GoodReturns हिन्दुस्तान नईदुनिया नवभारत टाइम्स

PNB में 15 जनवरी से महंगी होने जा रही हैं ये सर्विस

PNB hike service charges: सार्वजनिक क्षेत्र के दूसरे सबसे बड़े बैंक पंजाब नेशनल बैंक (PNB) ने 15 जनवरी 2022 से कुछ सर्विस चार्ज बढ़ाने का फैसला किया है। इनमें लॉकर चार्ज और खाते में मिनिमम बैलेंस मेंटेन न करने पर लगने वाला चार्ज भी शामिल है। इतना ही नहीं बैंक, चालू खाते (Current Account) की क्वार्टरली मिनिमम बैलेंस रिक्वायरमेंट में भी 15 जनवरी से बदलाव करने जा रहा है।PNB (Punjab National Bank) की वेबसाइट पर मौजूद जानकारी के मुताबिक, मेट्रो क्षेत्र के कस्टमर्स के लिए करंट अकाउंट में क्वार्टरली एवरेज बैलेंस की लिमिट को बढ़ाकर 10 हजार रुपये किया गया है। पहले यह सीमा 5000 रुपये थी। खाते में मिनिमम बैलेंस बरकरार न रहने पर अब ग्रामीण और अर्धशहरी क्षेत्र के लोगों को 400 रुपये चार्ज प्रति तिमाही देना होगा। पहले यह चार्ज 200 रुपये प्रति तिमाही था। शहरी और मेट्रो क्षेत्र के कस्टमर को अपने खाते में पर्याप्त मिनिमम बैलेंस नहीं रखने पर 600 रुपये प्रति तिमाही का चार्ज देना होगा, जो पहले 300 रुपये प्रति तिमाही था।..
                 

Underground Cables Network: समुद्र में हजारों मीटर नीचे बिछा है केबल्स का जाल, इन्हीं से चलता है दुनिया भर का इंटरनेट

Underground Cables Network: आर्कटिक महासागर में पनडुब्बी और युद्धपोत के टक्कर के बाद ब्रिटेन ने अब रूस को युद्ध की धमकी दी है। ब्रिटेन के चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ एडमिरल सर टोनी रेडकिन ने चेतावनी दी है कि अगर रूस ने पानी के भीतर महत्वपूर्ण कम्युनिकेशन केबल्स (Underwater cables) को काटा तो इसे युद्ध की कार्रवाई माना जाएगा। ब्रिटिश सीडीएस सर टोनी रेडकिन ने चिंता जताते हुए कहा कि रूस ने पिछले 20 साल में पनडुब्बियों और पानी के नीचे की गतिविधियों में अभूतपूर्व इजाफा किया है। इससे पूरी दुनिया का रियल टाइम कम्युनिकेशन सिस्टम जोखिम में पड़ सकता है। दरअसल, समुद्र के अंदर पड़ी केबल्स के जरिए ही पूरी दुनिया में इंटरनेट चलता है और उन्हीं के जरिए कम्युनिकेशन होता है। आइए जानते हैं समुद्र के अंदर बिछे केबल्स के इस जाल के बारे में (Underground Cables amazing facts) और समझते हैं ये कैसे करता है काम (how underwater cables works)।..
                 

जियो की ग्राहकों को चेतावनी, KYC वाला लिंक लगा सकता है बड़ा चूना

                 

Cryptocurrency Mining: क्या होती है बिटकॉइन माइनिंग और कैसे करती है काम

Cryptocurrency Mining: इन दिनों क्रिप्टोकरंसी (cryptocurrencies) की लोकप्रियता तेजी से बढ़ती जा रही है। शुरुआत में तो सिर्फ बिटकॉइन (Bitcoin) का ही नाम सुनने को मिलता था, लेकिन अब उसकी तर्ज पर बहुत सारी क्रिप्टोकरंसी (Investment in Cryptocurrency) बन गई हैं। क्रिप्टोकरंसी के नाम पर तो बहुत सारे फ्रॉड भी होने लगे हैं। जहां एक ओर लोग क्रिप्टोकरंसी के दीवाने हुए जा रहे हैं, वहीं सरकार इसे लेकर सख्त रवैया अपनाए हुए है और भारत में इसे रेगुलेट करने के लिए कानून बनाने की कोशिशें कर रही है। जब भी क्रिप्टोकरंसी की बात आती है तो कई मुश्किल से टर्म सुनने को मिलते हैं, जैसे ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी (Blockchain Technology), क्रिप्टोकरंसी माइनिंग (Bitcoin Mining)। आइए आज जानते हैं इनके बारे में और आसान भाषा में समझते हैं इन्हें।..
                 

नाइकी, एडिडास जैसे ब्रांडेड शूज सस्ते में खरीदने का आखिरी मौका

ब्रांडेड प्रोडक्ट्स की कीमत और सर्विस की क्वालिटी (Service Quality) को सुनिश्चित करने के लिए जल्द ही कंपनियां बड़ा कदम उठाते हुए इन्हें सिर्फ अपने स्टोर से बेच सकती हैं। यानी अगर आप सिर्फ इन्हीं ब्रांड से शॉपिंग करते हैं तो आने वाले दिनों में आपको अपना पसंदीदा जूता या शर्ट लेने के लिए थोड़ी मेहनत करनी होगी और मुमकिन है कि कीमत भी अधिक चुकानी पड़े।..
                 

35 की उम्र में करोड़पति, अब कह रहा 'बोरिंग है अमीर होना'

हर आदमी अमीर बनने के सपने देखता है। लोग सोचते हैं कि अमीर बनने के बाद वह अपनी जिंदगी आराम से काटेंगे और जहां मर्जी होगी पैसा खर्च कर सकेंगे। लेकिन दुनिया में एक अमीर शख्स ऐसा भी है, जिसके लिए अमीर होना बोरिंग है। वह करोड़पति होने के बावजूद अपने नौकरी वाले दिन याद करता है। यह करोड़पति इन्सान ब्रिटेन का नागरिक है। उस शख्स को लगता है कि वह केवल पैसे से अपनी जिंदगी के उत्साह को रीक्रिएट नहीं कर सकता।..
                 

Tax Saving: क्या VPF से भी बचा सकते हैं टैक्स, जानें नियम

EPFO के दायरे में आने वाली संगठित क्षेत्र की हर कंपनी को अपने कर्मचारी को EPF (Employee Provident Fund) का लाभ देना जरूरी है। EPF में एंप्लॉयर व इंप्लॉई दोनों की ओर से योगदान रहता है, जो कर्मचारी की बेसिक सैलरी+DA का 12-12 फीसदी है। हालांकि नियोक्ता के 12 फीसदी योगदान में से 8.33 फीसदी इंप्लॉई पेंशन स्कीम EPS में जाता है, और बाकी का हिस्सा कर्मचारी के PF में। अगर कोई कर्मचारी अपनी ओर से भविष्य निधि में योगदान बढ़ाना चाहता है तो इसकी भी सुविधा मौजूद है। कर्मचारी ऐसा वॉलेंटरी प्रोविडेंट फंड (VPF) के जरिए कर सकता है।VPF (Voluntary Provident Fund) कर्मचारी की ओर से EPF में 12 फीसदी से ऊपर के पीएफ योगदान को कहा जाता है। VPF में कर्मचारी चाहे तो अपनी बेसिक सैलरी का 100 फीसदी तक कॉन्ट्रीब्यूट कर सकता है। लेकिन याद रहे कि एंप्लॉयर की ओर से योगदान नहीं बढ़ सकता, वह 12 फीसदी पर सीमित है। VPF की सुविधा केवल वेतनभोगी कर्मचारियों के लिए ही है।..
                 

अब बिना ई-नॉमिनेशन नहीं देख पाएंगे EPF पासबुक

अगर आपका इंप्लॉइज प्रोविडेंड फंड (EPF or Employees Provident Fund) खाता है तो आपके लिए एक जरूरी खबर है। अगर आपने अपने पीएफ अकाउंट में नॉमिनी नहीं बनाया है, ई-नॉमिनेशन नहीं कराया है तो आप अपनी EPF पासबुक एक्सेस नहीं कर सकेंगे। इसकी वजह है कि EPFO ने EPF पासबुक देखने के लिए ईनॉमिनेशन को अनिवार्य कर दिया है।EPFO द्वारा EPF पासबुक देखने के लिए ई-नॉमिनेशन अनिवार्य किए जाने के बाद, जिन पीएफ खाताधारकों ने अभी तक ई-नॉमिनेशन नहीं कराया है, वे मेंबर पासबुक पोर्टल पर लॉगइन करने के बाद भी अपनी पीएफ पासबुक नहीं देख पा रहे हैं। पहले खाताधारक बिना ई-नॉमिनेशन के भी अपना पासबुक देख सकते थे।किसी भी सेविंग्स स्कीम (Savings Scheme) खाते के मामले में नॉमिनेशन (Nomination) बेहद जरूरी है। नॉमिनेशन होने से खाताधारक की मृत्यु के बाद पैसा उस व्यक्ति तक पहुंच जाता है, जिसे खाताधारक अपने बाद पैसा पहुंचाना चाहता था। EPF और EPS (Employee Pension Scheme) के मामले में भी नॉमिनेशन करना चाहिए ताकि EPFO मेंबर के असमय निधन पर नॉमिनी को यह फंड समय से उपलब्ध हो सके।..
                 

चालबाज चीन के कर्ज के फंदे में श्रीलंका, दिवालिया होने की नौबत

कोरोना संकट के कारण श्रीलंका का टूरिज्म सेक्टर बुरी तरह प्रभावित हुआ। साथ ही सरकारी खर्च में बढ़ोतरी और टैक्स में कटौती ने हालात को और बदतर बना दिया। ऊपर से चीन के कर्ज को चुकाते-चुकाते श्रीलंका की कमर टूट गई। देश में विदेशी मुद्रा भंडार एक दशक के न्यूनतम स्तर पर पहुंच गया। सरकार को घरेलू लोन और विदेशी बॉन्ड्स का भुगतान करने के लिए पैसा छापना पड़ रहा है।..