जागरण हिन्दुस्तान नईदुनिया नवभारत टाइम्स

Sheopur News: मुख्यमंत्री को राशन वितरण के आंकड़े नहीं देने पर जिला आपूर्ति अधिकारी आरसी मीणा निलंबित

                 

Cheetah in MP: कूनों के बाड़े में अठखेलियां कर रहे चीतों की जंगल में शिकार पर नजर

                 

ऊमरी गांव में लंपी वायरस ग्रस्त से हुए एक दर्जन मवेशी

                 

मुक्तिधाम में टीनशेड नहीं होने से तिरपाल तानकर करना पड़ा शव का अंतिम संस्कार

                 

Cheetah in MP: हर चार घंटे में विशेषज्ञों की टीम कर रही चीतों की निगरानी

                 

Cheetah in MP: चीतों को देखभाल के लिए अफ्रीका से आया विशेषज्ञों का दो सदस्यी दल वापस लौटा

                 

Cheetah in MP: कूनो के पास आदिवासी क्षेत्रों में जमीन पांच गुना महंगी, होमस्टे की ओर कंपनियों का भी रुख

                 

Video: Cheetah in MP: चीता मित्रों से बोले प्रधानमंत्री- नेता या उनके रिश्तेदार आएंगे, मैं भी आऊं तो अंदर मत घुसने देना

                 

श्याेपुर में पीएम माेदी ने कहा-विदेशी मेहमानाें की थाली में माेटा अनाज पराेसा जाना चाहिए

                 

Cheetahs at Kuno Palpur Park: चीतों ने किया पूरा भोजन, नए माहौल में ढलकर घूमते नजर आए

                 

cheetah in mp: चार साल की मादा चीता को प्रधानमंत्री ने 'आशा" नाम दिया

                 

Cheetah in MP: बाड़े में छोड़े जाने बाद तीन घंटे बाद चीतों ने पिया पानी, चार घंटे बाद दिया खाना

                 

Cheetah in MP: जन्म दिवस पर प्रधानमंत्री मोदी देंगे देश को चीता युग की वापसी का उपहार

                 

श्योपुर में सफाई नहीं होने से नाराज कांग्रेस की महिला पार्षद ने सीएमओ चैंबर पर फेंका कचरा

                 

Cheetah in India PM Modi Speech Updates: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 8 चीतों को कूनो के बाड़े में छोड़ा, बोले- इन्हें देखने रखना होगा धैर्य

Cheetah in India PM Modi Speech Updates: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कूनो अभयारण्य में नामीबिया से आए चीतों को बाड़े में छोड़कर एक बार फिर देश में चीता युग की शुरुआत कर दी है। चीतों को छोड़ने के बाद प्रधानमंत्री ने कैमरे से उनकी तस्वीरें ली, इसके बाद उन्होंने चीता मित्रों के साथ संवाद किया। इस दौरान उनका एक वीडियो संदेश प्रसारित हुआ, जिसमें प्रधानमंत्री ने कहा कि चीते हमारे मेहमान हैं, उनको देखने के लिए कुछ समय का धैर्य और रखना होगा। इसके बाद उन्होंने कराहल में स्व-सहायता समूह के सम्मेलन को संबोधित किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि यहां चीते इसलिए छोड़े गए, क्योंकि मुझे आप पर भरोसा है और आप लोगों ने मेरे भरोसे को कभी नहीं तोड़ा है। चीतों को नामीबिया से विशेष विमान से ग्वालियर लाया गया था और वहां से चीनूक हेलिकाप्टर के द्वारा कूनो पहुंचाया गया। 75 साल पहले वर्ष 1947 में देश में आखिरी बार चीता देखा गया था। छत्तीसगढ़ में कोरिया के महाराजा ने तीन चीता शावकों का एक साथ शिकार किया था। वर्ष 1952 में भारत सरकार ने चीतों को विलुप्त घोषित कर दिया था। इसके बाद आज देश में फिर से चीतों की वापसी हुई है..
                 

Cheetah in India PM Modi Speech Updates: श्याेपुर में PM माेदी ने कहा-हमने अतीत में की गईं गलतियाें काे सुधारा