोग मान जाओ, मैं तो स्नैप शूटर हूं, 7 सेकंड में टपका दूंगा। म..
                 

शर्मनाक: देश में कोरोना से मर रहे, उधर 300 करोड़ के लालच में सरकार बंद नहीं करवा रही शराब दुकानें

इंदौर(सुनील सिंह बघेल).इधर कोरोना संक्रमण तेजी से थर्ड स्टेज की ओर बढ़ रहा है फिर भी सरकार शराब दुकानों से राजस्व का लालच छोड़ नहीं पा रही है। लॉक डाउन के बाद इंदौर छिंदवाड़ा सहित कुछ जिलों को छोड़ , अधिकांश जिलों में अभी भी शराब दुकान मजबूरन खोली जा रही हैं। यह बात अलग है कि लोग इन दुकानों में पहुंच ही नहीं रहे। भास्कर ने पड़तालकी तो पता चला कि इसके पीछे ,लाइसेंस फीस से मिलने वाले 300 करोड़ के राजस्व का लालच है।राजस्व का यह लालच दुकान के कर्मचारियों और आम लोगों के लिए भी परेशानी का सबब बन सकता है। हर दुकान में 4 से 5 कर्मचारी काम करते हैं इन सब की सुरक्षा खतरे में हैं। यह संक्रमण के बड़े संवाहक भी बन सकते हैं।इंदौर ,छिंदवाड़ा जिलों के कलेक्टरों ने लॉक डाउन को देखते हुए 31 मार्च तक शराब की दुकानों को बंद रखने के आदेश दिए हैं।भोपाल जबलपुर जैसे जिन जिलों में कर्फ्यू लागू है वहां की दुकानें बंद हैं लेकिन जहां सिर्फ लॉक डाउन है,कर्फ्यू नहीं हैं वहां दुकानें खोली जा रही हैं। मालवा क्षेत्र की ही बात करें तो यहां के धार, झाबुआ अलीराजपुर,बड़वानी, खंडवा जैसे जिलों में कर्फ्यू न होने के कारण ठेक..
                 

इंदौर की रोज की जीडीपी 400 करोड़ की, लॉकडाउन से 80% गिरी; तीन माह में सामान्य होगी देश की अर्थव्यवस्था

इंदौर.कोरोना से बचाव के लिए किए गए लॉकडाउन का असर हमारी अर्थव्यवस्था पर भी पड़ रहा है। मप्र की जीडीपी (सकल घरेलू उत्पाद) करीब साढ़े आठ लाख करोड़ रुपए है। इसमें इंदौर का सबसे अधिक हिस्सा डेढ़ लाख करोड़ से ज्यादा है। यानी, यहां हर दिन की औसतन जीडीपी 400 करोड़ रुपए है। लॉकडाउन के कारण इंदौर की जीडीपी में 80 फीसदी की गिरावट आ गई है। केवल किराना, दवा और अन्य जरूरी सेक्टर में ही काम होने से यह घटकर 80 से 100 करोड़ के बीच ही रह गई है। कोरोना के प्रभाव को लेकर फिक्की (फेडरेशन ऑफ इंडियन चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री) ने करीब 60 पन्नों की रिपोर्ट केंद्र सरकार को दी है।इस रिपोर्ट में विभिन्न उद्योग, बैंकिंग और अन्य कॉर्पोरेट सेक्टर से बात करके सुझाव दिए हैं। इसमें बताया है कि कोरोना के चलते बाजार में कैश फ्लो 80 फीसदी कम हो गया है। व्यापार पर 53 फीसदी असर दिख रहा है। यह असर कम से कम तीन माह रहने की अाशंका है। इसके बाद ही बाजार सामान्य रूप में आ सकेगा।वित्तीय वर्ष बढ़ाने से जीएसटी हाॅलिडे ईयर तक के सुझाव सभी तरह के रिटर्न भरने की अंतिम तारीख को तीन माह बढ़ाया जाए। एविएशन, ट्रेवल जैसे सेक्टर जहां ..
                 

हाई कोर्ट जज ने वीडियो काॅन्फ्रेंस के जरिए महिला को दी गर्भपात की मंजूरी

इंदौर. कोरोना कारण हाई कोर्ट सहित सभी न्यायालयों में भी काम बंद है, लेकिन विशेष मामलों के लिए जज सुनवाई कर रहे हैं। गुरुवार को ऐसा ही एक मामला हाई कोर्ट की इंदौर खंडपीठ में लगा। चूंकि कोरोना के चलते लोगों को समूह में इकट्ठा नहीं होना हैै। इसलिए वीडियो काॅन्फ्रेंस के जरिए सुनवाईहुई। दरअसल, एक गर्भवती महिला ने कोख में विकसित नहीं हो रहे बच्चे को गिराने के लिए अर्जी दायर की थी।बच्चा अविकसित होकर विकृत भी था। कोर्ट ने मामले की गंभीरता को देखते हुए गर्भपात कराने के आदेश दिए।जस्टिस विवेक रुसिया ने हाई कोर्ट परिसर में वीडियो काॅन्फ्रेंस के जरिए सुनवाई की। याचिकाकर्ता महिला की ओर से अधिवक्ता यशपाल राठौर ने पैरवी की, जबकि शासन की ओर प्रभारी अतिरिक्त महाधिवक्ता अंशुमान श्रीवास्तव के निर्देश पर विनय गांधी ने पक्ष रखा। याचिका में उल्लेख किया था कि महिला को 18 सप्ताह से ज्यादा का गर्भ हो चुका है, लेकिन बच्चा विकसित नहीं हो रहा। महिला विकृत बच्चा पैदा नहीं करना चाहती। हाईकोर्ट इस मामले में पहले मेडिकल बोर्ड गठित कर चुकी थी। बोर्ड की अनुशंसाको देखते हुए ही हाई कोर्ट ने गर्भपात की अनुमति दे दी।अदालत म..
                 

मां को कोरोना, बीमार बेटे को ले परिजन दिनभर घूमे; छह अस्पतालों ने भगाया

इंदौर. खजराना निवासी 70 वर्षीय महिला में बुधवार देर रात कोरोना की पुष्टि हुई थी। वे सुयश अस्पताल में भर्ती हैं। उनके 45 वर्षीय बीमार बेटे का भी चरक अस्पताल में इलाज चल रहा था। मां में कोरोना संक्रमण का पता लगते ही अस्पताल प्रबंधन ने उन्हें डिस्चार्ज कर दिया। उनके रिश्तेदार जुबैर मुलतानी बताते हैं कि अस्पताल वाले बोले- एमवायएच ले जाओ। हम पहले मयूर अस्पताल ले गए। वहां मना कर दिया। इसके बाद बांबे हॉस्पिटल, सुयश और चोइथराम अस्पताल ने भी मना कर दिया।एमवायएच में भी सुनवाई नहीं हुई। पूरा दिन छह अस्पताल भटके लेकिन मां संक्रमित होने से बेटे को भर्ती नहीं किया गया। एम्बुलेंस 108 को फोन लगाया तो बोले कि 104 नंबर पर लगाओ। 104 नंबर पर लगाया तो जवाब मिला कि एम्बुलेंस 108 पर लगाओ। सीएम हेल्पलाइन पर भी रिस्पांस नहीं मिला। आखिरकार जिला प्रशासन को शिकायत की। तब एक डॉक्टर का फोन आया। एम्बुलेंस की व्यवस्था तब भी नहीं हुई। फिर डॉक्टर ने कहा कि एम्बुलेंस 108 से आ जाइए। उसे फोन लगाए भी दो घंटे बीत गए है लेकिन एम्बुलेंस नहीं आई। इनकाे घर में रखना भी सुरक्षित नहीं है।गाेकुलदास : कोरोना पॉजिटिव को दूसरे अस्पताल..
                 

आजाद नगर पुलिस ने पूर्व पार्षद पति शेख अलीम के खिलाफ भी केस दर्ज

इंदौर. आजाद नगर पुलिस ने पूर्व पार्षद पति शेख अलीम के खिलाफ भी धारा 188 में केस दर्ज किया है। आजाद नगर टीआई संजय शर्मा ने बताया कि कोरोना संक्रमण को लेकर पुलिस व प्रशासन द्वारा सभी किराना दुकानों के संचालकों को स्पष्ट निर्देश दिए गए थे कि वे अपने यहां आने वाले ग्राहकों को एक मीटर की दूरी पर खड़े रहकर दूर से ही सामान देंगे, लेकिन कई दुकानदार इस गाइड लाइन को नजर अंदाज कर रहे थे।आजाद नगर में पूर्व पार्षद शेख अलीम अपनी ही घर स्थित दुकान से कर्फ्यू में मिली ढील के दौरान जब सामान बेच रहे थे तो उन्होंने डब्लूएचओ द्वारा जारी इस गाइड लाइन का कोई पालन नहीं किया। उन्होंने जन स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ किया। इसलिए उनके खिलाफ एसपी मोहम्मद युसुफ कुरैशी के निर्देश के बाद केस दर्ज किया है।केस दर्ज होने के बाद कांग्रेस नेता शेख अलीम ने कहा कि हमने सुबह से ऐहतियात सभी तैयारियां की थी। समान बेचने के दौरान दूरी के निशान भी लगाए थे और अनाउंसमेंट भी किया जा रहा था। बड़ी संख्या में कतारबद्ध महिलाओं को राशन दिया,लेकिन जब अव्यवस्था फैली तो हमने स्वयं राहत कार्य रोक दिया। उन्होंने कहा कि इलाके के गरीब लोग भूख के आगे..
                 

बार-बार पुलिस आने पर बदमाश का घर खाली करवाया तो उसने आग लगाने की कोशिश की

इंदौर.कुश्वाह नगर में रहने वाली एक महिला के घर पर एक बदमाश ने आग लगाने की कोशिश की। उसकी पहचान सीसीटीवी कैमरे के आधार पर हो गई है। फिलहाल तलाश जारी है।बाणगंगा पुलिस ने कुश्वाह नगर में रहने वाली बबली व्यास की रिपोर्ट पर मोहल्ले में रहने वाले जस्सू उर्फ जशवंत के खिलाफ आगजनी का केस दर्ज किया है। महिला ने बताया कि घटना 24 मार्च की रात 11 बजे की है। वह अफने घर का दरवाजा लगाकर मोबाइल चला रही थी। उस वक्त महिला का पति मनोज सो रहा था। महिला ने देखा कि उसके दरवाजे से उजाला आ रहा है। इस पर महिला ने दरवाजा खोलकर देखा तो आगे बंधा पर्दा जल रहा था। महिला ने उसे बुझाया और लोगों से पूछताछ की। बाद में महिला ने घर में लगे सीसीटीवी कैमरे देखे। उसमें दिखा कि आरोपी जस्सू पर्दे में आग लगाकर भागा है। फिलहाल पुलिस उसकी तलास कर रही है।महिला ने बताया कि जस्सू आपराधिक प्रवृत्ति का है। उसे खोजने और पूछताछ के लिए कई बार पुलिस मोहल्ले में आती थी। इसलिए मोहल्ले के लोगों के कहने के बाद बबली ने अपना मकान जस्सू से खाली करवा लिया। बस इसी बात से वह खुन्नस खाया हुआ था। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi..
                 

उज्जैन के 2 संदिग्ध मरीजों की इलाज के दौरान मौत, सर्दी, खांसी और सांस लेने में तकलीफ के बाद भर्ती हुए थे

इंदौर. इंदौर मेंगुरुवार को 2कोरोना संदिग्ध मरीजों की मौत का मामला सामने आया। एक की माैत गुरुवार तड़केइंदौर के एमआर टीबी अस्पताल में हुई। जबकि दूसरे ने उज्जैन से इंदौर लाते समय रास्ते में दम तोड़ दिया। दोनों को ही सर्दी, खांसी और सांस लेने में तकलीफ के बाद उज्जैन से इंदाैर रैफर किया गया था। जांच रिपोर्ट आने के बाद ही उनके कोराेना पॉजिटिव होने या नहीं होने का पता चल पाएगा।एमजीएम मेडिकल कॉलेज से जारी काेरोना बुलेटिन में बताया गया कि गुरुवार सुबहउज्जैन के ऋषिनगर में रहने वाले 47 साल के व्यक्ति की इलाज के दौरान मौत हो गई। मरीज को उज्जैन के सिविल अस्पताल से इंदौर के लिए रैफर किया गया था। इसके बाद वह 25 मार्च को एमआर टीबी अस्पताल में भर्ती हुआ था। मरीज को सांस लेने में परेशानी थी। वह सर्दी, खांसी और बुखार से भीपीड़ित था। मरीज को अन्य कोई बीमारी नहीं थी। मरीज का कोई ट्रेवल और कांटेक्ट हिस्ट्री होना नहीं बताया गया।कोरोनाजांच के लिए सैंपल भेजा गया था, जिसकी रिपोर्ट अभी नहीं मिल पाई है। उसका एंटीबायोटिक्स और अन्य दवाई से उपचार किया गया।दूसरे युवक के परिजन बोले- टाइफाइड थावहीं, महिदपुर वाला बाखल निव..
                 

8.23 करोड़ रुपए में संवरेगा 11 एकड़ में फैला इंदौर का नेहरू पार्क, फिर दाैड़ेगी टाॅय ट्रेन

इंदौर (दीपेश शर्मा ) .नेहरू पार्क को संवारने की याेजना स्मार्ट सिटी कंपनी ने तैयार कर ली है। इसमें टॉय ट्रेन और बोगियों पर ही 27 लाख रुपए खर्च किए जाएंगे। पहले चरण में किए गए 8.23 करोड़ रुपए के टेंडर में ट्रेन के साथ किड्स प्ले एरिया, पाथ-वे, गजीबो सहित 17 काम होंगे। दूसरे चरण में फूड कोर्ट, मल्टीलेवल पार्किंग व अन्य सुविधाएं जोड़ी जाएंगी। 11 एकड़ में फैले नेहरू पार्क को अाठ करोड़ रुपए में विकसित करने की योजना निगम ने बनाई थी।करीब दाे करोड़ रुपए के काम हो चुके हैं, लेकिन निगम की वित्तीय स्थिति ठीक नहीं होने के कारण पार्क का विकास नहीं हो पा रहा था। अब इसे स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में शामिल कर 8.23 करोड़ के टेंडर कर दिए हैं। अधिकारियों का दावा है कि इसे 56 दुकान से भी खूबसूरत बनाया जाएगा। स्मार्ट सिटी के सीईओ संदीप सोनी ने बताया कार्य को जून तक पूरा करने का अल्टीमेटम काॅन्ट्रैक्टर को दिया है। यहां पर जल्द ही टाइमर लगाया जाएगा।दूसरे चरण में बनेंगे फूड कोर्ट और मल्टीलेवल पार्किंगसीईओ ने बताया कि पहले चरण का काम पूरा होने के साथ ही यहां लोगों के लिए फूड कोर्ट और मल्टीलेवल पार्किंग की व्यवस्था भी क..
                 

कोरोना ड्यूटी में गायब रहने पर एक एसआई, दो एएसआई और तीन कांस्टेबल सस्पेंड

इंदौर.कोरोना ड्यूटी के दौरान गायब रहने पर लसूड़िया और विजय नगर थाने के छह पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया है। इनमें एक एसआई, दो एएसआई और तीन कांस्टेबल शामिल हैं। एएसपी राजेश रघुवंशी ने बताया कि सीएसपी की चेकिंग में ये पुलिसकर्मी मुस्तैद नहीं मिले थे, इसलिए यह कार्रवाई की है। वहीं, सस्पेंड पुलिसकर्मियों का कहना है कि इस महामारी में भी हम 11-11 घंटे ड्यूटी कर रहे हैं। ऐसी कार्रवाई से हमारा मनोबल टूटेगा। सस्पेंड होने वालों में लसूड़िया थाने के एसआई जगदीश डाबर, एएसआई सत्यनारायण दुबे, एएसआई राकेश चौहान और बीट 78 के कांस्टेबल प्रमोद त्रिपाठी, कांस्टेबल नितेष राय और कांस्टेबल सुनील पटेल हैं। इसके अलावा विजय नगर थाने के एसआई एनएस यादव को भी वायरलेस पर सस्पेंड किया था। वह प्रभात गश्त पर सुबह साढ़े दस बजे से गए थे, लेकिन शाम तक बिना कोई खबर के नहीं लौटे। बाद में उन्हें राहत दे दी।ड्यूटी के बाद खाने खाने गए थे, अफसरों ने लापरवाही मान लीस्कीम 78 की बीट के कांस्टेबल नितेष राय को एएसपी ने कोई पॉइंट दिया था जिस पर वे मौके पर एक घंटे तक नहीं पहुंचे, इसलिए कार्रवाई की। कांस्टेबल सुनील पटेल बीट की गाड़ी ले..
                 

उज्जैन की संक्रमित महिला की मौत, आज ही पॉजिटिव रिपोर्ट आई थी; इंदौर में 4 संक्रमित मिलने के बाद कर्फ्यू लगा

इंदौर. मध्यप्रदेश में उज्जैन कीकोरोना पॉजिटिव 65 वर्षीयमहिला की मौत हो गई। वह 3 दिन से इंदौर के एसवाय हॉस्पिटल में भर्ती थी। उसे सांस लेने में दिक्कत हो रही थी। मंगलवार रात ही उसकी पॉजिटिव होने की रिपोर्ट आई थी। इंदौर में भी 4 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। इंदौर और उज्जैन में कर्फ्यू लगा है। इससे पहलेजबलपुर, भोपाल, ग्वालियर और शिवपुरी में काेरोना संक्रमित सामने आए थे।मंगलवार रात में आई रिपोर्ट में इंदौर में 4 और उज्जैन में एक मरीज के कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई। इसमें से 4 का इलाज निजी अस्पताल में चल रहा है।मध्य प्रदेशमें कुल 14 लोगसंक्रमित हैं। इनमें जबलपुर में 6, भोपाल 2, इंदौर 4,ग्वालियर और शिवपुरी में एक-एक पॉजिटिव मरीज शामिल हैं।इंदौर मेंअगले आदेश तक कर्फ्यूजारी रहेगाकलेक्टर लोकेश कुमार जाटव ने इंदौर शहरी सीमा में कर्फ्यू लगाने के आदेश जारी कर दिए हैं। इस आदेश के तहत पूर्णता बंद रहेगा। आवश्यक खाद्य दुकानोंमें किराना, मेडिकलआदि 26 मार्च से सुबह 7 से दोपहर 2 बजे तक ही खुलेंगी। पेट्रोल पंप औरअन्य आवश्यक निर्माण इकाइयां जैसे मास्क सैनिटाइजर, पेट्रोल पंप परिवहन चालू रहेगा। इसके अलावा आवश्य..
                 

उज्जैन में परिवार का एक संदिग्ध घर से भागा, 11 को जांच के लिए ले गए, जानसापुरा और केडीगेट को किया सील

उज्जैन. इंदौर में तीन दिन से इलाज करा रही महिला की रिपाेर्ट पॉजिटिव आने के बाद शहर में हड़कंप मच गया है। पुलिस ने जानसापुरा और केडीगेट को पूरी तरह से सील कर दिया है। वहीं, संदिग्ध महिला के परिवार के 11 लोगों को जांच के लिए टीम लेकर आई है। वहीं, एक संदिग्ध भाग गया है। महिला उज्जैन के जानसापुरा क्षेत्र की रहने वाली है, उसे 22 मार्च को सांस लेने में तकलीफ के चलते परिवार के लोगों ने चैरिटेबल हॉस्पिटल में भर्ती किया था। गंभीर हालत देखते हुए उसे चैरिटेबल से माधवनगर अस्पताल भेजा गया था। यहां उसे आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया था। उसके स्वाब व ब्लड का सैंपल लेकर जांच के लिए भेजा गया था, साथ ही महिला को इंदौर एमवाय अस्पताल रैफर कर दिया था। महिला की मंगलवार रात रिपोर्ट आई है।सीएमएचओ डॉ. अनुसुइया गवली ने बताया जानसापुरा की 65 साल की महिला की 22 मार्च को तबीयत खराब होने पर भर्ती किया गया था। महिला में कोरोना का संक्रमण पाया गया है। वह संक्रमित कैसे हुई उसके बारे में अभी कोई पुष्टि नहीं हुई है। महिला का इंदौर में इलाज चल रहा है। महिला के परिवार के 11 लोगों को भी जांच के लिए ले जाया गया है। बड़ा खतरा य..
                 

इंदौर में अभी भी कोई केस नहीं, 222 संदिग्धों में अब सिर्फ 14 की रिपोर्ट बाकी; लॉकडाउन में बाहर आए, 400 पर एफआईआर

इंदौर. कोरोना के कहर के बीच इंदौर जिले के लिए राहत वाली खबर है कि शहर में 222 होम क्वारेंटाइन में रखे गए लोगों में से सिर्फ 14 लोगों की जांच रिपोर्ट आना बाकी है। इनमें से 162 लोगों को मुक्त कर दिया गया है। अब केवल 60 लोग ही होम क्वारेंटाइन में हैं। इन सभी की जांच हो गई है और केवल 46 लोगों के सेंपल अभी तक जांच में लिए गए हैं और इसमें से 32 के सेंपल निगेटिव आ चुके हैं। मिली जानकारी के मुताबिक शहर में करीब तीन हजार लोग विदेश से आए हैं, निगम अधिकारियों को जोन वार इनकी सूची जांच के लिए दे दी गई है, जो मेडिकल अधिकारियों के साथ मौके पर जाकर इनकी जांच कराएंगे और जरूरत होने पर होम क्वारेंटाइन किया जाएगा।दूसरी ओर, मंगलवार को पुलिस ने ऐसे 400 लोगों को पकड़ा, जो बेवजह घरों से निकलकर घूम रहे थे। ऐसे कई लोगों को पुलिस ने तख्ती दी और लिखवाया- ‘मैं समाज का दुश्मन हूं।’ अब इनके वाहनों का रजिस्ट्रेशन निरस्त किया जाएगा। डीआईजी रुचिवर्धन मिश्र ने बताया कि अब कोई भी बिना कारण सड़कों पर घूमता मिला तो सीधे थाने भेजा जाएगा।राजबाड़ा, पाटनीपुरा पर जुलूस में शामिल 12 युवक गिरफ्तारइसी बीच, बीते रविवार को..
                 

सब्जी, किराना, दूध सहित जरूरी सेवाओं की सप्लाय चेन के आखिरी छाेर से

इंदौर (चोइथराम मंडी से प्रणय चौहान).चोइथराम फल व सब्जी मंडी में थोक, खेरची और ठेले वालों ने फल और सब्जियों के भाव दो से तीन गुना बढ़ा दिए। आम दिनों में जो टमाटर थोक में 10 से 15 रुपए किलो मिल रहा था, वह मंगलवार को 40 से 50 रुपए किलो में बेचा गया। थोक में 10 से 15 रुपए किलो मिलने वाली भिंडी 40 से 50 रुपए किलो बिकी। 70 रुपए किलो बिकने वाला लहसुन 100 रुपए किलो बिक रहा है। 10 रुपए किलो वाली मैथी 40 रुपए किलो, 10 वाला फूल गोभी व पत्ता गोभी 30 रुपए नग में बेचा गया।12 बजे बाद भी मालगंज के पास सब्जी खरीदने वालों की चहल पहल रहीबियाबानी क्षेत्र से अमित सालगटबियाबानी मेन रोड, सिलावटपुरा, राजमोहल्ला, जवाहर मार्ग, छत्रीपुरा क्षेत्र में दवाई, दूध, किराने की दुकानें खुली रहीं। महिलाएं-पुरुष घर में उपयोग होने वाली जरूरत की वस्तु खरीदते दिखे। दोपहर 12 बजे बाद भी मालगंज के पास सब्जी मंडी में सब्जी-फल खरीदने वालों की चहल पहल रही। कुछ तो सब्जी की दुकान पर भाव-ताव कर रहे थे। बोल रहे थे कि अभी तो इतने भाव में लेकर गया था। वहीं दोपहिया गाड़ी व जीप में क्षेत्र में घूम रही पुलिस राह चलने वालों को रोककर उन्हें जल..
                 

बिना काम के घूमने वाले 160 को पकड़ा, अब वाहनों का रजिस्ट्रेशन निरस्त होगा

इंदौर.माहामारी बन चुके कोरोनावायरस के प्रकोप को देखते हुए पहली बार लाॅकडाउन हुए शहर में मंगलवार को पुलिस प्रशासन की सख्ती देखने को मिली। प्रशासन के आदेश के बावजूद नियमों का उल्ल्घंन करते हुए घरों से निकलकर बेवजह घूमने वाले 160 लोगों को पुलिस ने चेकिंग के दौरान पकड़ा। उचित कारण नहीं बता पाने पर इनके वाहनों के नंबरों को आरटीओ को भेज रजिस्ट्रेशन निरस्त करने की कार्रवाई को कहा। इस दौरान शहर के सभी थाना प्रभारी सड़कों पर बल के साथ बैरिकेडिंग कर सुबह 8 बजे से ही इलाकों में तैनात रहे।डीआईजी रुचि वर्धन मिश्र ने बताया कि कोरोनावायरस को लेकर प्रशासन के द्वारा पूरे शहर में लॉकडाउन किया गया है। ऐसे में कोई भी फालतू या बिना कारण के सड़कों पर घूमेगा तो उसे हवालात में बैठा दिया जाएगा। इमरजेंसी व जरूरी कामों के लिए निकलने वालों को उचित कारण बताने के बाद ही छोड़ा जा रहा है। मंगलवार को हमने सुबह 8 बजे से लॉकडाउन का सख्ती से पालन करने के निर्देश दिए थे। बेवजह गाड़ियों पर शहर में घूमने निकले करीब 160 लोगों के वाहन जब्त कर उनके रजिस्ट्रेशन निलंबन के लिए आरटीओ को उनके वाहनों के नंबर भेजे गए हैं। यह सख्ती इसी तरह..
                 

डिपो में खड़ी सिटी बसों की बैटरियां चुराने वाली 2 महिला समेत 3 गिरफ्तार

इंदौर.एग्रीकल्चर कॉलेज के सामने सिटी बस डिपो से बैटरियां चुराने वाली एक गैंग को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इसमें दो महिलाएं व एक पुरुष शामिल है।संयोगितागंज टीआई नरेंद्र रघुवंशी के अनुसार पकड़ाए आरोपी पिपल्याहाना में रहने वाली लक्षमी पति मुकेश, उसकी साथी शांति नगर निवासी संतोष पति रमेश और ऑटो चालक अरूण पिता चतरू पालिया निवासी रतलाम कोठी है। पुलिस को सिटी बस डिपो के एक्जीक्यूटिव इंचार्ज अनिल ने सोमवार को सूचना दी थी कि उनके डिपो में कोई चोरी कर रहा है। इस पर पुलिस पहुंची और आरोपियों को रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया था। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today पुलिस हिरासत में बसों से बैटिरयां चुराने के आरोपी।..
                 

कल ब्रह्म मुहूर्त में घटस्थापना सर्वश्रेष्ठ, बिजासन माता मंदिर का आकर्षक शृंगार, पर भक्त दर्शन नहीं कर सकेंगे

इंदौर. कोरोना से बचाव के लिए शहर में 25 मार्च तक लॉकडाउन का आदेश है।वहीं, चैत्र नवरात्र पर्व की शुरुआत बुधवार से होगी। इस दिन कलश स्थापना कीजिए, नौ दिन सपरिवार हर देवी स्वरूपा की विधिपूर्वक पूजा कीजिए। नौ दिन पूजन के बाद रामनवमी यानी रामलला का जन्म है। ईश्वर करे 1 अप्रैल को इस दिन हम सबके जीवन में सामान्य दिनों वाली खुशियों का पुनर्जन्म हो। नवरात्रि पर बिजासन माता मंदिर का आकर्षक शृंगार किया जाएगा, लेकिन भक्त दर्शन नहीं कर सकेंगे।नवरात्र का महत्व इसलिए भी बढ़ जाता है, क्योंकि इसी दिन शुभ विक्रम संवत्सर की शुरुआत होती है। ये दिन हिंदू नववर्ष की शुरुआत भी माना जाता है। खजराना कालका माता मंदिर के पंडित शिव प्रसाद तिवारी ने बताया इस वर्ष माताजी का आगमन नाव पर होगा अर्थात माताजी का वाहन नाव है। मंगलवार को दोपहर 2.58 बजे से एकम तिथि लगेगी जो कि दूसरे दिन अर्थात बुधवार शाम 5.26 बजे तक रहेगी। घटस्थापना व कलश स्थापना के लिए ब्रह्ममुहूर्त को सर्वश्रेष्ठ माना गया है। इस दिन संपूर्ण ब्रह्म समय में एकम तिथि व्याप्त रहेगी।दिवसपर्यंत रेवती नक्षत्र रहेगा व दोपहर 3.36 बजे तक ब्रह्म योग रहेगा। अत: 25 मार..